Home Breaking News MP के बाद अब UP में भी ‘द केरल स्टोरी’ टैक्स फ्री,...

MP के बाद अब UP में भी ‘द केरल स्टोरी’ टैक्स फ्री, कैबिनेट के साथ फिल्म देखेंगे CM योगी आदित्यनाथ: बंगाल में बैन को डिप्टी सीएम ने बताया तुष्टिकरण

मध्य प्रदेश के बाद अब उत्तर प्रदेश में भी फिल्म ‘द केरल स्टोरी (The Kerala Story)’ को टैक्स फ्री कर दिया गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस फिल्म को अपनी कैबिनेट के साथ देखेंगे भी। उत्तर प्रदेश सरकार ने यह फैसला ऐसे वक्त में लिया है, जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल में फिल्म पर रोक लगा दी है। इसको अदालत में चुनौती देने की बात फिल्म के निर्माता विपुल अृमतलाल शाह ने कही है।

उत्तर प्रदेश में फिल्म टैक्स फ्री करने की जानकारी CM योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर दी है। मंत्रिमंडल के साथ 12 मई 2023 को लखनऊ में वे फिल्म देखेंगे। वहीं UP के उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने इसे फिल्म को बैन करने के लिए बंगाल की ममता सरकार की आलोचना की है।

चित्र साभार- @Myogioffice

उप मुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने राज्य में फिल्म को टैक्स फ्री करने पर ख़ुशी जताई है। उन्होंने कहा, “प्रदेश के लोग इसे देखें और समझें कि हिंदुस्तान के दूसरे भूभाग में किस ढंग से हमारी बहनों के साथ अत्याचार और दुर्व्यवहार हो रहा है। सतर्कता बरतते हुए अपने परिवार को और बच्चों को सँभाले। केरल स्टोरी बनाने वालों को बहुत-बहुत बधाई।”

पाठक ने पश्चिम बंगाल में द केरल फाइल्स पर लगे बैन को तुष्टिकरण बताया। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता कभी इसे स्वीकार नहीं करेगी। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश से पहले मध्य प्रदेश में द केरल स्टोरी को टैक्स फ्री किया गया था। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बयान जारी करते हुए कहा था कि यह फिल्म आतंकवाद और उसकी साजिशों का भंडाफोड़ करती है।


.

News Source: https://hindi.opindia.com/miscellaneous/entertainment/the-kerala-story-tax-free-in-uttar-pradesh-cm-yogi-watch-film-with-cabinet/

MP के बाद अब UP में भी ‘द केरल स्टोरी’ टैक्स फ्री, कैबिनेट के साथ फिल्म देखेंगे CM योगी आदित्यनाथ: बंगाल में बैन को डिप्टी सीएम ने बताया तुष्टिकरण
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera

Must Read

MP के बाद अब UP में भी ‘द केरल स्टोरी’ टैक्स फ्री, कैबिनेट के साथ फिल्म देखेंगे CM योगी आदित्यनाथ: बंगाल में बैन को डिप्टी सीएम ने बताया तुष्टिकरण