Home Breaking News मेरठ समेत आसपास के जिलों में अब नहीं होगी आक्‍सीजन की किल्‍लत,...

मेरठ समेत आसपास के जिलों में अब नहीं होगी आक्‍सीजन की किल्‍लत, बन रहे चार नए प्लांट

कोरोना संक्रमण से भयावह हुए हालात के बीच आक्सीजन बनाने वाले प्लांट लगाने की मुहिम तेज हो गई है। एनसीआर मेडिकल कालेज और सुभारती अस्पताल में नए आटोमेटिक आक्सीजन जनरेशन प्लांट लगाए जा रहे हैं, वहीं रिठानी में आठ सौ सिलेंडर रोज भरने की क्षमता वाला प्लांट लग रहा है। मई में मेडिकल कालेज में छह टन का स्टोरेज प्लांट चालू करने का लक्ष्य है।सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि तीन जनरेशन और एक स्टोरेज प्लांट लगने से आक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों को बचाया जा सकेगा।मेरठ समेत आसपास के जिलों में अब नहीं होगी आक्‍सीजन की किल्‍लत, बन रहे चार नए प्लांटएनसीआर मेडिकल कालेज के कोविड प्रभारी डा. अश्विनी शर्मा ने बताया कि पिछले साल 200 लीटर प्रति मिनट की दर से आक्सीजन पैदा करने वाला प्लांट लगाया गया था, जिससे डी-टाइप के 25 सिलेंडर भरे जा सकते हैं। कोविड वार्ड में बेडों के साथ ही मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। ज्यादातर बेडों को आक्सीजन से जोड़ा जा रहा है। प्रशासन के सुझाव पर कैंपस में 400 लीटर प्रति मिनट की दर से आक्सीजन बनाने वाला दूसरा प्लांट लगाया जा रहा है। इस प्लांट से 410 बेडों के अस्पताल में गैस आपूर्ति सुलभ हो जाएगी।

Must Read

मेरठ समेत आसपास के जिलों में अब नहीं होगी आक्‍सीजन की किल्‍लत, बन रहे चार नए प्लांट