Home Breaking News 1 सितंबर बदलेगें नियम: 1 सितंबर से बदल रहे हैं आधार-पीएफ, एलपीजी,...

1 सितंबर बदलेगें नियम: 1 सितंबर से बदल रहे हैं आधार-पीएफ, एलपीजी, जीएसटी से जुड़े कई नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर

1 सितंबर बदलेगें नियम: 1 सितंबर से बदल रहे हैं आधार-पीएफ, एलपीजी, जीएसटी से जुड़े कई नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर

1 सितंबर बदलेंगे नियम: हर महीने की शुरुआत में कई नियम बदल जाते हैं। जिसका असर हमारी दिनचर्या पर भी पड़ता है। अगले महीने यानी 1 सितंबर से आधार-पीएफ, जीएसटी, एलपीजी, चेक क्लीयरेंस समेत कई नियम बदल रहे हैं. जिसका असर हम पर और आपकी रोजमर्रा की जिंदगी के साथ-साथ आपकी जेब पर भी पड़ने वाला है। आइए जानते हैं कि 1 सितंबर से कौन-कौन से बदलाव होने जा रहे हैं।Read Also:-अब भारत (BH-Series) में होगा गाड़ी का रजिस्ट्रेशन, किसी भी राज्य में अपनी गाड़ी से सफर करना होगा आसान

whatsapp gif
advt

आधार कार्ड- पीएफ लिंक
कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने सामाजिक सुरक्षा संहिता की धारा 142, के नियमों में संशोधन किया है। जिसके चलते अब आधार कार्ड और पीएफ अकाउंट को लिंक करना अनिवार्य हो गया है। अगर आप आधार कार्ड को पीएफ खाते से नहीं जोड़ते हैं, तो 1 सितंबर से आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

ortho

LPG प्राइस
कंपनियां 1 सितंबर से एलपीजी की कीमतों में बदलाव कर सकती हैं। जुलाई महीने में एलपीजी सिलेंडर के दाम में 25.50 रुपये और अगस्त में 25 रुपये की बढ़ोतरी की गई थी। .

devanant hospital

जीएसटी आर-1
जीएसटीएन, जो माल और सेवा कर (जीएसटी) के लिए प्रौद्योगिकी सुविधाओं का प्रबंधन करता है, ने करदाताओं को जारी एक सलाह में कहा है कि केंद्रीय जीएसटी नियमों के तहत नियम -59 (6) 1 सितंबर, 2021 से लागू होगा। यह नियम GSTR-1 दाखिल करने में प्रतिबंध का प्रावधान करता है।

dr vinit new

नियमों के अनुसार, यदि किसी पंजीकृत डीलर ने पिछले दो महीनों के दौरान फॉर्म GSTR-3B में रिटर्न दाखिल नहीं किया है, तो ऐसे पंजीकृत व्यक्ति को फॉर्म GSTR-1 में माल या सेवाओं या दोनों की आपूर्ति का विवरण दाखिल करने की अनुमति नहीं होगी। . त्रैमासिक रिटर्न दाखिल करने वाले व्यवसाय, यदि उन्होंने पिछली कर अवधि के दौरान फॉर्म GSTR-3B में रिटर्न दाखिल नहीं किया है, तो उन्हें GSTR-1 दाखिल करने से भी रोक दिया जाएगा।

पंजाब

एक्सिस बैंक चेक क्लीयरेंस
भारतीय रिजर्व बैंक ने वर्ष 2020 में चेक निकासी के लिए नई सकारात्मक वेतन प्रणाली अधिसूचित की थी। यह 1 जनवरी 2021 से लागू हो गया है। कई बैंकों ने पहले ही इस प्रणाली को लागू कर दिया था। लेकिन एक्सिस बैंक इसे 1 सितंबर 2021 से लागू कर रहा है। बैंक अपने ग्राहकों को इसकी जानकारी एसएमएस के जरिए दे रहा है।

monika

क्या है सकारात्मक वेतन प्रणाली
सकारात्मक भुगतान प्रणाली एक स्वचालित उपकरण है जो चेक के माध्यम से धोखाधड़ी की जांच करेगा। इसके तहत चेक जारी करने वाले व्यक्ति को चेक की तारीख, लाभार्थी का नाम, भुगतान करने वाले का नाम और भुगतान राशि इलेक्ट्रॉनिक रूप से दोबारा देनी होगी। चेक जारी करने वाला व्यक्ति एसएमएस, मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग या एटीएम जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से यह जानकारी दे सकता है। चेक भुगतान से पहले इन विवरणों को क्रॉस-चेक किया जाएगा। यदि इसमें कोई विसंगति पाई जाती है तो चेक से भुगतान नहीं किया जाएगा और संबंधित बैंक शाखा को सूचित किया जाएगा।

एसबीआई आधार पैन लिंक
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों से 30 सितंबर तक आधार कार्ड को अपने पैन कार्ड से लिंक करने को कहा है। अगर आप एसबीआई के ग्राहक हैं और इस प्रक्रिया को पूरा नहीं करते हैं, तो आपको विभिन्न वित्तीय लेनदेन में मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

1 सितंबर बदलेगें नियम: 1 सितंबर से बदल रहे हैं आधार-पीएफ, एलपीजी, जीएसटी से जुड़े कई नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera

Must Read

1 सितंबर बदलेगें नियम: 1 सितंबर से बदल रहे हैं आधार-पीएफ, एलपीजी, जीएसटी से जुड़े कई नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर