दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल कॉरिडोर के तहत शुक्रवार को मेरठ साउथ स्टेेशन के फाउंडेशन का कार्य शुरू हो गया। मेरठ जिले की सीमा में यह पहला और कॉरिडोर का सबसे ऊंचा स्टेशन होगा। इसके प्लेटफॉर्म की ऊंचाई लगभग 24 मीटर और पिलर की ऊंचाई जमीन से लगभग 20 मीटर की होगी।परतापुर इंटरचेंज के पास बनाए जाने वाले स्टेशन पर रैपिड और मेट्रो दोनों सेवाएं मिलेंगी। यहां तीन प्लेटफार्म बनेंगे। यहीं से मेरठ मेट्रो सेवा शुरू होगी। इसका अंतिम स्टेशन मोदीपुरम होगा। मेरठ साउथ से लेकर मोदीपुरम तक मेरठ मेट्रो के 12 स्टेशन तय किए गए हैं। मेरठ के बाहरी इलाके में इस स्टेशन से हरिद्वार और मुजफ्फरनगर के यात्रियों को इंटरचेंज की सुविधा मिलेगी, वहीं आसपास के भूड़बराल, दौलतपुर और मोहिउद्दीनपुर आदि क्षेत्रों को भी लाभ मिलेगा।

Leave a Reply