Tuesday, February 7, 2023
No menu items!

गर्भपात के मुद्दे पर विधायकों ने स्थिति स्पष्ट की

Must Read

बसपा के पूर्व विधायक समेत सात को सड़क जाम करने के आरोप में दो-दो साल की सजा सुनाई गई है और छह साल तक...

रांची। पलामू जिले के सांसद-विधायक ने हुसैनाबाद के पूर्व बसपा (बहुजन समाज पार्टी) विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता समेत...

ग्रिंडर एप के जरिए वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रंगदारी मांगने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा , नोएडा में साइबर क्राइम लगातार बढ़ रहा है। साइबर अपराधी तरह-तरह से लोगों को ठगने...

2 लड़कियों की शादी के मामले में हाई कोर्ट ने काउंसलिंग के आदेश दिए तो सुप्रीम कोर्ट ने इसके खिलाफ नोटिस जारी किया

नयी दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को एक समलैंगिक जोड़े की उस याचिका पर नोटिस जारी किया, जिसमें...
The Sabera Desk
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera





बॉम्बे हाई कोर्ट ने मेडिकल बोर्ड की राय मानने से इनकार करते हुए एक महिला को 32 सप्ताह की गर्भवती होने पर गर्भपात कराने या न करने का अधिकार देकर एक अच्छा और सामाजिक सुधार का फैसला लिया है। इससे यदि किसी की जान को कोई खतरा नहीं होगा तो जबरन गर्भधारण और समाज में व्याप्त पीड़ा से मुक्ति मिलेगी। लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि यह फैसला सिर्फ इसी मामले में लागू होगा या अन्य मामलों में भी मान्य होगा। मेरा मानना ​​है कि कोर्ट ने 20 जनवरी को जो आदेश दिया है कि बुद्धिजीवियों को बड़े पैमाने पर समीक्षा करनी चाहिए और यह स्पष्ट करना चाहिए कि यह फैसला कहां और किन परिस्थितियों में लागू किया जा सकता है, क्योंकि समाज में ऐसे लोग हैं जिन्हें पूरी जानकारी नहीं है। अधूरी जानकारी को वे अन्य रूपों में भी ले सकते हैं। और उन हालातों को किसी भी महिला के गर्भवती होने के बाद उसके और उसके होने वाले बच्चे के लिए दर्दनाक बनते देर नहीं लगेगी। जहां तक ​​भ्रूण में गंभीर विसंगतियां पाई जाती हैं, उसका चिकित्सकीय उपचार भी किया जा सकता है। लेकिन कई मामलों में ऐसा भी हो सकता है कि भ्रूण परीक्षण करवाने के बाद कई लोग अपने मन के अनुसार संतान न होने की शंका से गर्भपात का विचार करने लगें और यह स्थिति उत्पन्न न हो, इसके लिए समाज सुधारक विद्वान कानूनविदों को आगे आना चाहिए और समाज के कल्याण के लिए काम करना चाहिए। मार्गदर्शन करें। जहां तक ​​कोर्ट के फैसले की बात है तो यह समयानुकूल है। प्रतिभाशाली लोगों को विशेष रूप से युवा पीढ़ी और बुजुर्गों के मार्गदर्शन के लिए इन निर्देशों को पढ़ने में देरी नहीं करनी चाहिए।
-रवि कुमार बिश्नोई

संस्थापक – अखिल भारतीय समाचार पत्र संघ आइना
आरकेबी फाउंडेशन के संस्थापक, एक राष्ट्रीय स्तर पर सक्रिय सामाजिक सेवा संगठन
संपादक दैनिक केसर फ्रेग्रेन्स टाइम्स
ऑनलाइन समाचार चैनल tajakhabar.com, meerutreport.com






पिछला पदराहुल जी शादी के लड्डू खाने के बाद आज मेरी सहेली की शादी है दूल्हे की शादी की रस्में सुहावनी लग रही है कृपया गाने बजाएं

गर्भपात के मुद्दे पर विधायकों ने स्थिति स्पष्ट की


.

News Source: https://meerutreport.com/legislators-clarify-position-on-the-issue-of-abortion/?utm_source=rss&utm_medium=rss&utm_campaign=legislators-clarify-position-on-the-issue-of-abortion

- Advertisement -गर्भपात के मुद्दे पर विधायकों ने स्थिति स्पष्ट की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -गर्भपात के मुद्दे पर विधायकों ने स्थिति स्पष्ट की
Latest News

बसपा के पूर्व विधायक समेत सात को सड़क जाम करने के आरोप में दो-दो साल की सजा सुनाई गई है और छह साल तक...

रांची। पलामू जिले के सांसद-विधायक ने हुसैनाबाद के पूर्व बसपा (बहुजन समाज पार्टी) विधायक कुशवाहा शिवपूजन मेहता समेत...

ग्रिंडर एप के जरिए वीडियो बनाकर ब्लैकमेल कर रंगदारी मांगने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा , नोएडा में साइबर क्राइम लगातार बढ़ रहा है। साइबर अपराधी तरह-तरह से लोगों को ठगने से बाज नहीं आ रहे...

2 लड़कियों की शादी के मामले में हाई कोर्ट ने काउंसलिंग के आदेश दिए तो सुप्रीम कोर्ट ने इसके खिलाफ नोटिस जारी किया

नयी दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को एक समलैंगिक जोड़े की उस याचिका पर नोटिस जारी किया, जिसमें केरल उच्च न्यायालय के उस...

एलिवेटेड रोड पर रील बनाते 5 गिरफ्तार, वाहन जब्त, लाइसेंस निरस्त रिपोर्ट भेजी

गाज़ियाबाद। गाजियाबाद पुलिस कमिश्नरेट के इंदिरापुरम थाने की पुलिस टीम ने एलिवेटेड रोड पर वाहन खड़ा कर, सड़क जाम कर, शराब पीकर हथियार...

अभिनेत्री ईशा हत्याकांड की पूरी कहानी का हुआ खुलासा, पति ने ही मारी थी गोली

रांची। पश्चिम बंगाल की पुलिस ने झारखंड की रिजनल फिल्मों की अभिनेत्री ईशा आलिया उर्फ रिया कुमारी की हत्या की पूरी कहानी का खुलासा किया...
- Advertisement -गर्भपात के मुद्दे पर विधायकों ने स्थिति स्पष्ट की

More Articles Like This

- Advertisement -गर्भपात के मुद्दे पर विधायकों ने स्थिति स्पष्ट की