पड़ोसी राज्य उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर फटने जैसी प्राकृतिक आपदा से आम लोगों की जान बचाने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआइ) सेंसर की मदद ली जाएगी। जिन स्थानों पर आपदा की ज्यादा आशंका रहती है, वहां पर एआइ सेंसर लगाकर लोगों की जान बचाई जाएगी। फिलहाल अमेरिका, जापान समेत कुछ विकसित देशों के पास ही यह तकनीक है। एआइ से मौसम के बदलाव और प्राकृतिक आपदा की सटीक जानकारी मिलेगी। गाजियाबाद स्थित एडवांस लेवल टेलीकाम ट्रेनिंग सेंटर (एएलटीटीसी) से भारत सहित कई देशों के इंजीनियरों को 15 मार्च से ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा। एएलटीटीसी के सहायक निदेशक कृष्णा यादव इंजीनियरों को प्रशिक्षण देंगे, लेकिन सेंसर कब लगाए जाएंगे, यह अभी तय नहीं है।

Leave a Reply