Connect with us

Hi, what are you looking for?

Corona

कोरोना में आत्महत्या करने वालों के परिवारों को नहीं मिलेगा कोरोना मृत्यु प्रमाण पत्र, जानिए क्या है सरकार की नई गाइडलाइन

सरकार ने आखिरकार कोरोना से मौत की परिभाषा तय कर दी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) की मदद से कोरोना के कारण जान गंवाने वालों के परिवारों को मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने के लिए गाइडलाइन तैयार की है.Read Also:-ससुराल से प्रताड़ित युवती करने जा रही थी आत्महत्या, पुलिस और मेरठ व्यापार मंडल की तत्परता से बची जान

news shorts

कोरोना से मौत के दो मामलों में सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल जवाब में गाइडलाइंस का खुलासा किया है.

गाइडलाइन के मुताबिक अगर किसी कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत जहर, आत्महत्या या किसी दुर्घटना में होती है तो उसे कोरोना से मौत नहीं माना जाएगा. गाइडलाइन में ऐसे और भी कई प्रावधान हैं।

तो आइए जानते हैं ‘कोरोना से मौत’ की परिभाषा क्या होगी? किसको कोरोना या कोविड से हुई मौत माना जाएगा? यदि प्रमाण पत्र में कोई विसंगति है तो परिजन कहां शिकायत कर सकते हैं।

क्या होगी कोरोना या कोविड-19 मामलों की परिभाषा?

  • उन मामलों को कोरोना केस माना जाएगा जिन्हें अस्पताल में भर्ती होने के दौरान या डॉक्टर द्वारा आरटी-पीसीआर टेस्ट, मॉलिक्यूलर टेस्ट, रैपिड एंटीजन टेस्ट या क्लिनिकल टेस्ट के जरिए कोरोना पॉजिटिव घोषित किया जाता है।

कोरोना या कोविड-19 से मृत्यु किसे माना जाएगा?

  • “COVID 19 के कारण मृत्यु” पर उन मामलों में विचार किया जाएगा जिनमें कोरोना ठीक नहीं हुआ है और जिसके कारण रोगी की घर या अस्पताल में मृत्यु हो जाती है।
  • इसके साथ ही जन्म और मृत्यु पंजीकरण (आरबीडी) अधिनियम, 1969 के तहत प्राधिकरण (जैसे नगर निगम आदि) को जन्म और मृत्यु दर्ज करने के लिए मृत्यु का कारण का चिकित्सा प्रमाण पत्र (एमसीसीडी) जारी किया गया है।
  • इस संबंध में भारत के महापंजीयक सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य रजिस्ट्रारों के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी करेंगे।
  • ऐसे मामलों को भी कोरोना से हुई मौत माना जाएगा, जिनमें कोरोना पॉजिटिव आने के 30 दिन के अंदर अस्पताल के बाहर मौत हो गई.
  • 30 दिनों का यह समय आईसीएमआर की स्टडी के आधार पर तय किया गया है, जिसके मुताबिक कोरोना से 95 फीसदी मौतें कोरोना पॉजिटिव आने के 25 दिन के अंदर होती हैं.
  • जहर, आत्महत्या, हत्या या दुर्घटना आदि से हुई मौत, कोरोना पॉजिटिव होते हुए भी “कोरोना से मौत” नहीं मानी जाएगी।

कोरोना की वजह से हुई मौत को भी कोरोना से हुई मौत माना जाएगा

  • सुप्रीम कोर्ट की खंडपीठ ने स्पष्ट किया है कि कोरोना से होने वाली मौतों के मामले में जारी किए गए मृत्यु प्रमाण पत्र में मौत का कारण स्पष्ट रूप से कोरोना दर्ज किया जाना चाहिए।
  • इतना ही नहीं अगर मरीज की मौत कोरोना से किसी अन्य जटिलता या बीमारी के कारण हुई है तो मृत्यु प्रमाण पत्र में मौत का कारण विशेष रूप से कोरोना यानी कोविड-19 का उल्लेख होना चाहिए।

मृत्यु प्रमाण पत्र पर शिकायत के निवारण के लिए बनेगी कमेटी

  • गाइडलाइंस के मुताबिक अगर मृतक के परिजन मृत्यु प्रमाण पत्र पर लिखे मौत के कारण से संतुष्ट नहीं हैं तो ऐसे मामलों के लिए जिला स्तर पर कमेटी गठित की जाएगी.
  • इस समिति में अतिरिक्त जिला कलेक्टर, सीएमओ, मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य या चिकित्सा विभाग के प्रमुख और विषय विशेषज्ञ शामिल होंगे जो ‘कोविड-19 मौत का आधिकारिक दस्तावेज’ जारी करेंगे।
  • सभी शिकायतों का निस्तारण 30 दिनों के भीतर करना होगा।
  • सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में कोविड 19 को सर्टिफिकेट जारी करने, उनमें सुधार करने और मौत का स्पष्ट कारण बताने की प्रक्रिया को भी बेहद आसान बनाने का निर्देश दिया है.
ortho

कोरोना में आत्महत्या को भी समझे सरकार “कोरोना से मौत”

  • सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार की ओर से जारी दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए कोरोना के दौरान खुदकुशी के मामलों को कोरोना से मौत नहीं मानने के दिशा-निर्देशों पर पुनर्विचार करने को कहा है.
  • सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों में इस नीति को लागू करने के तरीके और शिकायत समितियों या शिकायत समितियों के गठन की समय सीमा पर भी केंद्र से सवाल किया है। इन सभी मामलों पर 23 सितंबर को होने वाली सुनवाई में केंद्र सरकार जवाब दे सकती है.

दिशानिर्देश बनाने में देरी को लेकर केंद्र सरकार से सुप्रीम कोर्ट नाराज

  • सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना से हुई मौतों के लिए डेथ सर्टिफिकेट जारी करने के दिशा-निर्देशों में हो रही देरी पर नाराजगी जताई थी. जस्टिस शाह ने कहा था कि जब तक आप गाइडलाइंस जारी करेंगे, तब तक थर्ड वेव भी तय हो जाएगा.

सुप्रीम कोर्ट ने किस मामले में दिशानिर्देश जारी करने का आदेश दिया था?

  • जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एमआर शाह की बेंच ने गौरव कुमार बंसल बनाम भारत संघ और रिपक कंसल बनाम भारत संघ के मामलों में कोरोना से मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने के लिए दिशा-निर्देश जारी करने का आदेश दिया है।

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

Leave a Reply

Advertisement

You May Also Like

Crime

मेरठ में महिला ने इंस्पेक्टर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है. पीड़िता ने गुरुवार को एसएसपी कार्यालय में शिकायत की। जिसमें बताया गया कि...

Featured

मुरादाबाद में गुरुवार को दोस्तों के मजाक ने एक युवक की जान ले ली. घटना एक एक्सपोर्ट फैक्ट्री में हुई। जहां दोस्तों ने फैक्ट्री...

Crime

मानव तस्करी रोधी इकाई (एएचटीयू) ने ऑनलाइन बुकिंग कर देह व्यापार में शामिल गिरोह का भंडाफोड़ कर सेक्टर-53 से एक आरोपी को गिरफ्तार किया...

Utility

एलपीजी नवीनतम कीमत: दशहरा, दिवाली, छठ पूजा जैसे त्योहारों के मौसम में घरेलू एलपीजी सिलेंडर केवल 633.50 रुपये में आपके घर पहुंचाया जाएगा। फिलहाल...

Electricity

कोयला संकट के कारण बिजली उत्पादन में भारी गिरावट के बावजूद इस त्योहारी सीजन में यूपी पावर कॉरपोरेशन प्रचुर मात्रा में बिजली उपलब्ध कराना...

Crime

शुक्रवार दोपहर मेरठ में छत पर काम करने गई महिला आलिया (21 साल) को संदिग्ध हालत में गोली मार दी गई। महिला के पति...

Featured

आगरा शहर और देहात में 16 दिसंबर तक धारा 144 लागू कर दी गई है. उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।...

Crime

मेरठ में फर्जी मैरिज ब्यूरो के नाम पर युवक से ठगी का मामला सामने आया है. यहां शादी के नाम पर हरियाणा, राजस्थान और...

Featured

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद वरुण गांधी ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी का एक वीडियो शेयर कर बीजेपी नेतृत्व...

Featured

पश्चिम यूपी में दशहरा पर्व को लेकर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। मेरठ अंचल के मेरठ और सहारनपुर संभाग के सभी जिलों...

Crime

यूनाइटेड किसान मोर्चा (एसकेएम) ने सिंघू सीमा पर किसानों के धरना स्थल के पास युवक लखबीर सिंह की निर्मम हत्या और शव को बैरिकेड्स...

Featured

फेसबुक अब यौन सामग्री पोस्ट करने वाले खातों पर प्रतिबंध लगाएगा। कंपनी ने अपनी पॉलिसी में बदलाव किया है। इसके तहत अगर कोई यूजर...

Featured

गाजियाबाद जिले में चल रही 350 अनफिट बस से लोगो की जान को खतरे का सबब बन रहा है। बस हादसों के मामले लगातार...

Crime

मेरठ में शुक्रवार को एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. शुक्रवार को युवक घर से निकला था। उसके बाद गांव के बाहर...

Featured

यूपी के झांसी में दशहरे के दिन बड़ा हादसा हो गया. चिरगांव थाना क्षेत्र के चिरौना रोड पर खंटी में श्रद्धालुओं से भरी ट्रैक्टर-ट्राली...

Featured

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र योजना बोर्ड (NCRPB) ने क्षेत्रीय योजना-2041 के मसौदे को मंजूरी दे दी है। इसके अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) का भौगोलिक...

Featured

व्हाट्सएप ने चैट बैकअप के लिए एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन भी जारी किया है। अभी तक यह एन्क्रिप्शन सिर्फ वॉट्सऐप चैट्स में ही दिया जाता था।...

Crime

एम्स की महिला डॉक्टर ने सीनियर डॉक्टर पर बर्थडे पार्टी के दौरान रेप करने का आरोप लगाया है. महिला डॉक्टर की शिकायत पर पुलिस...

Advertisement

Website Designed & Maintained by TECHDOST