अब का-बा-1 सुनिये मासूम बच्ची की आवाज में: पहले गाने से भी आगे निकला, बोलीं नेहा राठौर- दबाकर दिखाइये इस आवाज़ को! है हिम्मत! सच को झुठलाना इतना भी आसान नहीं होता।

0
474
अब का-बा-1 सुनिये मासूम बच्ची की आवाज में: पहले गाने से भी आगे निकला, बोलीं नेहा राठौर- दबाकर दिखाइये इस आवाज़ को! है हिम्मत! सच को झुठलाना इतना भी आसान नहीं होता।

यूपी में ‘का-बा’ की जंग में सबसे भारी 3 साल की मासूम बच्ची साबित हो रही है। सिंगर नेहा राठौर की ‘यूपी में का बा’ पार्ट वन को एक खूबसूरत बच्ची गाती नजर आ रही है। ये वीडियो सोशल मीडिया पर जबरदस्त हिट हो रहा है।Read Also:-टीवी एक्ट्रेस श्वेता तिवारी को अपने ब्रा वाले बयान पर हुआ गलती का अहसास, मांगी माफी, बोलीं- मुझे खेद है कि लोगों ने गलत समझा

गायिका नेहा राठौर ने ‘यूपी में का-बा’ के पार्ट वन में लखीमपुर की घटना से लेकर कोविड के दौरान गंगा में शव बहाने तक का जिक्र किया था। यूपी में का-बा के गाने सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हुए। वीडियो में ये लड़की भी यही गाने को गाती नजर आ रही है। साड़ी का पल्लू भी नेहा की तरह ही लड़की ने किया है। नेहा के अंदाज में बच्ची की ये प्यारी सी तोतली आवाज लोगों को खूब पसंद आ रही है।

यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले राज्य की सियासी जंग दिलचस्प होती जा रही है। इस लड़ाई में भोजपुरी गाने की एंट्री के बाद एक अलग ही लड़ाई नजर आने लगी है। दरअसल, कुछ दिनों पहले बीजेपी सांसद और भोजपुरी फिल्म स्टार रवि किशन का गाना ‘यूपी में सब बा’ सीएम योगी आदित्यनाथ ने रिलीज किया था।

इसके जवाब में भोजपुरी सिंगर नेहा सिंह राठौर ने ‘यूपी में का बा’ गाना रिलीज कर राज्य सरकार पर हमला बोला है। नेहा राठौर ने अपने गाने में राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए लखीमपुर खीरी कांड, हाथरस की घटना जैसी घटनाओं का जिक्र किया है। गाने को यूट्यूब और ट्विटर पर पोस्ट किया गया था। नेहा का ये गाना रवि किशन की ‘यूपी में सब बा’ के एक दिन बाद रिलीज हुआ है.

पार्ट टू लॉन्च किया गया है। इसमें वह गन्ना किसानों, खुले में घूम रहे सांड, दलित और रेप जैसे मामलों में लिप्त नेताओं पर कटाक्ष करती नजर आ रही हैं। इससे पहले उन्होंने ‘यूपी में का बा’ का पार्ट वन भी लॉन्च किया था।

वहीं रवि किशन के गाने ‘जे कब्बो ना रहल अब बा, यूपी में सब बा। यह गाना यूपी की उपलब्धियों के बारे में बताता है। इस गीत में उर्वरक, गोरखपुर एम्स, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, माफिया के खिलाफ कार्रवाई, गरीबों को राशन जैसी सरकारी योजनाओं जैसी उपलब्धियों का भी जिक्र है। अयोध्या राम मंदिर और काशी कॉरिडोर भी इस गाने का हिस्सा हैं। गायक रवि किशन भी भगवा पहने अपने अंदाज में हर हर महादेव करते नजर आ रहे हैं।

खुद ही अपने गाने लखती है और बिना किसी तामझाम के गति हैं
नेहा सिंह राठौर एक ऐसी लोक गायिका हैं जो राजनीतिक व्यंग्य गायन के लिए प्रसिद्ध रही हैं। यूपी में का बा गाने से पहले उनका गाना बिहार विधानसभा चुनाव के वक्त आया था। फिर उन्होंने ‘बिहार में का बा’ गाकर तहलका मचा दिया। बिहार में का बा, गीत में उन्होंने गाया था, ‘कोरोना से बीमार बा, बाढ़ से बदहाल बा, भरी जवानी में मंगरुवा चलत ठेगुरवा चाल बा… का बा।’

उन्होंने यूपी चुनाव से पहले ‘जुमलेबाज रजऊ’ गाना भी गाया था। उन्होंने बेरोजगारी और छात्र संघ चुनाव जैसे सामयिक मुद्दों पर गीत भी गाए हैं। वह बिहार के पारंपरिक लोक गीत भी गाती हैं, लेकिन उनकी मुख्य पहचान व्यंग्य गीत गाने से है। वह अपने व्यंग्य गीत खुद लिखती हैं और बिना किसी संगत के इसे गाती हैं। कभी-कभी एक ही ढोलक संगत दे रहा होता है। यूपी चुनाव में काबा के दो हिस्से हैं।

whatsapp gif

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here