सयुंक्त बाजार संगठन मेरठ ने रक्षा मन्त्री व वित्त मंत्री को टृवीट कर, मेरठ छावनी बोर्ड द्वारा थोपे गये ट्रेड टैक्स को व्यापारियों के ऊपर लगाये कर को जजिया कर बताया।संगठन के संयोजक मुकुल सिंघल ने केन्द्र सरकार को याद दिलाया कि, जीएसटी लागू करते हुए यह आश्वासन दिया था कि यह व्यापारी वर्ग को सिंगिल टैक्स प्रणाली से जोड़ेगा। यह सरकार की नीतियों के विरूद हैं व व्यापारी वर्ग का शोषण व धोखाधड़ी हैं। मुकुल ने कहा कि यह औरंगजेब के राज की तरह हैं कि अगर आपको व्यापार करना हैं तो ट्रेड टैक्स के नाम से जजिया कर देना ही होगा तथा सम्पूर्ण व्यापारी समाज व संगठन इसका विरोध करता हैं। सगंठन महामन्त्री पुनीत शर्मा ने कहा कि सैन्य अधिकारी का काम देश की सुरक्षा करना हैं ना कि जनता पर अनाप-शनाप कर थोपना हैं। उन्होने इस बात की मांग की कि देश की सभी छावनियों पर लागू यह कर, वापिस होना चाहिए। उन्होने इसके खिलाफ एकजुट होने की बात कही।

Leave a Reply