Home Breaking News बदन सिंह बद्दो फेसबुक पार्ट 4 : कारोबार खोने के डर से...

बदन सिंह बद्दो फेसबुक पार्ट 4 : कारोबार खोने के डर से ब्रजलाल ने मुझपर फर्जी मुकदमे लगवाए, मुझे एनकाउंटर में मारना चाहा

बदन सिंह बद्दो फेसबुक पार्ट 4 : कारोबार खोने के डर से ब्रजलाल ने मुझपर फर्जी मुकदमे लगवाए, मुझे एनकाउंटर में मारना चाहा

जहां डीजीपी बदन सिंह बद्दो को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का दावा कर रहे हैं वहीं बदन सिंह बेखौफ होकर फेसबुक पर पोस्ट डाल रहा है। अपनी पोस्ट में बदन सिंह ने यूपी पुलिस के कुछ पूर्व अधिकारियों के साथ ही मेरठ शहर के कुछ बड़े लोगों पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

मेरठ पुलिस जहां बदन सिंह बद्दो को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का दावा कर रही है, वहीं यह कुख्यात डॉन लगातार फेसबुक और इंस्टाग्राम पर एक्टिव है। सोशल मीडिया पर बदन सिंह बद्दो ने यूपी पुलिस के कुछ पूर्व अधिकारियों और मेरठ के कुछ बड़े कारोबारियों के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। बदन सिंह ने 14 नवंबर को फेसबुक और इंस्टाग्राम पर लंबी चौड़ी पोस्ट शेयर की थी, इस पोस्ट में बद्दो ने To be Continued लिखा था, अब 16 नवंबर को बदन सिंह ने अपनी इस पोस्ट का अगला हिस्सा प्रकाशित किया है। इस रपोस्ट में भी बदन सिंह ने नए खुलासे करते हुए अपना पक्ष रखा और सरकार से लेकर मंत्री, विधायकों और पुलिस अफसरों पर बड़े आरोप लगाए।

हालांकि हम बदन सिंह की पोस्ट के एक-एक पैरा ग्राफ को लेकर चल रहे हैं। अभी तक हम तीन पार्ट में आपको बदन सिंह की पोस्ट को पढ़वा चुके हैं।

पोस्ट का पहला हिस्सा पढ़ने के लिए क्लिक करें

पोस्ट का दूसरा हिस्सा पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पोस्ट का तीसरा हिस्सा पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

अब चौथे पार्ट से आगे बदन सिंह ने लिखा कि

मुझे भी केबल कारोबार में हिस्सेदारी दे रहे थे रोमी ब्रजलाल

बदन सिंह बद्दो ने लिखा कि मेरठ के पूरे केबल कारोबार पर पूर्व डीजीपी ब्रजलाल और रोमी ने कब्जा कर लिया था। कारोबार में रविंद सिंह भूरा को भी 25% हिस्सेदारी दी गई। मुझे भी हिस्सा देने को कहा, लेकिन मैंने मना कर दिया। इस कारोबार से ब्रजलाल और रोमी मेरठ से 1 करोड़ रुपये हर महीने कमाने लगे, इस 1 करोड़ को 7 करोड़ करने के लिए ब्रजलाल और रोमी की नजर अब वेस्टर्न यूपी के केबल कारोबार पर लग गई, जिसके बाद केबल कारोबारियों से उनका कारोबार कब्जाने का खेल शुरू हुआ। 

dr vinit new

ब्रजलाल को अपने कारोबार खोने का डर सताने लगा

बद्दो ने लिखा कि हिंदुस्तान में केबल कारोबार को लेकर जितनी हत्याएं हुई हैं उनमें सबसे ज्यादा हत्याएं ब्रजलाल ने वेस्टर्न यूपी में करवाई। फर्जी मुकदमे, फर्जी पुलिस मुठभेड़ में हत्या और केबल कारोबारियों का कारोबार लिखवाने के लिए पुलिस स्टेशन में उनके साथ मारपीट और 1 लाख के माल को 10 रुपये में लिखवाना शुरू हुआ। इस सबमें ब्रजलाल ने रविंद्र सिंह भूरा के जरिये उसके ही उन दोस्तों की हत्याएं करा दी जो केबल कारोबार में थे और ब्रजलाल, रोमी के खिलाफ आवाज उठाते थे। बद्दो ने लिखा कि इस सब में मेरे भी कुछ केबल कारोबारी दोस्त थे, जिन्हें बचाने के लिए मैं उनके पक्ष में खड़ा हो गया। इससे ब्रजलाल को अपना कारोबार खोने का डर सताने लगा और यहीं से ब्रजलाल मुझे हर तरह से खत्म करने में जुट गया जो आज तक जारी है।

ankit

मुझ पर दिल्ली रोड पर एके 47 से हमला हुआ

बदन सिंह ने लिखा कि केबल कारोबार पर ब्रजलाल का एकतरफा कब्जा होता चला गया। उस वक्त के एएसपी ने मुझे बताया कि कुछ लोग मेरी हत्या करना चाहते हैं, मुझ पर हमला हो सकता है। इसके कुछ दिन बाद ही मुझ पर दिल्ली रोड पर एके 47 से हमला हुआ, लेकिन कार बुलेट प्रूफ होने की वजह से मैं बच गया। जब मैं एफआईआर लिखवाने गया तो एसएसपी ने मुझसे कहा कि इससे कुछ नहीं होगा, जांच में हमें कहना पड़ेगा कि कोई हमला नहीं हुआ, एफआईआर झूठी है।

shop

ब्रजलाल ने मुझपर फर्जी मुकदमे लगा दिए
हालांकि एसएसपी ने मुझे बता दिया था कि मेरे ऊपर केबल कारोबार को लेकर हमला हुआ है। हमला करने वला शूटर राकेश हंसपुरिया है जो रविंद्र सिंह भूरा का आदमी है। इसके बाद ब्रजलाल समझ गए कि मेरी हत्या करना आसान नहीं है। ब्रजलाल ने फिर अपना रास्त अपनाया और मुझपर फर्जी मुकदमे लगने लगे। ब्रजलाल ने मेरठ में एक टीम बी बनाई, जिसे ब्रजलाल की सरपरस्ती हासिल थी। वो लोग कुछ भी गलत काम करें पुलिस उन्हें कुछ नहीं कहेगी। बी टीम के लोग रोज मेरे खिलाफ नई-नई शिकायतें लेकर पुलिस स्टेशन जाते, नकली आंसू बहाते (जिसे PUNJABI  में कंजरी रोना कहते हैं)। बी टीम का हर आदमी एक बात जरूर कहता कि बदन मेरी हत्या करा देगा, सुरक्षा चाहिए। जिसके बाद ब्रजलाल अपने रुतबे का इस्तेमाल करके सुरक्षा दिला देता। 

मुझे मरवाने की भूमिका तैयार करने लगे

ब्रजलाल जानते हैं कि किसी को बदमाश कैसे बनाना है। कैसे भूमिका तैयार करनी है, कैसे पुलिस पीछे लगानी है। ब्रजलाल पुलिस एनकाउंटर में मुझे मरवाने की भूमिका तैयार करने लगे। यूपी पुलिस के सभी अधिकारियों (IPS) को मालूम था कि ब्रजलाल BSP सुप्रीमो मायावती का खास आदमी है। अगर यूपी में अगली सीएम मायाववती हुईं तो यूपी का डीजीपी वही बनेगा। इसीलिए वे अधिकारी भी ब्रजलाल के हर गुनाह में साथ देते थे।

अभी हमने इस खबर में बदन सिंह की पोस्ट का चौथा हिस्सा ही प्रकाशित किया है, क्योंकि यह पोस्ट बहुत बड़ी है। हम अगली कुछ खबरों में बद्दो की पूरी पोस्ट उसी के लिखे शब्दों में प्रकाशित करेंगे।

advt.

 

बदन सिंह बद्दो फेसबुक पार्ट 4 : कारोबार खोने के डर से ब्रजलाल ने मुझपर फर्जी मुकदमे लगवाए, मुझे एनकाउंटर में मारना चाहा
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera

Must Read

बदन सिंह बद्दो फेसबुक पार्ट 4 : कारोबार खोने के डर से ब्रजलाल ने मुझपर फर्जी मुकदमे लगवाए, मुझे एनकाउंटर में मारना चाहा