दूरसंचार सेवा प्रदाताओं के लाभ के लिए सरकार की कैबिनेट समिति अब विश्वसनीय उत्पादों की सूची घोषित कर रही है। 5 जी स्पैक्ट्रम नीलामी मार्च में संभावित है। सरकार द्वारा यह निर्णय खासतौर पर चीनी विक्रेताओं पर प्रतिबंध का कारण बनेगा।दूरसंचार मंत्री रवि शंकर प्रसाद इस संबंध में पहले ही बयान जारी कर चुके हैं। बीएसएनएल अधिकारियों के अनुसार चीनी उत्पादों पर अंकुश लगाने का कार्य बीएसएनएल शुरू कर चुका है। अब विश्वसनीय केंद्रों से ही उत्पाद की खरीददारी की जाएगी।लद्दाख में गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद से चीन से व्यापारिक दूरियां काफी बढ़ गई हैं। तथ्य फोरेंसिक विंग फेडरेशन के डायरेक्टर संजय मिश्रा ने बताया कि यूके ने 5 जी नेटवर्क में डिवाइस खरीद के लिए चीन की कंपनी को प्रतिबंधित कर दिया है। अब भारत भी डेटा लीक होने के खतरे चलते चीन की कंपनियों से दूरी बना रहा है। खासतौर पर आईटी सेक्टर में टेलीफोन एक्सचेंज संबंधित उपकरणों पर प्रतिबंध लगाया जाएगा। इसमें राउटर, स्विच केस, रिपीटर्स सहित अन्य सॉफ्टवेयर आदि की खरीद पूरी तरह प्रतिबंधित हो जाएगी। अविश्वसनीय कंपनियों की सूची तैयार की जा रही है जो डिवाइस देती हैं।

Leave a Reply