खेल मैदान को लेकर 12 बीडीओ को नोटिस

खेल मैदान के निर्माण में लापरवाही कर रहे 12 बीडीओ को युवा कल्याण अधिकारी ने नोटिस जारी किया है। उनसे दो माह में मैदान का एस्टीमेट नहीं बनाने और बार-बार रिमांडर के बावजूद विकास कार्य की कोई भी सूचना नहीं देने पर स्पष्टीकरण मांगा है। नोटिस में साफ किया है कि अगर सोमवार से पहले रिपोर्ट नहीं दी तो शासन में नोटिस की कॉपी प्रेषित की जाएगी।

दरअसल, खेलों के उत्थान के लिए केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। इसके बावजूद ग्रामीण अंचलों के खिलाड़ियों में प्रतिभा होने पर भी वह आगे नहीं बढ़ पाते हैं। गांव में खेल के मैदान नहीं होने के कारण खिलाड़ी नियमित अभ्यास नहीं कर पाते।

इसे देखते हुए सरकार ने हर पंचायत में एक खेल का मैदान विकसित करने के आदेश दिए थे जिसके बाद युवा कल्याण विभाग की ओर से 22 मैदानों के लिए भूमि चिह्नित कर ली गई है जिनमें से 12 भूमि मैदान के लिए स्वीकृत हुई। इनका निर्माण कार्य मनरेगा के तहत किया जाना है। इसी आधार पर अगस्त में संबंधित बीडीओ को खेल मैदान बनाने के लिए एस्टीमेट तैयार करने के निर्देश दिए लेकिन बीडीओ की लापरवाही के चलते अभी तक एस्टीमेट तैयार नहीं हो पाया है। पूछे जाने पर वे कोई जवाब भी नहीं दे रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here