Friday, January 27, 2023
No menu items!

1947 की आजादी भीख थी वाले, कंगना के बयान पर भड़के वरुण गांधी, पूछा- इसे पागलपन कहें या देशद्रोह?

Must Read

पीएम मोदी पर बीबीसी की डॉक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग रोकने पर फिर हंगामा, अंबेडकर यूनिवर्सिटी में बिजली कटौती

नई दिल्लीदिल्ली के विश्वविद्यालयों में बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री 'इंडिया, द मोदी क्वेश्चन' को लेकर उपजा विवाद दिनों-दिन बढ़ता ही...

Enigmatic Smile Announces Strategic Partnership with Pine Labs

Enigmatic Smile is a Reward Technology Provider, focussed on linking high value rewards to consumers’ payment cards. It works...
1947 की आजादी भीख थी वाले, कंगना के बयान पर भड़के वरुण गांधी, पूछा- इसे पागलपन कहें या देशद्रोह?

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत एक बार फिर विवादों में हैं। कंगना रनौत ने एक कार्यक्रम के दौरान आजादी को लेकर बयान दिया, जिस पर अब बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने निशाना साधा है. वरुण गांधी ने कंगना रनौत पर स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान करने का आरोप लगाया है और कहा कि में कंगना की इस सोच को पागलपन कहूं या देशद्रोह। दरअसल, कंगना ने बयान दिया था कि 1947 में मिली आजादी भीख मिली थी, देश को असली आजादी साल 2014 में मिली थी।Read Also:-उत्तर प्रदेश के कौन से शहर में मिल रहा है सबसे सस्ता पेट्रोल, जानें आज का लखनऊ-बनारस से रामपुर-बरेली तक का पेट्रोल-डीजल का दाम

कंगना ने एक कार्यक्रम में कहा- ‘सावरकर, रानी लक्ष्मीबाई, नेता सुभाष चंद्र बोस अगर मैं इन लोगों की बात करूं तो ये लोग जानते थे कि खून बहेगा लेकिन उन्हें यह भी याद रखना था कि हिंदुस्तानी-हिंदुस्तानी का खून ना बहाये। बेशक उन्होंने आजादी की कीमत चुकाई। लेकिन वह आजादी नहीं थी, वह भीख थी। हमें जो आजादी मिली थी वह 2014 में मिली थी।

Shudh bharat

कंगना के इस बयान का वीडियो ट्वीट करते हुए वरुण गांधी ने एक साथ लिखा, ‘कभी महात्मा गांधी के बलिदान और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान, और अब शहीद मंगल पांडे से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, नफरत की. नेताजी सुभाष चंद्र बोस और लाखों स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान का तिरस्कार। क्या मैं इस सोच को पागलपन कहूं या देशद्रोह?’

news shorts

कंगना के इस बयान की अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने भी आलोचना की है। उन्होंने कंगना के वीडियो को ट्वीट करते हुए यह भी लिखा, ‘मणिकर्णिका का किरदार निभाने वाली कलाकार आजादी को भीख कैसे कह सकती है!!! लाखों शहादतों के बाद मिली आजादी के लिए भीख में मिले कहना, कंगना रनौत का मानसिक दिवालियापन है।

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

advt.
- Advertisement -1947 की आजादी भीख थी वाले, कंगना के बयान पर भड़के वरुण गांधी, पूछा- इसे पागलपन कहें या देशद्रोह?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -1947 की आजादी भीख थी वाले, कंगना के बयान पर भड़के वरुण गांधी, पूछा- इसे पागलपन कहें या देशद्रोह?
Latest News

पीएम मोदी पर बीबीसी की डॉक्युमेंट्री की स्क्रीनिंग रोकने पर फिर हंगामा, अंबेडकर यूनिवर्सिटी में बिजली कटौती

नई दिल्लीदिल्ली के विश्वविद्यालयों में बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री 'इंडिया, द मोदी क्वेश्चन' को लेकर उपजा विवाद दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है. जामिया...

Enigmatic Smile Announces Strategic Partnership with Pine Labs

Enigmatic Smile is a Reward Technology Provider, focussed on linking high value rewards to consumers’ payment cards. It works seamlessly, and invisibly, in the...
- Advertisement -1947 की आजादी भीख थी वाले, कंगना के बयान पर भड़के वरुण गांधी, पूछा- इसे पागलपन कहें या देशद्रोह?

More Articles Like This

- Advertisement -1947 की आजादी भीख थी वाले, कंगना के बयान पर भड़के वरुण गांधी, पूछा- इसे पागलपन कहें या देशद्रोह?