कोरोना संक्रमण को देखते हुए प्रदेश सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। शासन ने मेडिकल कालेजों को पत्र भेजकर ओपीडी सेवाओं को तत्काल प्रभाव से बंद करने के लिए कहा है। मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. ज्ञानेंद्र सिंह ने सभी विभागाध्यक्षों को बुधवार से ओपीडी बंद करने के लिए कह दिया है। मेडिकल की ओपीडी में मेरठ सहित आसपास के जिलों से रोजाना दो हजार से ज्यादा मरीज इलाज के लिए पहुंचते हैं।प्राचार्य डा. ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि अप्रैल 2021 में कोरोना मरीजों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई। ओपीडी में पहुंचने वाली मरीजों की भीड़ और दवा लेने के लिए लगने वाली कतारों से कोरोना तेजी से फैल रहा है। पहले ओपीडी का पर्ची 11 बजे तक बनाने का आदेश जारी किया गया लेकिन अब ओपीडी को पूरी तरह बंद किया जा रहा है। उधर, पीएल शर्मा जिला अस्पताल के एसआइसी डा. हीरा सिंह ने बताया कि कैंपस में शारीरिक दूरी बनाकर रखने के लिए आगाह किया जाता है। हालांकि ओपीडी बंद करने को शासन से कोई निर्देश नहीं है। उनका कहना है कि शासन से जैसा भी आदेश मिलेगा, उसी के अनुरूप कार्ययोजना बनाकर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Leave a Reply