Tuesday, January 31, 2023
No menu items!

Guidelines For Schools : ड्रेस नियमों में दें छूट, टाइम टेबल में बदलाव करें, शिक्षा मंत्रालय ने भीषण गर्मी से निपटने के लिए स्कूलों के लिए जारी की गाइडलाइंस

Must Read
The Sabera Desk
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera
Guidelines For Schools : ड्रेस नियमों में दें छूट, टाइम टेबल में बदलाव करें, शिक्षा मंत्रालय ने भीषण गर्मी से निपटने के लिए स्कूलों के लिए जारी की गाइडलाइंस

स्कूलों के लिए गाइडलाइंस: शिक्षा मंत्रालय ने बुधवार को भीषण गर्मी से निपटने के लिए स्कूलों के लिए गाइडलाइंस जारी की। इसमें ड्रेस के नियमों में ढील देने और समय बदलने जैसी चीजें शामिल हैं। देश के अलग-अलग इलाकों में भीषण गर्मी से लोग काफी प्रभावित हुए हैं। अप्रैल के अंत में भीषण गर्मी के चलते दिल्ली के कई हिस्सों में तापमान 46-47 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। शिक्षा मंत्रालय के दिशा-निर्देशों ने स्कूलों से कक्षा के समय को संशोधित करने और प्रत्येक दिन स्कूल के घंटे कम करने को कहा है। इसमें कहा गया है कि स्कूल ड्रेस नियमों में भी ढील दे सकते हैं और चमड़े के जूतों के स्थान पर कैनवास के जूतों के इस्तेमाल की अनुमति दी जा सकती है। मंत्रालय ने कहा कि स्कूल यह सुनिश्चित करें कि पंखे ठीक से चल रहे हैं, साथ ही बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था भी करें।Read Also:-सरकार ने बैंक से पैसे जमा करने और निकालने के नियम बदले! इस राशि से अधिक के डिजिटल-लेन-देन पर देनी होगी ये जानकारी

स्कूलों के लिए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश

  • मंत्रालय ने सभी स्कूलों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा है कि सभा का आयोजन कवर क्षेत्र में या कक्षाओं में कम समय में किया जाए। स्कूल खत्म होने के बाद डिस्पर्सल के दौरान भी इसी तरह का ध्यान रखा जा सकता है।
  • स्कूल बस या वैन में अधिक भीड़ नहीं होनी चाहिए। इसमें छात्रों को बैठने की क्षमता से अधिक नहीं ले जाना चाहिए। बस, वैन में पीने का पानी और प्राथमिक उपचार किट उपलब्ध हो।
  • पैदल या साइकिल से स्कूल आने वाले छात्र-छात्राएं अपना सिर ढक कर रखें। स्कूल बस वैन को छांव में खड़ा किया जा सकता है। छात्र-छात्राएं अपनी पानी की बोतलें, टोपी और छतरियां खुद लाएं और धूप में उनका इस्तेमाल करें। स्कूल को इस ठंडे पीने योग्य पानी की व्यवस्था करनी चाहिए।
  • ठंडा पानी उपलब्ध कराने के लिए वाटर कूलर, मिट्टी के बर्तन का उपयोग किया जा सकता है। प्रत्येक अवधि में शिक्षक को विद्यार्थियों को उनकी पानी की बोतलों से पानी पीने के लिए याद दिलाना चाहिए।
  • घर वापस जाते समय, स्कूलों को यह सुनिश्चित करना होगा कि छात्र अपनी बोतलों में पानी ले जा रहे हैं। छात्रों को गर्मी की लहर से निपटने के लिए उचित जलयोजन के महत्व से अवगत कराया जाना चाहिए और नियमित अंतराल पर पर्याप्त पानी पीने की सलाह दी जानी चाहिए।
  • शिक्षा मंत्रालय का कहना है कि ज्यादा पानी पीने से शौचालयों का इस्तेमाल बढ़ सकता है। शौचालयों को साफ-सुथरा रखकर स्कूलों को इसके लिए तैयार किया जाना चाहिए। गर्मी भोजन को खराब कर सकती है, इसलिए पीएम पोषण के तहत पका हुआ गर्म भोजन गर्म और ताजा परोसा जाना चाहिए।
  • प्रभारी शिक्षक परोसने से पहले भोजन की जांच कर सकते हैं। टिफिन ले जाने वाले बच्चों को सलाह दी जा सकती है कि वे जल्दी खराब होने वाले भोजन को स्टोर न करें।
  • स्कूलों में कैंटीनों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि ताजा और स्वस्थ भोजन परोसा जाए। बच्चों को दोपहर के भोजन के समय हल्का भोजन करने की सलाह दी जा सकती है। मंत्रालय ने कहा कि स्कूल को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सभी पंखे काम कर रहे हैं और सभी कक्षाएं ठीक से हवादार हैं। यदि संभव हो तो वैकल्पिक पावर बैक अप की उपलब्धता की व्यवस्था की जा सकती है।
  • छात्रों को ढीले और हल्के रंग के सूती कपड़े पहनने की अनुमति दी जा सकती है। स्कूल वर्दी के संबंध में मानदंडों में ढील दे सकते हैं जैसे कि गर्दन की टाई। चमड़े के जूतों के स्थान पर कैनवास के जूतों की अनुमति दी जा सकती है। छात्रों को पूरी बाजू की शर्ट पहनने की सलाह दी जा सकती है।
  • प्राथमिक उपचार सुविधाएं हल्के हीट स्ट्रोक के इलाज के लिए स्कूलों में ओआरएस घोल या नमक और चीनी के घोल की थैली आसानी से उपलब्ध होनी चाहिए।
  • हल्के हीटस्ट्रोक की स्थिति में छात्रों को प्राथमिक उपचार प्रदान करने के लिए शिक्षण और गैर-शिक्षण कर्मचारियों को प्रशिक्षित किया जाना चाहिए। स्कूलों को हीटस्ट्रोक की स्थिति में नजदीकी अस्पताल में त्वरित पहुंच सुनिश्चित करनी चाहिए। विद्यालय में आवश्यक चिकित्सा किट उपलब्ध हो।
  • हीट वेव के संबंध में क्या करें और क्या न करें इस तरह के निर्देश स्कूल में प्रमुख स्थानों पर प्रदर्शित किए जाने चाहिए। इनमें छात्रों को पर्याप्त पानी पीने के लिए कहना शामिल है – ओआरएस (ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन), घर का बना पेय जैसे लस्सी, तोरानी (चावल का पानी), नींबू पानी, बटर मिल्क आदि प्यास न लगने पर भी खुद को हाइड्रेटेड रखने के लिए। उपयोग।
  • हल्के, हल्के रंग के, ढीले, सूती कपड़े पहनें। अपने सिर को कपड़े, टोपी या छतरी आदि से ढकें। जितना हो सके घर के अंदर ही रहें। यदि आप बेहोश या बीमार महसूस करते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से मिलें। खाली पेट या भारी भोजन करने के बाद बाहर न जाएं। धूप में बाहर जाने से बचें, खासकर दोपहर में। यदि आवश्यक न हो तो दोपहर के समय जब आप बाहर हों तो जोरदार गतिविधियों से बचें। नंगे पांव बाहर न निकलें।
  • आवासीय विद्यालय उपरोक्त के अतिरिक्त आवासीय विद्यालय निम्नलिखित अतिरिक्त उपाय कर सकते हैं। स्टाफ नर्स के पास गर्मी के मौसम से संबंधित सामान्य बीमारियों के लिए आवश्यक दवाएं उपलब्ध होनी चाहिए। लू से बचने के लिए विद्यार्थियों को जागरूक किया जा सकता है। छात्रावासों में खिड़कियों पर पर्दे होने चाहिए।
  • नींबू, छाछ और मौसमी फलों में पानी की मात्रा अधिक होनी चाहिए। मसालेदार भोजन से बचना चाहिए। कक्षाओं, छात्रावासों और डाइनिंग हॉल में पानी और बिजली की निरंतर उपलब्धता सुनिश्चित करें। शाम के समय खेलकूद और खेलकूद गतिविधियों का आयोजन करना चाहिए।
whatsapp gif

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

- Advertisement -Guidelines For Schools : ड्रेस नियमों में दें छूट, टाइम टेबल में बदलाव करें, शिक्षा मंत्रालय ने भीषण गर्मी से निपटने के लिए स्कूलों के लिए जारी की गाइडलाइंस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -Guidelines For Schools : ड्रेस नियमों में दें छूट, टाइम टेबल में बदलाव करें, शिक्षा मंत्रालय ने भीषण गर्मी से निपटने के लिए स्कूलों के लिए जारी की गाइडलाइंस
Latest News

मुख्तार के करीबियों की दो करोड़ की संपत्ति कुर्क करने के निर्देश, करीबियों में हड़कंप

नरम पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी और उनसे जुड़े लोगों की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. ...

KONE India is India’s Best Workplaces in Manufacturing 2023

KONE Elevators India, a fully owned subsidiary of KONE Corporation, a global leader in the elevator and escalator industry, announced that it has been...

सगाई में मेहमान बनकर आया था शख्स, निकला चोर, कैश और जेवरात से भरा बैग लेकर हुआ फरार

गाज़ियाबाद। गाजियाबाद के एक फार्म हाउस में सगाई समारोह में मेहमान बनकर आए चोर ने दूल्हे के पिता का बैग चुरा लिया. बैग...
- Advertisement -Guidelines For Schools : ड्रेस नियमों में दें छूट, टाइम टेबल में बदलाव करें, शिक्षा मंत्रालय ने भीषण गर्मी से निपटने के लिए स्कूलों के लिए जारी की गाइडलाइंस

More Articles Like This

- Advertisement -Guidelines For Schools : ड्रेस नियमों में दें छूट, टाइम टेबल में बदलाव करें, शिक्षा मंत्रालय ने भीषण गर्मी से निपटने के लिए स्कूलों के लिए जारी की गाइडलाइंस