वृद्धा की मौत पर अस्पताल में हंगामा और बवाल

अस्पताल में भर्ती महिला मरीज की मौत पर मंगलवार शाम बवाल हो गया। परिजनों और हिंदू संगठन के सदस्यों ने अस्पताल प्रशासन पर आयुष्मान कार्ड में उपचार करने से मना करने और वेंटीलेटर से मरीज को हटाने का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। आरोप लगाया कि इसी कारण मरीज की मौत हुई। लोगों ने अस्पताल के मुख्य गेट पर कब्जा करते हुए ताला डाल दिया। पुलिस के साथ भी धक्कामुक्की हुई। एक दरोगा के धमकी देने के बाद मामला और तूल पकड़ गया। दोनों पक्षों ने तहरीर दी है।

माधवपुरम निवासी शिवकुमार की पत्नी पूनम जैन (62) को 11 सितंबर को दिल का दौरा पड़ा था। परिजनों ने उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। परिजनों का कहना है कि 14 सितंबर तक उपचार के लिए एक लाख रुपये जमा कराए। पैसा खत्म हो गया तो अस्पताल में बात करते हुए आयुष्मान कार्ड के तहत उपचार करने की बात कही। आरोप है कि इस पर अस्पताल प्रशासन ने उपचार करने से मना कर दिया और पूनम जैन को वेंटीलेटर से हटा दिया। करीब आधे घंटे बाद पूनम की मौत हो गई। इसके बाद परिजनों को गुस्सा भड़क गया। पूनम का बेटा सोनू हिंदू युवा वाहिनी का सदस्य है और उसने संगठन के लोगों को फोन कर पूरी घटना बताई।

अस्पताल प्रबंधन का कहना कि गंभीर हालत में वेंटिलेटर पर आई महिला मरीज के परिजनों ने भर्ती होने के वक्त आयुष्मान योजना की जानकारी नहीं दी। इलाज के तीन दिन बाद आयुष्मान योजना के बारे में बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here