Tuesday, January 31, 2023
No menu items!

क्या आपकी जेब में रखा 500 का यह नोट नकली तो नहीं है? जानिए क्या कहता है (RBI) आरबीआई

Must Read

कनाडा में हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ और भारत विरोधी तस्वीरें बनाईं, भारत ने की कड़ी निंदा

नई दिल्ली। कनाडा में एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ और भारत विरोधी तस्वीरें बनाने की घटना सामने आई...

मुख्तार के करीबियों की दो करोड़ की संपत्ति कुर्क करने के निर्देश, करीबियों में हड़कंप

नरम पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी और उनसे जुड़े लोगों की मुश्किलें कम होती नजर नहीं आ रही हैं. ...
The Sabera Desk
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera
क्या आपकी जेब में रखा 500 का यह नोट नकली तो नहीं है? जानिए क्या कहता है (RBI) आरबीआई

500 रुपये का Note- Fact Check: देश में जारी कोरोना संकट के बीच फेक न्यूज का चलन भी बढ़ गया है। सोशल मीडिया पर ऐसे कई दावे किए जाते हैं, जिन्हें देखकर आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि यह सही है या गलत? सवाल उठना लाजिमी है, क्योंकि इंटरनेट क्रांति के इस दौर में सोशल मीडिया भी फेक न्यूज से भरा पड़ा है। इन दिनों सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें 500 के नोट नकली होने का दावा किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे मैसेज में 500 रुपये के दो नोटों में अंतर बताया जा रहा है। इनमें एक नोट को असली और दूसरे को नकली बताया जा रहा है।Read Also:-केंद्र सरकार देगी हर महीने 30,000 रुपये कमाने का मौका, कॉलेज की डिग्री की जरूरत नहीं, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का ऐलान

संदेश में यह भी चेतावनी दी जा रही है कि 500 ​​रुपये का ऐसा कोई नोट न लिया जाए, जिसमें हरी पट्टी आरबीआई गवर्नर के हस्ताक्षर के पास नहीं बल्कि गांधीजी की तस्वीर के पास हो। मैसेज में लोगों को गुमराह करने के लिए दोनों नोट दिखाए गए हैं। हालांकि, मैसेज फर्जी है और दोनों नोट वैध हैं। आरबीआई के मुताबिक 500 के दोनों नोट वैध हैं और इसे लेने से कोई मना नहीं कर सकता।

पीआईबी फैक्ट चेक से ट्वीट कर बताया गया है कि दोनों नोट असली हैं। आरबीआई के मुताबिक दोनों नोट वैध हैं। पीआईबी की ओर से यह भी कहा गया है कि कृपया इस तरह के भ्रामक संदेशों को शेयर न करें। आपको बता दें कि सरकार की ओर से बार-बार अपील की जा रही है कि जब तक आधिकारिक घोषणा न हो जाए तब तक फेक न्यूज पर विश्वास न करें।

इसके लिए पीआईबी की ओर से फैक्ट चेक भी शुरू कर दिया गया है। इसका मकसद लोगों को सही जानकारी देना और भ्रामक खबरों से सावधान करना है। प्रेस सूचना ब्यूरो (PIB) ने इंटरनेट पर प्रचलित गलत सूचनाओं और फर्जी खबरों पर अंकुश लगाने के लिए दिसंबर 2019 में इस तथ्य-जांच विंग की शुरुआत की। पीआईबी का उद्देश्य ‘विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्रसारित की जा रही सरकारी नीतियों और योजनाओं से संबंधित गलत सूचनाओं की पहचान करना’ है।

whatsapp gif

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

- Advertisement -क्या आपकी जेब में रखा 500 का यह नोट नकली तो नहीं है? जानिए क्या कहता है (RBI) आरबीआई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -क्या आपकी जेब में रखा 500 का यह नोट नकली तो नहीं है? जानिए क्या कहता है (RBI) आरबीआई
Latest News

कनाडा में हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ और भारत विरोधी तस्वीरें बनाईं, भारत ने की कड़ी निंदा

नई दिल्ली। कनाडा में एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ और भारत विरोधी तस्वीरें बनाने की घटना सामने आई...
- Advertisement -क्या आपकी जेब में रखा 500 का यह नोट नकली तो नहीं है? जानिए क्या कहता है (RBI) आरबीआई

More Articles Like This

- Advertisement -क्या आपकी जेब में रखा 500 का यह नोट नकली तो नहीं है? जानिए क्या कहता है (RBI) आरबीआई