Home Breaking News आईआईएमटी ने भारतीय संस्कृति की तरफ बढाया कदम

आईआईएमटी ने भारतीय संस्कृति की तरफ बढाया कदम

भारतवर्ष को एकता के सूत्र में बांधने के लिये आवश्यक है कि हम भारतीय देश की अलग-अलग संस्कृतियों से परिचित हो सके। इसी उद्देश्य से आईआईएमटी विश्वविद्यालय, गंगानगर परिसर में ऋषि ग्राम का निर्माण किया गया है। ऋषि ग्राम में आने वाले मेहमान राजस्थानी संस्कृति से रूबरू होने के साथ राजस्थान के स्वादिष्ट व्यंजनों को चखने का आनंद ले सकेंगे। गैर व्यवसायिक गतिविधियों के अन्र्तगत ऋषि ग्राम का संचालन नो प्राॅफिट-नो लाॅस के आधार पर किया जायेगा।
आईआईएमटी विश्वविद्यालय, गंगानगर परिसर में मीडिया से बात करते हुए आईआईएमटी विश्वविद्यालय के चेयरमैन योगेश मोहनज गुप्ता ने कहा कि भारतीय संस्कृति में राजस्थान विशेष स्थान रखता है। लोगों को राजस्थान की संस्कृति और स्वादिष्ट व्यंजनों के स्वाद से परिचित कराने के लिये ही ऋषि ग्राम की परिकल्पना को साकार रूप दिया गया है।
इस अवसर पर आईआईएमटी विश्विद्यालय के वाइस चेयरमैन अभिनव अग्रवाल, विश्विद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मनोज कुमार मदान, स्कूल आॅफ होटल मैेनेजमेंट के डायरेक्टर प्रो. एसके तूर व सभी विभागों के डीन मौजूद रहे।

Must Read

आईआईएमटी ने भारतीय संस्कृति की तरफ बढाया कदम