Home Breaking News महंगी कारों और शराब के साथ रिश्वत लेने वाले अफसर: लॉक रूम...

महंगी कारों और शराब के साथ रिश्वत लेने वाले अफसर: लॉक रूम से मिले सोने-चांदी के जेवर और हीरे के सेट, घर में खड़ी थीं महंगी गाड़ियां, नोट गिनने के लिए लगवानी पड़ी मशीनें

महंगी कारों और शराब के साथ रिश्वत लेने वाले अफसर: लॉक रूम से मिले सोने-चांदी के जेवर और हीरे के सेट, घर में खड़ी थीं महंगी गाड़ियां, नोट गिनने के लिए लगवानी पड़ी मशीनें

राज्य में भ्रष्टाचार करने वाले अधिकारियों के खिलाफ एसीबी लगातार कार्रवाई कर रही है. इन रिश्वतखोरी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई तो एक बार एसीबी के अधिकारी भी हैरान रह गए। उनके लॉकर रूम से करोड़ों रुपये के जेवर व लाखों रुपये की महंगी शराब बरामद हुई है. नौकरशाही के अलावा उन्हें लग्जरी लाइफ जीने का भी शौक था। घर में विदेशी महंगी शराब की बोतलें मिलीं। इन रिश्वत लेने वालों के घरों में इतनी नकदी मिली कि नोट गिनने के लिए मशीनों को मंगवाना पड़ा।

जानकारी के मुताबिक एसीबी के डीजी बीएल सोनी और एडीजी दिनेश एमएम के निर्देशन में ट्रैप की कार्रवाई भी दोगुनी हो गई है. 1 जनवरी से 31 जुलाई 2020 तक एसीबी ने 149 मामले दर्ज किए थे, जिनमें 128 ट्रैप थे। इसके अलावा आय से अधिक संपत्ति के खिलाफ दर्ज मामले में 2 और पद के दुरुपयोग के खिलाफ 19 कार्रवाई का मामला दर्ज किया गया है. वहीं 31 जुलाई 2021 तक एसीबी में 291 मामले दर्ज हो चुके हैं, जिसमें 262 रिश्वत लेने वाले फंस चुके हैं. इसके अलावा आय से अधिक संपत्ति के 12 मामले दर्ज कर कार्रवाई की गयी. पद के दुरुपयोग के 17 मामले दर्ज किए गए हैं।

महंगी कारों और शराब के साथ रिश्वत लेने वाले अफसर: लॉक रूम से मिले सोने-चांदी के जेवर और हीरे के सेट, घर में खड़ी थीं महंगी गाड़ियां, नोट गिनने के लिए लगवानी पड़ी मशीनें

इस साल जुलाई में 51 ट्रैप कार्रवाई, पिछले जुलाई के मुकाबले 8 और ट्रैप
डीजी बीएल सोनी के मुताबिक पिछले जुलाई माह में एसीबी ने 51 ट्रैप कार्रवाई करते हुए मामले दर्ज किए थे. इसके अलावा आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया गया था। पद के दुरूपयोग के 3 मामले दर्ज किए गए। साथ ही मुख्यालय ने 57 प्रकरणों का निस्तारण मात्र 31 दिन में करने का आदेश दिया है। 31 मामलों की जांच पूरी करने के बाद रिपोर्ट कोर्ट में पेश की गई है. इस साल जुलाई 2020 से इस साल जुलाई तक की तुलना में पिछले साल 43 मामले दर्ज किए गए थे।

स साल पूरी हुई 388 मामलों की जांच
वर्ष 2021 में अब तक 388 मामलों में एसीबी मुख्यालय स्तर पर शोध कार्य पूरा करने का निर्णय लिया गया है, जबकि पिछले वर्ष इसी अवधि में 118 मामले आए थे। पूरी प्रक्रिया के बाद इस साल अब तक 174 मामलों में परिणाम कोर्ट में पेश किया गया है. पिछले साल इसी अवधि में 110 मामलों में नतीजे सामने आए थे। वर्ष 2021 में अब तक 266 शिकायतों व 29 प्रारंभिक जांचों का निस्तारण किया जा चुका है। पिछले वर्ष इसी अवधि में 19 शिकायतों और 5 प्रारंभिक जांचों का निपटारा किया गया था।

जुलाई में इन तीन अफसरों के यहां सर्च कार्रवाई में महंगे जेवरात के साथ ही लाखों रुपए का कैश और महंगी गाड़ियां मिली। फाइल फोटो।

इन मामलों से समझिए कि किस तरह रिश्वतखोरी करने वाले अफसर महंगी कारों और शराब के शौकीन हैं
एसीबी ने एक जुलाई को आय से अधिक संपत्ति के मामले में तीन अधिकारियों के कई जिलों में 14 जगहों पर छापेमारी की थी. जिसमें एसीबी की टीम को जयपुर में एक्स.एन. निर्मल गोयल के तीन लॉकरों में 5.55 लाख रुपये, 1.385 किलो सोना, 6 लाख का हीरा सेट, 1.40 लाख रुपये की चांदी मिली. पहले लॉकर से 32.50 लाख मूल्य का 650 ग्राम सोना, 1.35 लाख मूल्य की दो किलो चांदी मिली। दूसरे लॉकर से दो लाख रुपए नकद, 3.55 लाख हीरे का सेट मिला है। तीसरे लॉकर से 3.55 लाख रुपये, 36 लाख रुपये का 735 ग्राम सोना, 2 लाख 40 हजार रुपये के हीरे के सेट और 100 ग्राम चांदी बरामद हुई है. जय क्लब की तलाशी के दौरान झालाना क्लब की सदस्यता, खर्च की रसीद, यूरोप और अमेरिका की विदेश यात्राओं के सबूत, एक एनफील्ड मोटरसाइकिल, दो ट्रैक्टर भी मिले। एक दिन पहले भी उसके घर से 23 बोतल महंगी शराब, 2000 डॉलर की विदेशी मुद्रा और 245 यूरी, 2 लाख 27 हजार 790 रुपये नकद, दो लग्जरी कारें मिली थीं. जयपुर के सुमेर नगर में 1100 गज के 2 प्लॉट, एक लग्जरी कार, 1.60 लाख नकद, 323.8 ग्राम सोना और 4.4 किलो चांदी मिली है.

  • डीटीओ मनीष शर्मा के घर से पत्नी के नाम 4 लग्जरी बसों के कागजात मिले। चित्तौड़गढ़ में उनके फ्लैट की तलाशी के दौरान 99,500 रुपये नकद, एक एनफील्ड बाइक, हुंडई क्रेटा कार, विदेश यात्राओं से संबंधित दस्तावेज, लैपटॉप, कैमरा, एप्पल फोन आदि बरामद किए गए।

वहीं, जोधपुर में पुलिस निरीक्षक प्रदीप शर्मा के लॉकर की तलाशी में 11 लाख रुपये मूल्य का 200 ग्राम सोना मिला.

एसीबी ने 29 जुलाई को भरतपुर में क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी हंसराम कसाना को 1.60 लाख रुपये के साथ पकड़ा था. उसके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया गया था। मालवीय नगर जयपुर में उनके विला की तलाशी ली गई। जिसमें 40 लाख रुपये नकद, 6 करोड़ से अधिक के लेन-देन और करोड़ों रुपये की मूल्यवान संपत्ति के दस्तावेज मिले।

महंगी कारों और शराब के साथ रिश्वत लेने वाले अफसर: लॉक रूम से मिले सोने-चांदी के जेवर और हीरे के सेट, घर में खड़ी थीं महंगी गाड़ियां, नोट गिनने के लिए लगवानी पड़ी मशीनें

जुलाई माह में 10 बड़े ट्रैप की कार्रवाई आईआरएस से लेकर कई अफसर व यूपी के एसआई भी फंसे

  1. रंजन शर्मा, पार्षद पति एवं नीतू मिश्रा, पार्षद वार्ड नं. 41 नगर निगम अजमेर, किशन खंडेलवाल, देवेन्द्र सिंह जादौन प्राईवेट व्यक्तियों को परिवादी से उसकी पुश्तैनी भूमि का भू परिवर्तन करने की ऐवज में 2,00,000/- रूपये रिश्वत लेते हुए 07-07-2021 को रंगे हाथों गिरफ्तार किए गए।
  1. आरोपी सज्जन सिंह गुर्जर, कनिष्ठ लेखाकार, राजस्थान लोक सेवा आयोग, अजमेर को आर.ए. एस। परीक्षा 2018 साक्षात्कार में अच्छे अंक प्राप्त करने के क्रम में 22 लाख रुपये के नकली नोटों के साथ 1 लाख रुपये के नोटों को 09-07-2021 को कुल 23 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया था।
  1. आरोपी विक्रम सिंह जिला प्रबंधक, श्रम कल्याण अधिकारी चुरू के मोहम्मद आरिफ खान, अनुबंधित वाहन चालक, श्रम विभाग, चुरू ने अपने भाई की मौत पर दावा पेश करने के लिए शिकायतकर्ता से 1 लाख रुपये की रिश्वत चैक से लेते हुए 12-07 को रंगेहाथ गिरफ्तार किया 2021 में।
  1. आरोपी डॉ. शशांक यादव (आईआरएस) महाप्रबंधक, अफीम के खिलाफ अफीम का प्रतिशत बढ़ाने और अफीम का प्रतिशत बढ़ाने के नाम पर किसानों से रिश्वत की सूचना पर 17-07-2021 को आकस्मिक जांच कारखाना, गाजीपुर, उत्तर प्रदेश। 16 लाख 32 हजार 410 रुपए बरामद हुए, जिसे गिरफ्तार कर लिया गया।
  1. आरोपी रमेश सिंह, सहायक कार्यपालक अभियंता (ब्रिज लाइन), कार्यालय उप मुख्य अभियंता, आगरा शहर उत्तर मध्य रेलवे, आगरा ने अंडरपास निर्माण कार्यों के बकाया बिलों का भुगतान करने के लिए शिकायतकर्ता से डेढ़ लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए. , 18-07- 2021 में रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया।
  1. आरोपी प्रेमपाल सिंह, उप पुलिस निरीक्षक, थाना मघोरा, जिला मथुरा (उ.प्र.) को 25-07-2021 को रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया। चला गया।
  1. आरोपी अजीत कुमार जांगिड़, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग, शाहपुरा, जयपुर एवं अन्य को 27-07-2021 को शिकायतकर्ता से बयाना राशि वापस करने के एवज में 30,000/- रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया।
  1. आरोपी दुर्गा लाल जाट, अध्यक्ष, टोंक जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड टोंक एवं दयाल चौधरी निजी व्यक्ति को परिवादी से दूध सप्लाई का ठेका अवधि बढाने की ऐवज में 2,00,000/- रुपए रिश्वत लेते हुए 27-07-2021 को रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।
  1. आरोपी सोहन लाल, सहायक अभियंता जल स्वागत एवं भूमि संरक्षण, पंचायत समिति, धोरीमन्ना, उप. प्रभारी सहायक अभियंता, पंचायत समिति, गुधमलानी एवं विकास अधिकारी, पंचायत समिति पयाला कला, जिला बाड़मेर को परिवादी से उसकी सिक्यूरिटी राशि लौटाने की ऐवज में 5,00,000/- रुपए रिश्वत लेते हुए 28-07-2021 को रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।
  1. आरआरएएस भर्ती परीक्षा 2018 में साक्षात्कार में अच्छे अंक नहीं लाने पर ली गई रिश्वत की राशि लौटाने पर औचक निरीक्षण के दौरान आरोपी जोगाराम प्राचार्य शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पनवाड़ा, पंचायत समिति बैतू जिला बाड़मेर, ठकराराम व किशनाराम को 28 को 19,95,000/- रुपए बरामद कर 28-07-2021 को रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया।
महंगी कारों और शराब के साथ रिश्वत लेने वाले अफसर: लॉक रूम से मिले सोने-चांदी के जेवर और हीरे के सेट, घर में खड़ी थीं महंगी गाड़ियां, नोट गिनने के लिए लगवानी पड़ी मशीनें
महंगी कारों और शराब के साथ रिश्वत लेने वाले अफसर: लॉक रूम से मिले सोने-चांदी के जेवर और हीरे के सेट, घर में खड़ी थीं महंगी गाड़ियां, नोट गिनने के लिए लगवानी पड़ी मशीनें
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera

Must Read

महंगी कारों और शराब के साथ रिश्वत लेने वाले अफसर: लॉक रूम से मिले सोने-चांदी के जेवर और हीरे के सेट, घर में खड़ी थीं महंगी गाड़ियां, नोट गिनने के लिए लगवानी पड़ी मशीनें