Home Breaking News हाईकोर्ट के फैसले से फिर बढ़ी आरक्षण की बैचेनी

हाईकोर्ट के फैसले से फिर बढ़ी आरक्षण की बैचेनी

हाईकोर्ट के आदेश के बाद एक बार फिर जिले की ग्राम पंचायतों में आरक्षण को लेकर बैचेनी बढ़ गई है। एक तरफ जहां 15 मार्च को पंचायत चुनाव की अंतिम आरक्षण सूची पर मुहर लगनी थी। वही, दूसरी ओर हाईकोर्ट के 2015 के शासनादेश से आरक्षण सूची को लागू करने के फैसले से उन दावेदारों के चेहरे खिल उठे हैं, जो मायूस हो गए थे। अब एक बार फिर सभी की नजरें आरक्षण सूची पर लग गई हैं। हालांकि, अभी जिलास्तरीय अधिकारियों को शासन के शासनादेश का इंतजार है।हाईकोर्ट के फैसले से फिर बढ़ी आरक्षण की बैचेनीबताया जा रहा है कि होली से पहले 27 मार्च तक आरक्षण सूची को फाइनल करना होगा। इसके लिए अब एक बार फिर प्रशासनिक स्तर पर कड़ी मशक्कत करनी होगी। दोबारा से जिले की 479 ग्राम पंचायतों का आरक्षण नए सिरे से करना होगा। इसके लिए बीडीओ को प्रशिक्षण सहित अन्य सभी कार्य करने होंगे। इसमें जिला पंचायत अध्यक्ष, जिला पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान आदि का आरक्षण करना होगा।

Must Read

हाईकोर्ट के फैसले से फिर बढ़ी आरक्षण की बैचेनी