सर्विस सेंटर के नाम पर हो रही वाहनों की अवैध बिक्री

शहर में नामचीन वाहन कंपनी के डीलरों ने सर्विस सेंटर के नाम पर ग्रामीण क्षेत्र तक अपना अवैध कारोबार खड़ा कर लिया है। सर्विस सेंटर के माध्यम से बिना वाहन कंपनी अनुमति और आरटीओ के ट्रेड सर्टिफिकेट बगैर वाहनों की बिक्री की जा रही है। इससे जहां लोग डीलरशिप के मुगालते में वाहन खरीद रहे हैं वहीं परिवहन विभाग के राजस्व को भी क्षति पहुंच रही है।
शहर में अमूमन सभी नामचीन कंपनी के दुपहिया और चौपहिया वाहनों की डीलरशिप है। ब्लॉक और नगर पंचायत स्तर पर वाहन कंपनी का नेटवर्क/डीलरशिप विस्तार को रोकने के लिए अधिकतर टू व्हीलर डीलरों ने एक नया फंडा निकाल लिया हैं। वाहन डीलर कंपनी का अधिकृत सर्विस सेंटर बनाकर वाहनों की बिक्री करा रहे हैं। मवाना, हस्तिनापुर, सरधना, कंकरखेड़ा, मोदीपुरम, किला परीक्षितगढ़ आदि क्षेत्रों में सर्विस सेंटरों पर हीरो, होंडा और बजाज आदि कंपनियों के वाहन अवैध रूप से बेचे जा रहे हैं। नियमानुसार कंपनी के अधिकृत डीलर ही आरटीओ से मिलने वाले ट्रेड सर्टिफिकेट लेने के बाद वाहनों की बिक्री कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here