नदियों को प्रदूषित करने के मामले में एनजीटी ने सख्त कार्रवाई की है। मुजफ्फरनगर, शामली, मेरठ समेत छह जिलों पर आठ करोड़ सात लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। जबकि, सहारनपुर नगर निगम को जुर्माने से मुक्त कर दिया गया है। एनजीटी की ओवर साइट कमेटी ने सुनवाई के बाद यह कार्रवाई की है। बीते बुधवार को एनजीटी की ओवर साइट कमेटी ने दोआबा पर्यावरण समिति बनाम उ.प्र. राज्य मामले की वीडियो कांफ्रेंस के जरिये सुनवाई की। चेयरमैन जस्टिस एसवीएस राठौर और सदस्य डा. अनूप चंद्र पाण्डेय (पूर्व मुख्य सचिव उ.प्र.) ने सुनवाई के दौरान सात जिलों में हिंडन, काली और कृष्णी नदी को प्रदूषित करने वाले नदियों-नालों की बिंदुवार समीक्षा की। समीक्षा के बाद शामली, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, मेरठ और बागपत आठ करोड़ 7 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। जबकि, सहारनपुर को जुर्माने से मुक्त कर दिया गया है। 27 नदी नालों को हिंडन, कृष्णी व काली नदी के प्रदूषण का कारण मानते हुए यह जुर्माना लगाया है।

Leave a Reply