Friday, January 27, 2023
No menu items!

एक दिन नहीं, पूरे साल चले आत्मरक्षा की क्लास, लगातार प्रशिक्षण के बिना छात्राओं को नहीं मिलता लाभ

Must Read

ऑस्ट्रेलियन ओपन: रायबाकिना और सबालेंका खिताब के लिए भिड़ेंगी

मेलबोर्न, साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताबी मुकाबला एलेना रयबाकिना और आर्यना सबालेंका के बीच खेला...

किंग की धमाकेदार वापसी : शाहरुख की ‘पठान’ ने की भारत में 57 करोड़ की रिकॉर्ड ओपनिंग

मुंबई| भगवा रंग की बिकनी को लेकर विवादों में फंसी बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान की हालिया रिलीज फिल्म ‘पठान’...

दिल्ली में युवक ने खरीदे थे 18 हजार के कपड़े, कर्ज न चुकाने पर 4 युवकों ने की हत्या

नई दिल्ली18 हजार रुपये का कर्ज नहीं चुकाने पर 14 वर्षीय लड़के की हत्या की साजिश रचने वाले चार...
एक दिन नहीं, पूरे साल चले आत्मरक्षा की क्लास, लगातार प्रशिक्षण के बिना छात्राओं को नहीं मिलता लाभ
Deepak Singhhttps://www.apnameerut.com
Deepak Singh is a resident of Meerut and working as a content writer for various agencies. He is proficient in Sports news, Bollywood news, and local city news.

बालिकाओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाने के लिए समय-समय पर स्कूल-कालेजों में प्रशिक्षण शिविर लगाए जाते हैं। वर्तमान में प्रदेश सरकार की ओर से भी मिशन शक्ति के अंतर्गत हर जगह छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाया जा रहा है। लेकिन यह शिविर और इससे जुड़ी तमाम योजनाएं केवल कागजों पर ही सफलता की कहानी बयां कर रहे हैं। हकीकत में अब तक हुए इन शिविरों का कोई लाभ उन्हें नहीं मिला है।एक दिन नहीं, पूरे साल चले आत्मरक्षा की क्लास, लगातार प्रशिक्षण के बिना छात्राओं को नहीं मिलता लाभशिविर के बाद सीखे हुए तौर-तरीकों का एक एक भी दिन अभ्यास न करने के कारण शिविर का कोई लाभ नहीं मिल पाता है। मिशन शक्ति के अंतर्गत भी हर जिले के विभिन्न स्कूलों में मार्शल आट्र्स के इस्तेमाल से स्वयं को सुरक्षित रखने की जानकारी दी जा रही है, लेकिन स्कूलों, छात्राओं व अभिभावकों की चिंता यही है कि बिना प्रशिक्षण छात्राएं मनचलों का सामना किस तरह कर सकेंगी। किसी भी खेल से जुड़ी बालिकाएं काफी हद तक शारीरिक और मानसिक रूप से अपनी सुरक्षा के लिए सक्षम होती हैं लेकिन अन्य छात्राओं के लिए यह शिविर महज एक दिन का एक्स्ट्रा करिकुलर एक्टिविटी मात्र बनकर रह जाता है।

- Advertisement -एक दिन नहीं, पूरे साल चले आत्मरक्षा की क्लास, लगातार प्रशिक्षण के बिना छात्राओं को नहीं मिलता लाभ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -एक दिन नहीं, पूरे साल चले आत्मरक्षा की क्लास, लगातार प्रशिक्षण के बिना छात्राओं को नहीं मिलता लाभ
Latest News

ऑस्ट्रेलियन ओपन: रायबाकिना और सबालेंका खिताब के लिए भिड़ेंगी

मेलबोर्न, साल के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताबी मुकाबला एलेना रयबाकिना और आर्यना सबालेंका के बीच खेला...

किंग की धमाकेदार वापसी : शाहरुख की ‘पठान’ ने की भारत में 57 करोड़ की रिकॉर्ड ओपनिंग

मुंबई| भगवा रंग की बिकनी को लेकर विवादों में फंसी बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान की हालिया रिलीज फिल्म ‘पठान’ ने हिंदी फिल्मों के बॉक्स...

दिल्ली में युवक ने खरीदे थे 18 हजार के कपड़े, कर्ज न चुकाने पर 4 युवकों ने की हत्या

नई दिल्ली18 हजार रुपये का कर्ज नहीं चुकाने पर 14 वर्षीय लड़के की हत्या की साजिश रचने वाले चार युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार...

मंदी की आहट ने बढ़ाई कंपनियों की चिंता, IBM के बाद SAP ने भी छंटनी का ऐलान किया

न्यूयॉर्क, यूरोपीय सॉफ्टवेयर दिग्गज SAP तकनीकी कंपनियों में कर्मचारियों की छंटनी करने में शामिल हो गई है और गुरुवार को घोषणा की कि वह...

Google आपके गुप्त टैब को लॉक करने के लिए Android सुविधा के लिए नया Chrome जोड़ता है

टीएल; डॉ Google ने एक नई सुविधा शुरू की है जो Android पर Chrome से बाहर निकलने पर आपके गुप्त टैब को लॉक कर देती...
- Advertisement -एक दिन नहीं, पूरे साल चले आत्मरक्षा की क्लास, लगातार प्रशिक्षण के बिना छात्राओं को नहीं मिलता लाभ

More Articles Like This

- Advertisement -एक दिन नहीं, पूरे साल चले आत्मरक्षा की क्लास, लगातार प्रशिक्षण के बिना छात्राओं को नहीं मिलता लाभ