मेरठ में होते-होते बचा मुरादनगर जैसा हादसा, सामुदायिक शौचालय का गिरा छज्‍जा

0
11

घटिया निर्माण सामग्री के कारण रविवार को मुरादनगर में अंत्येष्टि स्थल पर छत गिरने से कई की जान चली गई। सोमवार को सरधना में भी उस वक्त मुरादनगर जैसा हादसा होते-होते बचा जब इस्लामाबाद में तीन माह पूर्व ही बने सामुदायिक शौचालय का छज्जा भरभराकर गिर गया। गनीमत रही कि उस समय वहां कोई नहीं था वरना बड़ा हादसा हो सकता था। अपनी कमी व घटिया निर्माण सामग्री पर पर्दा डालने के लिए खंड विकास अधिकारी ने इसे असामाजिक तत्वों की हरकत बताते हुए तहरीर तक दे दी। इतना ही नहीं एसडीएम ने जांच भी बीडीओ को ही सौंप दी। आला अफसरों से भी मामला छिपाया गया। देर रात डीएम ने सीडीओ को जांच कराने के निर्देश दिए। उधर, खड़ौली में श्मशान घाट में छत का प्लास्टर गिर पड़ा और छत नीचे झुक गई। यहां भी लोग बाल-बाल बचो। सरधना खंड विकास अधिकारी सुनीत कुमार भाटी ने थाने में दी तहरीर में बताया कि तीन माह पूर्व तीन लाख रुपये की लागत से स्वच्छ भारत मिशन के तहत ग्राम पंचायत सरधना देहात ने प्राइमरी पाठशाला इस्लामाबाद के पास सामुदायिक शौचालय बनवाया था। इसे रविवार को कुछ असामाजिक तत्वों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। उन्होंने दावा किया कि यह बारिश के कारण क्षतिग्रस्त नहीं हुआ है।

Leave a Reply