डिवाइडर निर्माण में 61 लाख की बर्बादी पर सवाल

कादराबाद से परतापुर तिराहे तक रैपिड के एलाइनमेंट के स्थान पर लोक निर्माण विभाग ने 61.07 लाख रुपये से डिवाइडर बना दिए। लोनिवि निर्माण विभाग के प्रांतीय खंड के अधिशासी अभियंता ने चहेते ठेकेदार को गलत हैड बुक कर शासन से प्राप्त किश्त से अधिक का भुगतान कर दिया।

कैंट विधायक सत्यप्रकाश अग्रवाल ने अधिशासी अभियंता पर आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री व लोनिवि के प्रमुख सचिव से कार्रवाई की मांग की है। कैंट विधायक का कहना है कि विशेष मरम्मत 2019-20 में स्वीकृत दिल्ली-नीतिपास मार्ग के चैनेज 48.00 से 52.50 के बीच 61.07 लाख रुपये से डिवाइडर बनाया गया। पिछले आठ माह से यह सड़क आरआरटीएस को दिए जाने की कार्रवाई चल रही थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here