Thursday, February 9, 2023
No menu items!

चौ चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ के बृहस्पति भवन में कृषि विभाग द्वारा प्रदर्शनी, तिलहन मेला एवं गोष्ठी का आयोजन

Must Read
The Sabera Desk
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera


मेरठ, 25 जनवरी। उत्तर प्रदेश दिवस के तहत चौ चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ के बृहस्पति भवन में जिला स्तरीय प्रदर्शनी, तिलहन मेला एवं संगोष्ठी (बाजरा, प्राकृतिक खेती एवं कृषि स्टार्टअप) का आयोजन किया गया। संगोष्ठी का विधिवत उद्घाटन श्री ओजस्वी राज, उप जिलाधिकारी मेरठ एवं सुश्री जागृति अवस्थी, संयुक्त दंडाधिकारी मेरठ ने दीप प्रज्वलित कर किया।

मेरठ के उप जिलाधिकारी श्री ओजस्वी राज ने अपने सम्बोधन में बताया कि धान के स्थान पर गिरते भू-जल स्तर को नियंत्रित करने के लिए युवा पीढ़ी को कृषि एवं बाजरा की बुवाई की ओर आकर्षित करने के लिए बाजरा ग्लूटन मुक्त उत्पादों का सबसे सुलभ साधन है. किसानों को पानी की मांग वाली फसलों की बुवाई करने का भी सुझाव दिया गया।

श्री चमन सिंह, अनुमंडल कृषि विस्तार अधिकारी, मेरठ ने प्राकृतिक खेती से होने वाले लाभ, बीजामृत, जीवामृत, घनजीवामृत, ब्रह्मास्त्र आदि बनाने की विधि आदि की जानकारी दी. गौ आधारित प्राकृतिक खेती के महत्व एवं अवधारणा की विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई गई. डॉ. प्रदीप कुमार वर्मा, सचिव, गन्ना समिति, महिउद्दीनपुर द्वारा। रासायनिक खाद व कीटनाशकों के असंतुलित प्रयोग से होने वाले नुकसान की भी जानकारी दी गई।
चौ चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ के बृहस्पति भवन में कृषि विभाग द्वारा प्रदर्शनी, तिलहन मेला एवं गोष्ठी का आयोजन
कृषि विज्ञान केंद्र हस्तिनापुर के प्रभारी डॉ. ओमवीर सिंह ने देश की वर्तमान स्थिति और मांग के अनुरूप सरकार द्वारा प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने की जानकारी दी. गेहूं में खरपतवार नियंत्रण की भी जानकारी दी गई।

एपीडा के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. रितेश शर्मा ने बताया कि वर्ष 2023 को अंतर्राष्ट्रीय बाजरा वर्ष के रूप में मनाया जाना है। बाजरे का सेवन मनुष्य के अच्छे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। उन्होंने किसानों को ज्वार, बाजरा, मंडूवा, रागी, कंगनी, सामवा, कोंडो आदि मोटे अनाज बोने का सुझाव दिया। एपीडा के हेल्पलाइन नंबर 8630641798 पर उनकी समस्याओं के समाधान की जानकारी दी गई।

मेरठ के उप कृषि निदेशक श्री ब्रजेश चंद्रा ने किसानों से बाजरा और तिलहनी फसलों का कवरेज बढ़ाने का अनुरोध किया। रबी की मुख्य तिलहनी फसल सरसों की उत्पादकता बढ़ाने के लिए समय पर बुआई, रेयरफेक्शन और गंधक के प्रयोग की अपील की गई। कृषि विभाग द्वारा संचालित योजनाओं एवं उनमें देय अनुदान की भी जानकारी दी गई।

इस मौके पर उपमंडल कृषि विस्तार अधिकारी चमन सिंह, उप कृषि निदेशक ब्रजेश चंद्र सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे.

.

News Source: https://meerutreport.com/exhibition-oilseeds-fair-and-seminar-organized-by-ccsu/?utm_source=rss&utm_medium=rss&utm_campaign=exhibition-oilseeds-fair-and-seminar-organized-by-ccsu

- Advertisement -चौ चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ के बृहस्पति भवन में कृषि विभाग द्वारा प्रदर्शनी, तिलहन मेला एवं गोष्ठी का आयोजन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -चौ चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ के बृहस्पति भवन में कृषि विभाग द्वारा प्रदर्शनी, तिलहन मेला एवं गोष्ठी का आयोजन
Latest News

Fullife Healthcare is Now Great Place To Work-Certified

Fullife Healthcare has been Great Place To Work® Certified™ in India (from December 2022 to December 2023)! This recognition...

मुजफ्फरनगर में विज्ञान संचार पर पांच दिवसीय कार्यशाला संपन्न हुई

मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद, कायनात एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसायटी के तत्वावधान में, राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार विभाग, विज्ञान एवं...

गांधी कॉलोनी में बंदरों का आतंक, दहशत में जी रहे परिवार, बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित

मुजफ्फरनगर। थाना नई क्षेत्र के मोहल्ला गांधी कॉलोनी क्षेत्र में बंदरों का आतंक लगातार आक्रामक रूप में सामने आ रहा है. कई बार बंदरों...
- Advertisement -चौ चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ के बृहस्पति भवन में कृषि विभाग द्वारा प्रदर्शनी, तिलहन मेला एवं गोष्ठी का आयोजन

More Articles Like This

- Advertisement -चौ चरण सिंह विश्वविद्यालय मेरठ के बृहस्पति भवन में कृषि विभाग द्वारा प्रदर्शनी, तिलहन मेला एवं गोष्ठी का आयोजन