Friday, January 27, 2023
No menu items!

चार धाम यात्रा 2022: श्रद्धालु घंटों लाइन में लगे, हाथापाई भी हुई, फिर पता चला रजिस्ट्रेशन तो फुल हो चुके हैं, श्रद्धालुओं की लगी लम्बी कतार

Must Read

देशभर में हर्षोल्लास ने मनाया गया गणतंत्र दिवस, कर्तव्यपथ पर मुर्मू ने ली परेड की सलामी

नयी दिल्ली- राजधानी दिल्ली सहित देश के सभी हिस्सों में गुरुवार को 74वां दिवस हर्षोल्लास और उमंग के साथ...

केसीआर से मिले छत्रपति शिवाजी के वंशज संभाजीराजे, विकास योजनाओं में दिखाई दिलचस्पी

हैदराबादमराठा शासक छत्रपति शिवाजी के 13वें वंशज और पूर्व सांसद छत्रपति संभाजीराजे ने गुरुवार को यहां मुख्यमंत्री केके चंद्रशेखर...

मोदी 28 जनवरी को वार्षिक ‘एनसीसी पीएम’ रैली को संबोधित करेंगे, गणतंत्र को बधाई देने के लिए सभी का धन्यवाद

नई दिल्लीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 जनवरी को दिल्ली के करियप्पा परेड ग्राउंड में वार्षिक 'एनसीसी पीएम' रैली को संबोधित...
चार धाम यात्रा 2022: श्रद्धालु घंटों लाइन में लगे, हाथापाई भी हुई, फिर पता चला रजिस्ट्रेशन तो फुल हो चुके हैं, श्रद्धालुओं की लगी लम्बी कतार

चार धाम यात्रा 2022: राज्य सरकार लगातार चार धाम यात्रा को लेकर पुख्ता तैयारियों का ढोल पीट रही है, लेकिन यात्रा के शुरुआती दिनों में सरकारी तंत्र की पोल खुल गई है। तैयारियां अधूरी रहने से जहां श्रद्धालुओं को अफरा-तफरी का सामना करना पड़ रहा है, वहीं बार-बार पुलिस के रोकने से उन्हें परेशानी हो रही है। हरिद्वार में रविवार को जिला पर्यटन कार्यालय स्थित चारधाम यात्रा के पंजीयन काउंटर पर श्रद्धालुओं की लंबी कतार लगी रही।Read Also:-उत्तर प्रदेश में कक्षा एक से पांच तक 636 और कक्षा छह से आठ के बच्चों को मिलेंगे 901 रुपये, अभिभावकों के (Parents) खाते में जाएंगे रुपये

भीड़ के कारण काउंटर पर कई बार हाथापाई भी हुई। लेकिन जून के पहले सप्ताह तक जैसे ही श्रद्धालुओं को रजिस्ट्रेशन स्लॉट बुक होने की जानकारी मिली तो वे मायूस हो गए। श्रद्धालुओं का कहना है कि सरकार को पर्याप्त इंतजाम करने चाहिए थे। जब दूर-दूर से श्रद्धालु यहां पहुंचे हैं, तो पता चलता है कि पंजीकरण पूरा हो चुका है।

Char Dham Yatra 2022: घंटों लाइन में लगे, धक्का-मुक्की फिर पता चला रजिस्ट्रेशन फुल हैं

ट्रेवल व्यवसायी भी परेशान
ट्रैवल कारोबारीयों का कहना है कि जिन भक्तों ने चारधाम यात्रा के लिए वाहन बुक किए थे, वे अब उनका पंजीकरण नहीं करा पा रहे हैं।

कुछ श्रद्धालुओं ने बताया कि हम लोग चारधाम यात्रा के लिए मध्य प्रदेश से उत्तराखंड पहुंचे हैं। हरिद्वार आने के बाद पता चला कि तीन धाम के पंजीकरण स्लॉट जून के पहले सप्ताह तक बुक हैं। केदारनाथ यात्रा के लिए हमने 18 तारीख के लिए फाटा से हेली सेवा के लिए टिकट बुक किया है।

अब समझ में नहीं आगे क्या होगा। एक और भक्त ने बताया कि वह आंध्र प्रदेश से चारधाम के दर्शन करने आए हैं। अब यहां आकर पता चला कि जून के पहले सप्ताह तक तीन धाम के रजिस्ट्रेशन स्लॉट बुक हैं। इतने दिन इंतजार करना पड़ा तो हमारा बजट खराब हो जाएगा।

कुछ भक्त बोले हम मुंबई से आए हैं। हमारी वापसी की ट्रेन का टिकट 22 मई को बुक किया गया था। लेकिन अब रिजर्वेशन कैंसिल कर दिया गया है। हम रात के 3 बजे से लाइन में थे, सुबह 9 बजे के बाद बद्रीनाथ का रजिस्ट्रेशन हो सका।

बिना रजिस्ट्रेशन धाम पहुंच रहे श्रद्धालु
सरकार ने चार धामों में रोजाना आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या तय की है। इसके बाद भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु बिना रजिस्ट्रेशन के धामों में पहुंच रहे हैं। सबसे ज्यादा दिक्कत केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में हो रही है। अब जब परेशानी बढ़ने लगी है तो बिना रजिस्ट्रेशन वाले श्रद्धालुओं को वापस किया जा रहा है। इसको लेकर हंगामा हो रहा है। अब धामों में श्रद्धालुओं के वीआईपी दर्शन की व्यवस्था जरूर खत्म हो गई है। अब सभी को समान रूप से देखना होगा।

जानकीचट्टी से लौटाए गए श्रद्धालु :
शनिवार को गंगोत्री धाम में 9369 और यमुनोत्री में 8272 यात्री पहुंचे। यमुनोत्री धाम में 25 यात्री अनफिट पाए गए। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उन्हें जानकीचट्टी से ही लौटा दिया। 200 से अधिक यात्रियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। अब तक 1.74 लाख से अधिक यात्री गंगोत्री, यमुनोत्री धाम पहुंच चुके हैं।

ऋषिकेश में परेशान यात्रियों ने किया हंगामा
एक सप्ताह से बसों की कमी और अव्यवस्थाओं से परेशान चारधाम यात्रियों के सब्र का आखिरकार जवाब दे ही गया। रविवार को चारधाम यात्रा पर जाने से रोके जाने पर श्रद्धालुओं ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने यात्रा की पर्याप्त व्यवस्था नहीं की तो चारधाम यात्रा शुरू नहीं करनी चाहिए थी।

रविवार को चारधाम यात्रा बस टर्मिनल परिसर ऋषिकेश में महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, राजस्थान आदि राज्यों के तीर्थयात्रियों की भीड़ लगी रही। इस दौरान यात्रियों को पता चला कि चार धामों के लिए पंजीकरण प्रक्रिया बंद है। यात्रा में लापरवाही से यात्री परेशान हो गए।

तीर्थयात्री फोटो पंजीकरण केंद्र के सामने जमा हो गए और उत्तराखंड सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। आंध्र प्रदेश की महिला तीर्थयात्रियों ने बताया कि वे हजारों रुपये खर्च कर यहां पहुंचीं। लेकिन यहां उत्तराखंड सरकार के इंतजाम पुख्ता नहीं हैं। इस दौरान आक्रोशित श्रद्धालुओं ने सांकेतिक जाम भी लगाया।

चारधाम यात्रा की तैयारी अधूरी, यात्रियों को हो रही असुविधा
यात्रा के पहले दिन से ही रजिस्ट्रेशन को लेकर असमंजस की स्थिति है। केदारनाथ धाम में तीर्थयात्रियों के ठहरने की पर्याप्त व्यवस्था नहीं की गई है। धाम में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने के बाद अगर उन्हें अन्य जगहों पर रुकना पड़ा तो उनके ठहरने की क्या व्यवस्था होगी। अधिकारियों ने इस ओर कभी ध्यान नहीं दिया।

अब जब ये सारी समस्याएं एक साथ सामने आ गई हैं तो सरकारी तंत्र के हाथ पांव फुल गए हैं. केदारनाथ धाम में सिर्फ पांच हजार लोगों के रात भर ठहरने का प्रावधान है। इसके बाद भी व्यवस्था नहीं बढ़ाई गई। यहां धाम में आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या 13 हजार तय की गई है, जबकि 18 हजार के करीब श्रद्धालुओं का आ रहा है।

धाम और यात्रा मार्गों पर भीड़ प्रबंधन कैसे होगा, इसकी कोई तैयारी नहीं की गई थी। सरकार ने तीर्थयात्रियों का पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है, लेकिन इसे लागू नहीं किया गया है। बिना रजिस्ट्रेशन के भी बड़ी संख्या में लोग आते रहे। अब जब बिना रजिस्ट्रेशन वालों को रोका जा रहा है तो ऐसे लोगों को कहां रोका जाएगा, इसकी कोई व्यवस्था नहीं है।

अब सरकार ने पोर्टल में ही पंजीकरण के लिए संख्या सीमित कर दी है, तो उन तीर्थयात्रियों की परेशानी बढ़ गई जिन्होंने पहले चारधाम पड़ाव पर होटल या हेली सेवा बुक की थी। विभिन्न प्रांतों से आने वाले इन तीर्थयात्रियों को ऋषिकेश में ही रोका जा रहा है।

कंट्रोल रूम में पहुंचे सचिव पर्यटन
ऋषिकेश समेत कई जगहों पर श्रद्धालुओं के रुकने से हंगामे की सूचना पर सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर रविवार को आईटी पार्क स्थित कंट्रोल रूम पहुंचे।

खुले में सोने को मजबूर
केदारनाथ धाम में श्रद्धालु खुले में सोने को मजबूर हैं। पांच हजार बिस्तरों की क्षमता वाले केदारनाथ धाम में करीब 18 हजार श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। यहां न तो प्रशासन और न ही पर्यटन विभाग ने बेड की संख्या बढ़ाने की कोशिश की। जीएमवीएन पर पूरा दबाव डाला गया। जीएमवीएन ने भी अपनी बिस्तर क्षमता बढ़ाकर तीन हजार कर दी है। बावजूद इसके ये सभी इंतजाम नाकाफी साबित हो रहे हैं।

whatsapp gif

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

- Advertisement -चार धाम यात्रा 2022: श्रद्धालु घंटों लाइन में लगे, हाथापाई भी हुई, फिर पता चला रजिस्ट्रेशन तो फुल हो चुके हैं, श्रद्धालुओं की लगी लम्बी कतार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -चार धाम यात्रा 2022: श्रद्धालु घंटों लाइन में लगे, हाथापाई भी हुई, फिर पता चला रजिस्ट्रेशन तो फुल हो चुके हैं, श्रद्धालुओं की लगी लम्बी कतार
Latest News

देशभर में हर्षोल्लास ने मनाया गया गणतंत्र दिवस, कर्तव्यपथ पर मुर्मू ने ली परेड की सलामी

नयी दिल्ली- राजधानी दिल्ली सहित देश के सभी हिस्सों में गुरुवार को 74वां दिवस हर्षोल्लास और उमंग के साथ...

केसीआर से मिले छत्रपति शिवाजी के वंशज संभाजीराजे, विकास योजनाओं में दिखाई दिलचस्पी

हैदराबादमराठा शासक छत्रपति शिवाजी के 13वें वंशज और पूर्व सांसद छत्रपति संभाजीराजे ने गुरुवार को यहां मुख्यमंत्री केके चंद्रशेखर राव से मुलाकात की. ...

मोदी 28 जनवरी को वार्षिक ‘एनसीसी पीएम’ रैली को संबोधित करेंगे, गणतंत्र को बधाई देने के लिए सभी का धन्यवाद

नई दिल्लीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 जनवरी को दिल्ली के करियप्पा परेड ग्राउंड में वार्षिक 'एनसीसी पीएम' रैली को संबोधित करेंगे. इस वर्ष, राष्ट्रीय कैडेट कोर...

ऑस्ट्रेलियन ओपन: रायबाकिना और सबालेंका खिताब के लिए भिड़ेंगी

मेलबोर्न, साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताबी मुकाबला एलेना रयबाकिना और आर्यना सबालेंका के बीच खेला जाएगा। डिफेंडिंग विंबलडन चैम्पियन...

किंग की धमाकेदार वापसी : शाहरुख की ‘पठान’ ने की भारत में 57 करोड़ की रिकॉर्ड ओपनिंग

मुंबई| भगवा रंग की बिकनी को लेकर विवादों में फंसी बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान की हालिया रिलीज फिल्म ‘पठान’ ने हिंदी फिल्मों के बॉक्स...
- Advertisement -चार धाम यात्रा 2022: श्रद्धालु घंटों लाइन में लगे, हाथापाई भी हुई, फिर पता चला रजिस्ट्रेशन तो फुल हो चुके हैं, श्रद्धालुओं की लगी लम्बी कतार

More Articles Like This

- Advertisement -चार धाम यात्रा 2022: श्रद्धालु घंटों लाइन में लगे, हाथापाई भी हुई, फिर पता चला रजिस्ट्रेशन तो फुल हो चुके हैं, श्रद्धालुओं की लगी लम्बी कतार