किसान आंदोलन : आज से संसद भवन के नजदीक होगा किसानों का प्रदर्शन, सुरक्षा कड़ी की गई

0
188
farmers protest at delhi
नए कृषि कानूनों के विरोध में आज से किसान जंतर-मंतर पर अपना विरोध प्रदर्शन शुरू करेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा ने इसे ‘किसान संसद’ का नाम दिया है। 

नए कृषि कानूनों के विरोध में आज से किसान जंतर-मंतर पर अपना विरोध प्रदर्शन शुरू करेंगे। दिल्ली पुलिस ने किसान संगठनों को जंतर-मंतर पर प्रदर्शन की इजाजत दे दी है। संयुक्त किसान मोर्चा ने इसे ‘किसान संसद’ का नाम दिया है। किसानों का प्रदर्शन आज से शुरू होकर मॉनसून सत्र खत्म होने तक यानी 9 अगस्त तक चलेगा। जंतर-मंतर पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। उधर सिंघू बॉर्डर पर भी पुलिसकर्मी नजर बनाए हुए हैं।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि 200 किसानों का एक समूह पुलिस की सुरक्षा के साथ बसों में सिंघू बॉर्डर से जंतर-मंतर आएगा। किसान सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक विरोध प्रदर्शन करेंगे। कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान यूनियनों का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) को इस बारे में एक शपथपत्र देने के लिए कहा गया है कि सभी कोविड नियमों का पालन किया जाएगा और आंदोलन शांतिपूर्ण होगा।

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा जारी एक आदेश के अनुसार, उपराज्यपाल अनिल बैजल, जो DDMA के अध्यक्ष भी हैं, ने गुरुवार से 9 अगस्त तक हर दिन अधिकतम 200 किसानों द्वारा पूर्वाह्न 11 बजे से शाम 5 बजे तक जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन की मंजूरी दी है।

farmers protest

कोरोना नियम मानने होंगे
किसानों को प्रदर्शन के लिए दिल्ली पुलिस ने कोई लिखित इजाजत नहीं दी है। हालांकि दिल्ली सरकार से उन्हें धरना-प्रदर्शन की औपचारिक इजाजत मिली है। इस आदेश के मुताबिक आज से लेकर 9 अगस्त तक सुबह 11 बजे से शाम 5 बजे तक 200 प्रदर्शनकारी धरना दे सकते हैं। धरने में शामिल सभी किसानों को कोरोना नियमों का पालन करना होगा।

दिल्ली में इस समय आपदा प्रबंधन कानून लागू है, जिसके चलते कहीं भी कोई जमावड़ा नहीं हो सकता। लेकिन किसानों के आंदोलन के लिए दिल्ली सरकार ने दिशानिर्देशों में संशोधन किया और इजाजत दी। इसी साल 26 जनवरी को पूरे देश ने दिल्ली में हुए तांडव को देखा था। हजारों प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड तोड़ दिये थे, पुलिस से भिड़ गए थे और लाल किले की प्राचीर पर एक धार्मिक ध्वज फहराया था। अब आज एक बार फिर किसानों और दिल्ली पुलिस की अग्निपरीक्षा है।

Leave a Reply