Home Breaking News बदन सिंह ने बताया वह क्यों हुआ फरार, कहा- ब्रजलाल पोस्ट की...

बदन सिंह ने बताया वह क्यों हुआ फरार, कहा- ब्रजलाल पोस्ट की जांच नहीं चाहेगा, क्योंकि उसे योगी जी की कार्यप्रणाली पता है

बदन सिंह ने बताया वह क्यों हुआ फरार, कहा- ब्रजलाल पोस्ट की जांच नहीं चाहेगा, क्योंकि उसे योगी जी की कार्यप्रणाली पता है

इस बार बदन सिंह ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पोस्ट में अपने भागने का कारण बताते हुए कहा कि यदि मैं भागता नहीं तो ब्रजलाल पेशी से लौटते समय मेरी हत्या करवा देता।

बदन सिंह बद्दो सोशल मीडिया सनसनी बना हुआ है। रोज फेसबुक और इंटाग्राम पर ऑनलाइन आता है और लंबी चौड़ी पोस्ट शेयर कर चला जाता है। पहले 14 अगस्त की रात बदन सिंह ने ऑनलाइन आकर लंबी चौड़ी पोस्ट डाली और उत्तरप्रदेश के पूर्व डीजीपी और मेरठ के केबल कारोबारी रोमी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। बदन सिंह ने इन दोनों के साथ ही कई अन्य अधिकारियों और सफोदपोशों पर गंभीर आरोप लगाए। इसके बाद बदन सिंह 16 अगस्त, 17 अगस्त और अब 18 अगस्त को भी ऑनलाइन आया और फिर लंबी चौड़ी पोस्ट कर डाली।

ब्रजलाल सीएम योगी और भाजपा की कार्यप्रणाली जानता है

इस बार बदन सिंह ने फेसबुक और इंस्टाग्राम पोस्ट में अपने भागने का कारण बताते हुए कहा कि यदि मैं भागता नहीं तो ब्रजलाल पेशी से लौटते समय मेरी हत्या करवा देता। उसकी पूरी साजिश का पता मुझे पुलिसकर्मियों से चल गया था, इसीलिए मुझे मजबूरी में भागना पड़ा। इसके साथ ही बदन ने प्रशासन द्वारा कोठी तोड़े जाने और कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाए। इसके साथ ही बदन सिंह ने कहा कि ब्रजलाल को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस पूरे मामले की जांच करवाने की मांग करनी चाहिए, लेकिन वह ऐसा नहीं करेगा क्योंकि वह सीएम योगी और भाजपा की कार्यप्रणाली जानता है।

मेरे सब ताकतवर लोग दूर कर दिए

बदन सिंह ने 18 अगस्त को फेसबुक और इंस्टाग्राम पर की गई पोस्ट में लिखा कि ब्रजलाल मुझे जेल से किसी भी हाल में जिंदा बाहर नहीं आने देना चाहता था। इसके लिए उसने मेरे हमदर्दों को भी बड़े पुलिस अफसरों से यह कहकर डराया कि बदन सिंह पर बड़ी कार्रवाई होने जा रही है तुम बीच में मत पड़ो। ब्रजलाल ने सब ताकतवर लोगों को डराकर मुझसे दूर कर दिया। ब्रजलाल मुझै जेल में ही मारना चाहता था, लेकिन आईजी जेल ने मेरे खिलाफ किसी भी गलत कार्रवाई करने से इनकार कर दिया। 

dr vinit new

एसटीएफ से बनवाई फर्जी रिपोर्ट

इसके बाद ब्रजलाल ने पुलिस और अपनी बी टीम को इस काम में लगाया। नोएडा के तीन बड़े माफियाओं से बात की, उन माफियाओं के कई आदमी जेल में थे, लेकिन उन्होंने भी मुझे मारने से इनकार कर दिया। बदन सिंह के मुताबिक उसी दौरान जेल में नए आईजी आ गए और इन आईजी ने मेरी हत्या कराने का सौदा ब्रजलाल से तय कर लिया, लेकिन नोएडा जेल में आईजी और ब्रजलाल मेरी हत्या नहीं करा सकता था इसीलिए उन्होने एसटीएफ से एक फर्जी रिपोर्ट बनवाई।

मेरा ट्रांसफर फतेहगढ़ जेल में करवा दिया

इस रिपोर्ट में कहा गया कि 1 लाख के इनामी बदमाश सुशील मूछ के फरार हो जाने के पर बदन सिंह नोएडा जेल से पूरे ग्रुप को संभाल रहा है,इसलिए बदन सिंह की जेल शिफ्ट की जानी जरूरी है। इसके बाद आईजी जेल और ब्रजलाल ने मेरा ट्रांसफर फतेहगढ़ जेल में करवा दिया। यहां ब्रजलाल ने जेल में मेरे हर मामले का चार्ज एक तरीके से संभाल लिया। ब्रजलाल जो कहता आईजी जेल वही करता। मेरी हत्या की पूरी तैयारी थी, हर आदमी बिकाऊ था, लेकिन जेल में किसी की हत्या के लिए जेल स्टाफ रजामंदी जरूरी है, मेरे साथ भी यही हुआ, जेल स्टाफ मुझे मारना नहीं चाहता था।

मेरी दवाईयां बंद कर दीं

जेल स्टाफ और जेल के कैदियों ने मुझे जेल द्वारा दिए गए किसी भी वस्तु को खाने पीने से मना कर दिया। इस बीच जेल में दो हत्या हो गई, एक गला दबाकर और दूसरी सिर में ईंट मारकर। उधर जब आईजी जेल और ब्रजलाल मेरी हत्या नहीं करा पाए तो मेरी दवाइयां बंद करा दी। वे चाहते थे कि यह बीमारी से ही मर जाए। डॉक्टर और सीएमओ के कहने के बाववजूद मेरा इलाज नहीं किया गया, जिस कारण मेरी तबियत बिगड़ती चली गई।

मुझे ना चाहते हुए भी फरार होना पड़ा

बदन सिंह ने लिखा कि ब्रजलाल जब मेरी हत्या जेल में नहीं कर सका तो जेल से कोर्ट जाते हुए रास्ते में मेरी हत्या कराने की योजना बनाई। यह तरीका पुलिस का ब्रह्मास्त्र है, इसमें पुलिस कहती है कि मुजरिम ने भागने की कोशिश की और मारा गया। बदन ने लिखा कि 28 मार्च 2019 को मेरी कोर्ट में डेट थी, लेकिन कुछ अच्छे लोग अपनी ड्यूटी इमानदारी से निभा रहे थे उन्होंने 27 मार्च यानी एक दिन पहले ही मुझे जेल में मैसेज पहुंचा दिया कि कोर्ट से वापसी पर रात को आपकी हत्या की जाएगी, ब्रजलाल पूरी योजना बना चुका है। जब बचाव को कई ओर रास्ता नहीं दिखा तो मुझे मजबूरी में वो कदम उठाना पड़ा जो नहीं उठाना चाहिए था क्योंकि अगर आप जिंदा हैं तो सबकछ है और मर गए तो कुछ नहीं। ब्रजलाल की योजना फेल हो गई। 28 मार्च 2019 को ही बदन सिंह होटल मुकुट महल से फरार हाे गया था। 

मेरे बेटे की जिंदगी खराब कर दी

बदन सिंह ने आगे लिखा कि ब्रजलाल ने मेरे दोस्तों और मेरे 17 साल के बेटे पर एफआईआर करवा दी। सिकंदर की जिदगी शुरू होने से पहले ही खत्म कर दी। वह 14 साल से हॉस्टल में रहा और आगे की पढ़ाई के लिए लंदन जाने वाला था, लेकिन एसएसपी और एसएचओ ने सिकंदर पर फर्जी एफआईआर दर्ज कर उसकी जिंदगी खराब कर दी। मेरी पहली पोस्ट से परेशान ब्रजलाल ने सिकंदर पर एक लाख का इनाम करा दिया था, मुझे उम्मीद है इस पोस्ट के बाद पुलिस सिकंदर पर दो लाख का इनाम कर देगी। मेरठ पुलिस और एसटीएफ ने सिकंदर के फोन की लोकेशन निकलवाई, जो लाेकेशन एफआईआर में थी वह उसकी लोकेशन से मैच नहीं हुई तो लोकेशन को दबा दिया। सीएएसई की जांच में नहीं लिखा, क्योंकि सिकंदरहा बेकसूर साबित हो जाता।

16 साल से मुझे मरवाने की कोशिश कर रहा है

ब्रजलाल को मुझे मारने की बहुत जल्द थी, वह 16 साल से मुझे मरवाने की कोशिश कर रहा है, लेकिन कामयाब नहीं हो पाया। उसे अपनी पुलिस पर यकीन नहीं था, इसीलिए उसने भूपेंद्र बाफर से हाथ मिला लिया। भूपेंद्र बाफर को उसके गुरु सुशील सिंह और मेरी हत्या की सुपरी दी गई। भूपेंद्र बाफर ने अपनी आधी जिंदगी जेल में काटी है, 60-70 केस हैं। जब ब्रजलाल डीजीपी था तब उसपर एक लाख का इनाम था, लेकिन अब बाफर उसकी बी टीम में आ चुका है। 

मुझे मारने के लिए ब्रजलाल ने बाफर को दो जववानों की पुलिस सुरक्षा दिलाई, बुलेट प्रूफ जैकेट दिलाई। बाफर के शूटर जेल में थे, जिन्हें छुड़ाने के लिए बाफर ने पुलिस पर हमला कर दिया और एक पुलिस ऑफिसर मारे गए, लेकिन बाफर पकड़ा गया और ब्रजलाल की सारी प्लानिंग खुल गई। बदन ने आरोप लगाया कि ब्रजलाल और उसकी बी टीम यूपी के बाहर के राज्यों की पुलिस से भी मेरी हत्या की डील कर चुक है, हत्या की कीमत करोड़ो में है।

ब्रजलाल लखनऊ में मोर्चा संभालेंगे

बदन ने लिखा कि मेरी इस पोस्ट के बाद ब्रजलाल लखनऊ में मोर्चा संभालेंगे, क्योंकि उसे पता है कि पुलिस अफसर पर दबावव कैसे बनाया जाता है। ब्रजलाल और रोमी DGP, LO, IG STF को समझाएंगे कि पोस्ट में सब झूठ लिखा है। ब्रजलाल अपनी इमानदारी की बात कहेंगे और कहेंगे कि केबल कारोबार से मेरा कोई मतलब नहीं। रोमी रोता हुआ कहेगा कि बदन मेरी हत्या कराना चाहत है। ये दोनों DGP, LO, IG STF को समझाएंगे कि बदन को सी भी हाल में जिंदा नहीं पकड़ना है और अधिकारी भी उन्हें आश्वासन देंगे, लेकिन DGP, LO, IG STF जानते हैं कि मेरी पोस्ट में सब सही लिखा है, लेकिन ब्रजलाल की बात को सही कहेंगे, क्या मजबूरी है ये वे अफसर ही जानते होंगे।

यूपी पुलिस के अफसरों को ब्रजलाल से कोई परेशानी नहीं होगी

ब्रजलाल की बी टीम मेरठ में एसएसपी, आईजी, एडीजी, सीओ एसटीएफ, एसपी एसटीएफ के पास जाकर भी यही रोना रोएंगे, मीडिया के सामने रोएंगे। यूपी पुलिस के अफसरों को ब्रजलाल से कोई परेशानी नहीं होगी, क्योंकि सभी ब्रजलाल के जूरियर रहे हैं। ब्रजलाल पूरी ताकत लगाएंगे कि ये पोस्ट उसके खिलाफ ना जाए। इसीलिए मेरी लास्ट पोस्ट के बाद ब्रजलाल ने मीडिया में बयान जारी कर कहा था कि जो भी इस पोस्ट को लाइन शेयर कमेंट करता है उसपर पुलिस कार्रवाई करे।

उसे इस पोस्ट की सच्चाई मालूम है

बदमाश, गुंडा, कुख्यात, माफिया, डॉन मेरे सब नाम ब्रजलाल की देन है। ब्रजलाल को सीएम येागी जी के पास जाकर कहना चाहिए कि यह बदमाश, गुंडा, कुख्यात, माफिया, डॉन मेरी इमानदारी पर उंगुली उठा रहा है, कृपया इस मामले की जांच हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज की निगरानी में एसआईटी बनाकर की जाए, लेकिन ब्रजलाल ऐसा नहीं करेगा। क्योंकि उसे इस पोस्ट की सच्चाई मालूम है और सीएम योगी और भाजपा की कार्यप्रणाली भी।

बदन सिंह ने बताया वह क्यों हुआ फरार, कहा- ब्रजलाल पोस्ट की जांच नहीं चाहेगा, क्योंकि उसे योगी जी की कार्यप्रणाली पता है
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera

Must Read

बदन सिंह ने बताया वह क्यों हुआ फरार, कहा- ब्रजलाल पोस्ट की जांच नहीं चाहेगा, क्योंकि उसे योगी जी की कार्यप्रणाली पता है