Home Breaking News कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित...

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित होने का खतरा, लेकिन मौत का खतरा कम: ICMR

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित होने का खतरा, लेकिन मौत का खतरा कम: ICMR

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान संस्थान (ICMR) ने एक अध्ययन में खुलासा किया है कि कोरोना का डेल्टा संस्करण टीका लगाने वाले लोगों को भी संक्रमित कर सकता है। हालांकि, इन लोगों में मौत का खतरा कम होता है। चेन्नई में किए गए अध्ययन में पाया गया कि डेल्टा संस्करण या बी.1.617.2 टीकाकरण और गैर-टीकाकरण के बीच समान था।

devanant hospital

अध्ययन को आईसीएमआर-राष्ट्रीय महामारी विज्ञान संस्थान, चेन्नई की संस्थागत आचार समिति द्वारा अनुमोदित किया गया है। संक्रमण के जर्नल में 17 अगस्त को प्रकाशित। आईसीएमआर ने अपनी रिपोर्ट में अन्य अध्ययनों का भी हवाला दिया है, जिसमें कहा गया है कि डेल्टा वेरिएंट से संक्रमण के बाद कोवाशील्ड और कोवासिन लेने वालों में एंटीबॉडी की ताकत कम हो गई है। इसके अनुसार पूर्ण टीकाकरण वाले लोगों में सफलता संक्रमण का यही कारण हो सकता है।

dr vinit new

टीका लगाने वालों में गंभीर रूप से बीमार लोगों की संख्या कम है
इस अध्ययन में राष्ट्रीय महामारी विज्ञान संस्थान के वैज्ञानिक जेरोम थंगराज शामिल थे। उन्होंने कहा कि सैंपल कम लिए गए। साथ ही दोबारा संक्रमण के मामले इसमें शामिल नहीं थे। हालांकि, ऐसे मामले कम संख्या में पाए गए। यह भी स्पष्ट नहीं था कि टीकाकरण के बाद संक्रमित होने वालों ने CoviShield या Covaccine लगाया था, लेकिन गंभीर रूप से बीमार होने और मरने वालों की संख्या टीका लगाने वाले लोगों में कम थी।

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित होने का खतरा, लेकिन मौत का खतरा कम: ICMR

पूरी तरह से टीका लगवाने वालों में मौत का एक भी मामला नहीं
रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन लोगों को पूरी तरह से टीका लगाया गया था, उनमें मौत का एक भी मामला नहीं पाया गया। वहीं, एक डोज लेने वाले तीन और वैक्सीन न पाने वाले 9 लोगों की मौत हो गई। अध्ययन पूरा होने के बाद मई में इसका डेटा तमिलनाडु के स्वास्थ्य विभाग के साथ साझा किया गया था। इसने सुझाव दिया कि संक्रमण को रोकने के लिए तेजी से टीकाकरण जारी रखना होगा।

monika

अध्ययन में चेन्नई के तीन सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र शामिल हैं
देश में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान चेन्नई सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में से एक था। इस साल मई के पहले तीन हफ्तों में यहां हर दिन 6 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए। अध्ययन में शहर के तीन सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों के लोगों को शामिल किया गया था।

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित होने का खतरा, लेकिन मौत का खतरा कम: ICMR
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera

Must Read

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित होने का खतरा, लेकिन मौत का खतरा कम: ICMR