Home Breaking News मेरठ में Oxygen का संकट गहराया, कई प्लांटों में इस वजह से...

मेरठ में Oxygen का संकट गहराया, कई प्लांटों में इस वजह से उत्पादन हुआ बंद

कोरोना संक्रमण से कराहते मेरठ में आक्सीजन संकट खड़ा हो गया है। कोविड अस्पतालों में सिलेंडर खत्म हो रहे हैं। जिले में स्थित सात में पांच स्टोरेज प्लांटों को तरल आक्सीजन यानी कच्चा माल न मिलने की वजह से बंद करना पड़ा है। जिला प्रशासन ने गैस कंपनियों को निर्बाध आक्सीजन आपूर्ति करने के लिए कहा है। औद्योगिक आक्सीजन को रोक दिया गया है। सिर्फ अस्पतालों में आक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। जिले के अस्पतालों में रोजाना चार हजार सिलेंडरों की खपत है। सौ से ज्यादा लोग घरों में आक्सीजन सिलेंडर लेकर इलाज कर रहे हैं।मेरठ में Oxygen का संकट गहराया, कई प्लांटों में इस वजह से उत्पादन हुआ बंदपरतापुर में उद्योगपुरम में स्थित आक्सीजन स्टोरेज प्लांट में बड़ी संख्या में सिलेंडर रखे हुए हैं। उद्योग से जुड़े लोगों ने बताया कि तरल आक्सीजन को कच्चे माल के रूप में मंगवाकर विशेष प्रोसेस से मेडिकल आक्सीजन बनाई जाती है, जो 95 फीसद तक शुद्ध होती है। तरल आक्सीजन गाजियाबाद, मोदीनगर, नोएडा, रुड़की, काशीपुर, और पानीपत से मंगाई जाती है, जिसे गैस में बदल लिया जाता है लेकिन इसकी उपलब्धता घटने से पांच स्टोरेज प्लांटों को बंद करना पड़ गया है। एक स्टोरेज प्लांट से रोजाना करीब 1500 सिलेंडर भरे जाते हैं। अग्रवाल गैस मेसर्स के विशाल अग्रवाल बताते हैं कि पहले माहभर में उद्योग और मेडिकल मिलाकर करीब 40 हजार सिलेंडरों की मांग थी, जो अब चार गुना है। इंडस्ट्री की आपूर्ति माहभर के लिए रोकी गई है।

Must Read

मेरठ में Oxygen का संकट गहराया, कई प्लांटों में इस वजह से उत्पादन हुआ बंद