Home Breaking News मेरठ-प्रयागराज: गंगा एक्सप्रेस-वे से उत्तर प्रदेश को ये 5 वरदान, पीएम मोदी ने बताया अब कैसे बदलेगी किस्मत

मेरठ-प्रयागराज: गंगा एक्सप्रेस-वे से उत्तर प्रदेश को ये 5 वरदान, पीएम मोदी ने बताया अब कैसे बदलेगी किस्मत

0
मेरठ-प्रयागराज: गंगा एक्सप्रेस-वे से उत्तर प्रदेश को ये 5 वरदान, पीएम मोदी ने बताया अब कैसे बदलेगी किस्मत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को शाहजहांपुर में गंगा एक्सप्रेस-वे की आधारशिला रखी। पीएम ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि इतने बड़े यूपी को चलाने के लिए जितनी ताकत और ताकत की जरूरत है। यह डबल इंजन सरकार इसे पूरा कर रही है। इतने बड़े उत्तर प्रदेश को चलाने के लिए जितनी ताकत चाहिए, उतनी जरूरत है। यह डबल इंजन सरकार इसे पूरा कर रही है। गंगा एक्सप्रेस-वे से खुलेगें उत्तर प्रदेश की तरक्की के दरवाजे।Read Also:-मेरठ: हापुड़ अड्डा चौराहे से जुड़ेगा दिल्ली एक्सप्रेस-वे, डेढ़ साल में बनकर तैयार होगा, होंगे 45 करोड़ रुपये खर्च

पीएम मोदी ने कहा कि पहले बेटियों की सुरक्षा को लेकर रोज सवाल उठते थे, उनके स्कूल ने कॉलेज जाना भी मुश्किल कर दिया था। कब और कहां दंगे और आगजनी हो जाए, यह कोई नहीं कह सकता। लेकिन पिछले साढ़े चार साल में योगी जी की सरकार ने स्थिति को सुधारने के लिए काफी मेहनत की है। हालात बदल गए हैं।

पीएम मोदी के भाषण की 5 बड़ी बातें

  • योगी+यूपी बहुत उपयोगी है
  • मोदी+योगी भी उत्तर प्रदेश के लिए उपयोगी
  • पहले सड़क पर बंदूकें लहराने वाले दिखाई देते थे, अब उन पर बुलडोजर दौड़ते हैं।
  • अयोध्या, मथुरा, काशी का विकास और गंगा की सफाई विपक्ष को रास नहीं आ रही है.
  • पहले लड़कियां सुरक्षित नहीं थीं, जब भी दंगे होते थे तो आग लग जाती थी। अब स्थिति बदल गई है।
whatsapp gif

अपडेट

  • सरकार बनने से पहले पश्चिम उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था की स्थिति बहुत खराब थी। पश्चिमी यूपी में सूरज ढलते ही सड़क पर कट्टा लहराते लोग नजर आते थे।
  • हमारे यहां कुछ राजनीतिक दल हैं, जिन्हें देश के विकास से समस्या है। उन्हें अपने वोट बैंक की ज्यादा चिंता है। उन्हें काशी के विकास से दिक्कत है। अयोध्या के विकास में समस्या है। गंगा की सफाई में दिक्कत आ रही है। इससे पहले बेटियों की सुरक्षा पर सवाल उठाए गए थे। उनके परिवार को व्यापारियों की चिंता सता रही थी। कब दंगा होगा, कहां आग लगेगी, कुछ पता नहीं था। लेकिन आज ऐसा नहीं है।
  • हाल ही में हमारी सरकार ने गरीबों के लिए पक्के मकानों के निर्माण के लिए 2 लाख करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। आज गरीबों के दर्द को समझने वाली और गरीबों की मदद करने वाली सरकार बनी है। विकास के ऐसे कार्य गरीब, दलित, पिछड़े का जीवन बदल देते हैं।
  • काकोरी से क्रांति का प्रकाश जगाने वाले राम प्रसाद बिस्मिल अशफाक उल्लाह खां को मैं नमन करता हूं। इस मिट्टी को अपने माथे पर लगाने का सौभाग्य मुझे प्राप्त हुआ है।
  • मित्रों के सहयोग से कल पंडित राम प्रसाद बिस्मिल, अशफाक और रोशन का बलिदान दिवस है। उन्हें 19 दिसंबर को फांसी दी गई थी। उनका हम पर बहुत बड़ा कर्ज है।
  • उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे पर आज से काम शुरू हो रहा है. राम चरित मानस में कहा गया है कि मां गंगा सभी शुभ और प्रगति का सुख देती हैं। और सामाजिक पीड़ा हावी हो जाती है।
  • गंगा एक्सप्रेस-वे खुलेगा यूपी की तरक्की के दरवाजे।
  • डबल इंजन सरकार में यूपी की ताकत बढ़ती जा रही है।
  • 21वीं सदी में हाई-स्पीड कनेक्टिविटी बहुत जरूरी है। एयरपोर्ट को इस एक्सप्रेस-वे से जोड़ा जाएगा, मेट्रो को जोड़ा जाएगा।
  • हम सबका साथ, सबका के विकास के लिए यूपी में तहे दिल से काम कर रहे हैं।
  • पहले इस तरह की परियोजनाओं को कागजों पर शुरू किया जाता था ताकि वे लोग अपना खजाना भर सकें।
  • हमारी सरकार दिन रात गरीबों के लिए काम करती है। मेरी सरकार ने 30 लाख गरीबों को घर दिया है.

36 हजार करोड़ की लागत से बनने वाला यह एक्सप्रेस-वे पश्चिमी उत्तर प्रदेश को पूर्वांचल से जोड़ेगा। यह मेरठ से 12 जिलों से गुजरते हुए प्रयागराज पर खत्म होगा। इसके जरिए मेरठ से प्रयागराज तक की दूरी 8-9 घंटे में पूरी कर साढ़े छह घंटे में पूरी की जाएगी।

गंगा एक्सप्रेसवे का राजनीतिक अर्थ
इस एक्सप्रेस-वे से 12 जिलों की 76 विधानसभा सीटें प्रभावित होंगी। इन 76 सीटों में से 55 पर बीजेपी का कब्जा है। जबकि 9 सीटें सपा के पास और 4 सीटें बसपा के पास हैं। 3 कांग्रेस के पास हैं और 5 अन्य।

  • पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसान आंदोलन से बीजेपी बैकफुट पर है। तीन कृषि कानूनों को वापस लेकर केंद्र सरकार ने राजनीतिक समीकरण सुधारने की कोशिश जरूर की है, लेकिन जानकारों का मानना ​​है कि इसके बाद भी पश्चिमी यूपी की 136 सीटों में से 60 से ज्यादा सीटों पर असर पड़ेगा।
  • बीजेपी पश्चिमी उत्तर प्रदेश मको साधने के साथ-साथ इस हाईवे से पूर्वांचल को भी साधने की कोशिस कर रही है। योगी के आने के बाद से पूर्वांचल में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। जिसमें गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे, प्रयागराज लिंक एक्सप्रेसवे और गंगा एक्सप्रेसवे हैं। भले ही बाकी काम पूरे नहीं हुए हैं, लेकिन अगर योगी लौटते हैं तो संभावना है कि बाकि का काम भी पूरा हो जाएगा। ऐसे में बीजेपी को फायदा मिल सकता है।
dr vinit new

पश्चिमी उत्तर प्रदेश से पूर्वांचल और दिल्ली से बिहार का सफर होगा आसान
पश्चिमी उत्तर प्रदेश में रहने वालों के लिए पूर्वांचल का सफर आसान होगा। इसके अलावा पूर्वांचल के लोग नोएडा और दिल्ली जैसे शहरों में भी रहते हैं। जिन्हें अब कम समय में अपने घर पहुंचने की सुविधा होगी।

एक्सप्रेस-वे की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) के मुताबिक एक्सप्रेस-वे मेरठ के बिजौली गांव से मेरठ-बुलंदशहर रोड (एनएच-334) पर शुरू होगा। प्रयागराज बाईपास (एनएच-19) पर प्रयागराज के जुदापुर दांडू गांव के पास समाप्त होगा। दिल्ली से बिहार तक का सफर करीब 11 घंटे में पूरा किया जा सकेगा। इसके लिए करीब 7386 हेक्टेयर भूमि की जरूरत है। अब तक 82,750 किसानों से 94 प्रतिशत भूमि की खरीद हुई है।

news shorts

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here