Connect with us

Hi, what are you looking for?

Corona

क्या ओमिक्रॉन वेरिएंट डेल्टा से भी बड़ा कहर बरपाएगा? एम्स के पूर्व प्रोफेसर ने दिए इन पांच महत्वपूर्ण सवालों के जवाब

कोराना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रान को लेकर जहां अफ्रीका और यूरोप के कई देशों में हंगामा हो रहा है, वहीं इसने भारत में दस्तक देकर सरकार और प्रशासन के साथ-साथ आम जनता की भी चिंता बढ़ा दी है इसकी संक्रामक प्रवृत्ति और स्वास्थ्य पर इसके प्रभाव को लेकर देश में तमाम तरह की आशंकाएं व्यक्त की जा रही हैं। इन सभी मुद्दों पर पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के कार्डियोलॉजी विभाग के पूर्व प्रोफेसर के श्रीनाथ रेड्डी ने कुछ महत्वपूर्ण सवालों के जवाब दिए हैं।

Read Also:-दिल्ली में मिले ओमिक्रॉन के पहले मरीज की स्थिति कैसी है, क्या हैं लक्षण, वैक्सीन ली गई या नहीं; एलएनजेपी हॉस्पिटल ने बताई डिटेल्स

प्रश्नः-ओमाइक्रोन ने भारत में दस्तक दे दी है और इसे लेकर दहशत का माहौल है क्योंकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इसे अत्यधिक संक्रामक बताते हुए चिंता व्यक्त की है। इस बारे में आपको क्या कहना है?

news shorts

उत्तर जहां तक ​​इसकी संक्रामक क्षमता का सवाल है, यह सच है कि यह अधिक संक्रामक है। यह जिस तेजी से दक्षिण अफ्रीका और यूरोप के देशों में फैला है, वह इस बात का प्रमाण भी है। वायरस का यह रूप इसे गंभीर रूप से बीमार बनाता है, अभी तक इसका कोई संकेत नहीं मिला है। बल्कि अब तक जो भी चीजें सामने आई हैं, उससे पता चलता है कि संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती करने की ज्यादा जरूरत नहीं थी और यह लोगों की जान नहीं ले रहा है, जैसा कि हमने वायरस के डेल्टा रूप में देखा है। था। टीकों के असर की बात करें तो इस बात की ज्यादा संभावना है कि टीकों का असर कम होगा। क्योंकि टीकों से बनने वाले एंटीबॉडी का स्तर कुछ समय बाद कम हो जाता है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि टीके वायरस को पूरी तरह से हरा देंगे।

प्रश्न:- ओमिक्रान के खतरनाक मोड़ लेने से पहले सरकार को तत्काल कौन से कदम उठाने चाहिए? इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर भी बैन की बात?

उत्तर: सबसे पहले हमें इसके प्रसार की गति को धीमा करना होगा। इसलिए मास्क पहनें ताकि वायरस हमारे शरीर में प्रवेश न कर सके। भीड़भाड़ वाले कार्यक्रमों पर रोक लगनी चाहिए। टीकाकरण की गति बढ़ाई जाए। स्वास्थ्य पर इसके प्रभाव पर लगातार नजर रखनी होगी। संक्रमण फैल सकता है लेकिन अगर यह लोगों को गंभीर रूप से बीमार नहीं कर रहा है, तो घरेलू उपचार की व्यवस्था की जानी चाहिए। अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध लगाने की बात करें तो मेरा मानना ​​है कि इससे कोई मदद नहीं मिलने वाली है प्रतिबंध लगाने की बजाय विदेश से आने वाले यात्रियों की जांच की जाए और उनमें बीमारियों के लक्षण पाए जाएं। उनके संपर्कों का पता लगाया जाना चाहिए।

whatsapp gif

प्रश्न:- जब भी वायरस का कोई नया रूप सामने आता है, तो देश में इस बात पर बहस होती है कि क्या इसके खिलाफ टीके प्रभावी हैं या नहीं। यदि हां, तो कौन सा टीका सबसे प्रभावी है? बूस्टर डोज की भी चर्चा है। आप क्या कहेंगे?

उत्तर: मैं पिछले अप्रैल से कह रहा हूं कि जो टीके बन चुके हैं या जिनका प्रयोग हम पूरी दुनिया में कर रहे हैं, वे गंभीर बीमारी को तो रोक सकते हैं लेकिन वायरस के संक्रमण को फैलने से नहीं रोक सकते। मास्क केवल संक्रमण को फैलने से रोकने का काम कर सकता है और टीका हमारी रक्षा करता है। इसलिए हमें भी टीका लगवाना है और मास्क पहनना है। जहां तक ​​बूस्टर डोज का सवाल है, यह टीकों की प्रभावशीलता पर निर्भर करता है। कुछ टीके हैं जो तेजी से एंटीबॉडी बढ़ाते हैं। कुछ ऐसे भी होते हैं जिनमें एंटीबॉडी का स्तर भी कुछ महीनों के बाद गायब हो जाता है। टीकों में अंतर है। और व्यक्ति और व्यक्ति में भी अंतर होता है। बूस्टर खुराक दिए जाने से पहले यह देखना आवश्यक है कि ओमिक्रॉन कितनी गंभीर रूप से बीमार हो रहा है।

प्रश्नः- राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 126.53 करोड़ से अधिक टीकों की खुराक दी जा चुकी है। इनमें से केवल 46,88,15,845 लोगों को दोनों खुराक दी गई है जबकि 79,56,76, 342 लोगों ने पहली खुराक ली है। इस बारे में आपकी राय?

उत्तर हमें टीकों की दोनों खुराक जल्द से जल्द देनी है। टीकाकरण कार्यक्रम को जल्द से जल्द पूरा करने की जरूरत है। यदि यह साबित हो जाता है कि ओमिक्रान गंभीर स्वास्थ्य जोखिम पैदा कर रहा है, तो बूस्टर खुराक शुरू की जा सकती है। इसमें भी 60 वर्ष से अधिक आयु वालों या गंभीर बीमारी वाले लोगों को वरीयता दी जानी चाहिए।

Advertisement. Scroll to continue reading.

सवाल:- लोगों के मन में यह सवाल बार-बार उठ रहा है कि क्या हर साल कोई न कोई कोरोना वायरस आता रहेगा और हम इसी तरह डर के साये में जीने को मजबूर होंगे?

उत्तर: हमारे बीच रहने के लिए वायरस अपना रूप बदल लेगा। यह एक अलग रूप में भी आ सकता है। हमें इस गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए कि हम इस वायरस को मिटा देंगे या खत्म कर देंगे। हम निश्चित रूप से इसके खतरे को कम कर सकते हैं और उसे संकेत दे सकते हैं कि अगर आप हमारे बीच रहना चाहते हैं, तो बीमारी को ज्यादा न फैलाएं। अभी के लिए, घबराने की कोई बात नहीं है क्योंकि ओमाइक्रोन ने अब तक कोई गंभीर स्वास्थ्य प्रभाव नहीं दिखाया है। यह हमारे लिए एक अच्छा संकेत है। इसलिए मास्क पहनें, भीड़-भाड़ से दूर रहें और टीका लगवाएं।

dr vinit new

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

Click to comment

Leave a Reply

Advertisement

You May Also Like

Crime

मेवात गैंग ने पश्चिम उत्तर प्रदेश के 500 से ज्यादा लोगों को अपने प्रेम जाल में फंसाया। यह गैंग रात 11 बजे के बाद...

Corona

देशभर में कोरोना के Omicron वेरिएंट के बढ़ते मामलों को देखते हुए सख्त पाबंदियां लगाई जा सकती हैं। इस संदर्भ में भारत सरकार ने...

Corona

सरकार ने गुरुवार को बच्चों के लिए नई कोरोना गाइडलाइन जारी की है। इसमें 5 साल तक के बच्चो, 6 से 11 साल की...

Featured

मेरठ के कंकरखेड़ा में एक महिला अपने प्रेमी के साथ ससुराल से जेवर छीन ले गई। शुक्रवार की सुबह युवक ने पत्नी को लेकर...

Featured

उत्तर प्रदेश में कोरोना और सर्दी के बढ़ते कहर को देखते हुए अब 30 जनवरी तक ऑनलाइन पढ़ाई होगी। शासन के अपर मुख्य सचिव...

Featured

भारतीय जनता पार्टी के तेजतर्रार नेता संगीत सोम ने शुक्रवार को नामांकन दाखिल किया। मेरठ की सरधना सीट से बीजेपी के टिकट पर नामांकन...

India

अगर आप कार चलाते समय मोबाइल फोन (Mobile Phone Use During Driving) पर बात कर रहे हैं तो भी ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) आपका...

Crime

मेरठ के लिसाडिगेट में शुक्रवार शाम एक युवक पर जानलेवा हमला किया गया। तीन युवकों ने पहले युवक की खुलेआम पिटाई की और फिर...

Crime

मेरठ में 2 माह पहले घर में घुसकर लड़की की इज्जत लूटने की कोशिश करने वाले युवक को शुक्रवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर...

Featured

कोरोना के कहर के बीच मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय ने परीक्षा कार्यक्रम जारी कर दिया है। सीसीएसयू में ऑड सेमेस्टर की परीक्षाएं...

Featured

महिला फॉरेस्ट गार्ड की पिटाई को लेकर राज्य सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। गुरुवार को उन्होंने ट्वीट...

Featured

विधानसभा चुनाव और आगामी त्योहारों को देखते हुए मेरठ में धारा 144 लागू कर दी गई है। जो 20 मार्च 2022 तक लागू रहेगा।...

Delhi

जनवरी माह में दूसरी बार बेमौसम बारिश ने सर्दी बढ़ा दी है। मेरठ और आसपास के जिलों में गुरुवार रात से ही धुंध छाई...

Featured

गोरखपुर सदर से सीएम योगी के चुनाव लड़ने के बाद अब खबर आ रही है कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी अपने परिवार के...

Crime

मेरठ में शुक्रवार देर रात चोरों ने फाफुंडा स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के एटीएम को अपना निशाना बनाया। चोरों ने पहले कटर से शटर...

Cricket

टी20 वर्ल्ड कप 2022 में भारत अपने अभियान की शुरुआत पाकिस्तान के खिलाफ करेगा. पिछले साल यूएई और ओमान में खेले गए टी20 वर्ल्ड...

Featured

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 85 उम्मीदवारों की एक और सूची जारी की है। दूसरे और तीसरे चरण...

Featured

प्रियंका गांधी ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का घोषणापत्र जारी किया। इस दौरान पत्रकारों ने उनसे पूछा कि पार्टी का मुख्यमंत्री पद...

Advertisement

Website Designed & Maintained by TECHDOST