Home Breaking News कंटेनमेंट जोन में अव्वल, कांटेक्ट ट्रेसिग में फिसड्डी मेरठ

कंटेनमेंट जोन में अव्वल, कांटेक्ट ट्रेसिग में फिसड्डी मेरठ

कोरोना संक्रमण से जंग में मेरठ जनपद जहां जमकर कंटेनमेंट जोन बना रहा है वहीं प्रत्येक कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले लोगों की पड़ताल में मंडल में सबसे फिसड्डी चल रहा है। मेरठ में प्रति मरीज उसके संपर्क में आने वाले मात्र 15.95 व्यक्तियों की ही खोज की जा पा रही है। जिससे कमिश्नर नाराज हैं। शासन का मानक प्रति मरीज 25 लोगों का है। जिसे केवल गाजियाबाद जनपद ही पूरा कर रहा है। 18 अप्रैल तक यहां यह संख्या 25.71 है। कंटेनमेंट जोन में अव्वल, कांटेक्ट ट्रेसिग में फिसड्डी मेरठबागपत और हापुड़ ने भी इस दिशा में अच्छा काम किया है। कंटेनमेंट जोन बनाने में मेरठ जनपद ने मंडल के दूसरे जनपदों को खासा पीछे छोड़ दिया है। मंडल में कुल 2674 सक्रिय कंटेनमेंट हैं जिनमें से अकेले मेरठ में 1105 सक्रिय कंटेनमेंट हैं। गाजियाबाद में 494 और बुलंदशहर में यह संख्या मात्र 458 है। टेलीमेडिसिन के लिए स्थापित किए गए कंसलटेशन सेंटरों का हाल भी मेरठ से सबसे खराब है। यहां 142 सेंटर कंसलटेशन सेंटर स्थापित करने का दावा किया जा रहा है लेकिन वहां एक दिन में एक काल के भी लाले पड़े हैं। 142 सेंटरों में मात्र 134 ही काल आईं।

Must Read

कंटेनमेंट जोन में अव्वल, कांटेक्ट ट्रेसिग में फिसड्डी मेरठ