मेरठ में अस्पतालों में हो रही मारपीट और तोडफ़ोड़ की घटना को लेकर पुलिस हरकत में आ गई है। एसएसपी ने स्पष्ट कर दिया कि किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेने दिया जाएगा।अस्पतालों में भीड़ जुटाने और तोडफ़ोड़ करने वाले लोगों पर मुकदमा दर्ज होगा। दो दिनों में मेडिकल समेत तीन अस्पतालों में तोडफ़ोड़ और मारपीट की घटनाएं हो चुकी है।गंगानगर के एप्ससनोवा और मेडिकल थाने के न्यूटिमा अस्पताल में आक्सीजन की कमी के चलते मरीजों की मौत पर भीड़ का आक्रोश बढ़ गया। मरीजों के तीमारदारों ने अस्पताल में तोडफ़ोड़ कर स्टाफ के साथ मारपीट तक कर डाली। दोनों अस्पताल प्रशासन ने मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। पुलिस दोनों ही मामलों में सीसीटीवी के आधार पर जांच कर रही है। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि अस्पताल रोजाना आक्सीजन की कमी दिखा रहे हैं, जिनकी वजह से अस्पतालों के सामने तीमारदारों की भीड़ जमा हो जाती है।

Leave a Reply