Home Breaking News मेरठ: चुनावी रंजिश में किसान को फावड़े से काटा, हत्या के बाद...

मेरठ: चुनावी रंजिश में किसान को फावड़े से काटा, हत्या के बाद भाग रहे आरोपी भाइयों को भीड़ ने पकड़कर पीटा, वोट नहीं देने पर 3 महीने पहले मारने की घोषणा की थी

मेरठ: चुनावी रंजिश में किसान को फावड़े से काटा, हत्या के बाद भाग रहे आरोपी भाइयों को भीड़ ने पकड़कर पीटा, वोट नहीं देने पर 3 महीने पहले मारने की घोषणा की थी

मेरठ में 60 वर्षीय किसान अख्तर की फावड़े से काटकर हत्या कर दी गई। इस दौरान दो आरोपियों को लोगों ने पकड़ लिया और उनकी जमकर पिटाई की. आखिरी मौके पर पुलिस ने गांव पहुंचकर किसी तरह स्थिति को संभाला। इस दौरान मृतक पक्ष के लोग पुलिस से भिड़ गए। पुलिस ने हाथापाई के बाद शव को कब्जे में ले लिया। मृतक पक्ष के लोगों ने हत्या के बदले हत्या का ऐलान किया है. यह पूरा मामला भवनपुर इलाके का है. पुलिस की शुरुआती जांच में चुनावी रंजिश का मामला सामने आया है। इलाके में तनाव है। पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है। पुलिस ने मुख्य आरोपी व उसके भाई को गिरफ्तार कर लिया है।

हत्या के बाद थाने पर जमा मृतक पक्ष के लोग।

अख्तर गांव के बाहर प्राइमरी स्कूल के पास बैठा था.
भवनपुर क्षेत्र के मोरना निवासी अख्तर अहमद (60 वर्ष) खेती करता था। शुक्रवार रात नौ बजे वह गांव से 400 मीटर दूर प्राथमिक विद्यालय के पास बैठा था। तब गांव में रहने वाले प्रदीप त्यागी अपने दो भाइयों के साथ मौके पर पहुँचा। प्रदीप त्यागी ने प्रधानी चुनाव में अपनी हार के लिए अख्तर को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि हार उनकी वजह से वो चुनाव हार गया। तीन महीने पहले (मई में) घोषणा की थी कि वह अब तुम्हें जिंदा नहीं छोड़ेगे , अब तेरा समय आ गया है। जिसके बाद प्रदीप त्यागी ने अख्तर को फावड़े से मरना शुरू कर दिया।

हमले में अख्तर घायल हो गया। खून से लथपथ अख्तर बीच सड़क पर पड़ा था। लोग घायल अख्तर को भवनपुर के अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

भीड़ ने हत्यारे व उसके भाई को पकड़कर पीटा
अख्तर अहमद की हत्या के बाद मुख्य आरोपी प्रदीप त्यागी अपने भाई राजू के साथ भागने लगा। जिसके पास मुस्लिम समुदाय के लोगों ने गांव के बाहर प्रदीप त्यागी और उसके भाई राजू को पकड़ लिया. दोनों की जमकर पिटाई की गई और यहां नारे लगाते हुए लोगों ने कहा कि वे हत्या का बदला हत्या से लेंगे. तभी सीओ सदर देहात पूनम सिरोही, निरीक्षक भवनपुर नीरज मलिक बल के साथ गांव पहुंचे और पुलिस ने किसी तरह हत्यारे प्रदीप त्यागी और उसके भाई राजू को भीड़ से छुड़ाया. पुलिस ने दोनों को हिरासत में लेकर दूसरे थाने भेज दिया। मृतक अख्तर की पत्नी नसीमा की शिकायत पर प्रदीप त्यागी, उसके भाई राजू और संदीप के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है. जिसमें पुलिस ने प्रदीप और उसके भाई राजू को गिरफ्तार कर लिया है।

हत्या से बदला लिया हार का
अख्तर अहमद की हत्या के बाद से गांव में सांप्रदायिक तनाव का माहौल है. तनाव को देखते हुए भवनपुर पुलिस के अलावा अन्य थानों से गांव में फोर्स तैनात कर दी गई है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी और एसपी देहात केशव कुमार भी गांव पहुंचे और घटना की जांच की.
अख्तर अहमद की पत्नी नसीमा ने पुलिस को बताया कि प्रदीप त्यागी ने चार महीने पहले गांव के मुखिया का चुनाव लड़ा था. जिसमें प्रदीप अपने भाइयों के साथ वोट मांगने आया था। लेकिन वह चुनाव हार गए और तब से धमकी दे रहे थे कि अख्तर और तुम्हारे परिवार ने हमें वोट नहीं दिया, एक दिन तुम्हें मार डालेंगे।

एसपी बोले- कानूनी कार्रवाई चल रही है
एसपी देहात केशव कुमार का कहना है कि 60 वर्षीय व्यक्ति की हत्या कर दी गई है. पुलिस चुनावी रंजिश को लेकर भी जांच कर रही है। मामला दर्ज कर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस आगे की कानूनी कार्रवाई कर रही है।

मेरठ: चुनावी रंजिश में किसान को फावड़े से काटा, हत्या के बाद भाग रहे आरोपी भाइयों को भीड़ ने पकड़कर पीटा, वोट नहीं देने पर 3 महीने पहले मारने की घोषणा की थी
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera

Must Read

मेरठ: चुनावी रंजिश में किसान को फावड़े से काटा, हत्या के बाद भाग रहे आरोपी भाइयों को भीड़ ने पकड़कर पीटा, वोट नहीं देने पर 3 महीने पहले मारने की घोषणा की थी