Home Breaking News चीन के विरुद्ध हथियार बनेगा दवा उद्योग, यूपी के बुंदेलखंड में विकसित...

चीन के विरुद्ध हथियार बनेगा दवा उद्योग, यूपी के बुंदेलखंड में विकसित होगा बल्क ड्रग पार्क

उत्तर प्रदेश के झांसी में प्रस्तावित टॉय सिटी के बाद बुंदेलखंड की धरती से चीन को एक और चुनौती मिलने वाली है। सामरिक के साथ चीन के खिलाफ जारी आर्थिक मोर्चाबंदी में अब दवाओं को हथियार बनाने की तैयारी है। दवा उत्पादन के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से योगी सरकार बुंदेलखंड के ललितपुर जिले में 2060 एकड़ क्षेत्र में बल्क ड्रग पार्क विकसित करने की योजना को अमली जामा पहनाने जा रही है। अनुमान है कि चरणबद्ध तरीके से इस परियोजना में 24,000 करोड़ रुपये का निवेश होगा। इस महत्वाकांक्षी परियोजना से 31,000 लोगों को रोजी-रोटी मिलेगी और राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में 32,050 करोड़ रुपये की वृद्धि होगी।
चीन के विरुद्ध हथियार बनेगा दवा उद्योग, यूपी के बुंदेलखंड में विकसित होगा बल्क ड्रग पार्क
उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले प्रस्तावित बल्क ड्रग पार्क में 1100 एकड़ (53 प्रतिशत) क्षेत्र सिर्फ दवा उत्पादन इकाइयों के लिए होगा जिसमें एक्टिव फार्मास्यूटिकल इंग्रेडियंट्स (एपीआई) इकाइयां स्थापित की जाएंगी। एपीआई से तात्पर्य दवा में इस्तेमाल किये जाने वाले उन सक्रिय अवयवों से है जो उस दवा के प्रभाव और उसके जरिये बीमारियों की रोकथाम या उनके उपचार में सीधी भूमिका निभाते हैं। पार्क के शेष क्षेत्रफल में शोध और परीक्षण केंद्र, लॉजिस्टिक्स और वेयर हाउस, सामान्य सुविधाएं, ड्राई पोर्ट, सड़क व परिवहन, आवासीय सुविधाएं आदि विकसित की जाएंगी।

Must Read

चीन के विरुद्ध हथियार बनेगा दवा उद्योग, यूपी के बुंदेलखंड में विकसित होगा बल्क ड्रग पार्क