अगले छह महीने में लिथियम आयन बैट्री निर्माण पूरी तरह से देश में ही होने लगेगा। इसके दम पर आने वाले दिनों में भारत इलेक्टि्रक वाहनों के निर्माण में दुनियाभर में अव्वल होगा। ई-कॉमर्स फर्म अमेजन के संभव सम्मेलन को वर्चुअल प्लेटफार्म के जरिये संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने रविवार को यह बात कही। इलेक्टि्रक वाहन के निर्माण में आगे बढ़ रहा है भारत

सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय गडकरी ने कहा कि इलेक्टि्रक वाहन के निर्माण में भारत आगे बढ़ रहा है। कुछ समय में हम नंबर एक निर्माता होंगे। सभी प्रतिष्ठित ब्रांड आज भारत में मौजूद हैं। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) मंत्रालय की जिम्मेदारी भी निभा रहे गडकरी ने स्वदेशी बैट्री टेक्नोलॉजी इलेक्टि्रक वाहनों को परिवहन का सर्वाधिक प्रभावी माध्यम बनाएगी। उन्होंने कहा कि हरित ऊर्जा के क्षेत्र में भारत ने तेजी से क्षमता बढ़ाई है। मुझे विश्वास है कि छह महीने के भीतर हम 100 फीसद लिथियम आयन बैट्री भारत में बनाने में सक्षम होंगे। लिथियम की कोई कमी नहीं है।

Leave a Reply