Friday, February 3, 2023
No menu items!

UP : पबजी हत्याकांड में पत्नी को गंवाने वाले सैन्य अफसर का दर्द, रोते हुए पिता ने कहा- मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जिंदगी भर सलाखों के पीछे रहे

Must Read

टारगेट किलिंग के शिकार कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा की गारंटी दें पीएम: राहुल गांधी

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर...

क्रय केंद्र पर ड्यूटी के दौरान चौकीदार की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, खेत में मिला शव

मेरठ। परीक्षितगढ़ के सोना गांव स्थित गन्ना क्रय केंद्र पर ड्यूटी के दौरान एक चौकीदार की संदिग्ध परिस्थितियों...

मुजफ्फरनगर में आगामी 7 फरवरी को जिलाधिकारी कार्यालय पर रालोद करेगा विशाल धरना प्रदर्शन

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में आगामी 7 फरवरी को जिलाधिकारी कार्यालय पर रालोद विशाल धरना प्रदर्शन करेगा। जनपद में रालोद के...
The Sabera Desk
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera
UP : पबजी हत्याकांड में पत्नी को गंवाने वाले सैन्य अफसर का दर्द, रोते हुए पिता ने कहा- मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जिंदगी भर सलाखों के पीछे रहे

हर व्यक्ति चाहता है कि उसके बच्चे हमेशा खुश रहे और सुखी जीवन जिएं। लेकिन, मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जीवन भर सलाखों के पीछे रहे। यह हर बेटे के लिए एक सीख होगी। ताकि कोई उसकी मां की जान न ले सके। फौजी अफसर नवीन इन शब्दों के साथ रो पड़ते हैं। उनकी दुविधा, दुःख और गुस्सा सब उनके चेहरे पर साफतौर पर नजर आ रहे थे। ये वही फौजी अफसर नवीन है, जिसके 16 साल के बेटे ने पबजी गेम खेलते हुए लाइसेंसी पिस्टल से अपनी मां की 6 गोलियां मार कर हत्या करदी थी।Read Also;-UP : पबजी खेलने से रोका तो नाबालिग बेटे ने मां को मारी गोली, तीन दिन तक छिपाए रखा शव; सैन्य अफसर पिता की लाइसेंसी रिवॉल्वर से की वारदात

भाई के इस गुनाह की चश्मदीद है मासूम छोटी बहन
नवीन की मां नीरजा देवी ने पोते के खिलाफ बहू की हत्या का मामला दर्ज कराया है। आरोपी बेटे को बाल सुधार गृह भेज दिया गया है। नवीन का कहना है कि उनकी पोस्टिंग बहार है। इसलिए वह केस की पैरवी और तारीख पर हाजिर नहीं पायेगें। इसलिए अपनी मां से तहरीर दिलवाई है। नवीन का कहना है कि बेटे को उसके गुनाह की पूरी सजा मिलनी चाहिए। इसके लिए हर संभव प्रयास करेंगे। 10 साल की बेटी ने सब कुछ अपनी आंखों से देखा है। वह प्रत्यक्षदर्शी के तौर पर अदालत में पेश होंगी। बेटी को कोई बरगला नहीं सकता और वह इस मानसिक आघात से बाहर आ जाएगी, इसलिए वह उसे अपने पास ही रखेगें।

परिजन दाह संस्कार करने के बाद गए बनारस
नवीन ने बताया कि उनका बेटा बचपन से ही जिद्दी रहा है। घटना से करीब 10 दिन पहले उसने 8,000 रुपये की क्रिकेट किट खरीदने की जिद की थी। उसी मां ने उसको वो किट दिलवा दिया था। जिसकी उसने हत्या कर दी। वह अक्सर अपनी मां से कहा करता था कि पापा घर आते हैं तो मैं जो भी मांगता हूं, वह मुझे मिलता है। फिर आप सब कुछ क्यों नहीं देती। ये पैसे मेरे पिता की कमाई से ही आते हैं।

बुधवार को पोस्टमॉर्टम के बाद साधना का शव उसके परिजनों को सौंप दिया गया। परिवार ने लखनऊ के गुल्ला घाट पर अंतिम संस्कार किया। नवीन ने पत्नी को मुखाग्नि दी उसके बाद परिवार बनारस चला गया।

UP : पबजी हत्याकांड में पत्नी को गंवाने वाले सैन्य अफसर का दर्द, रोते हुए पिता ने कहा- मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जिंदगी भर सलाखों के पीछे रहे

मां को गोली मारने के बाद शव को 3 दिन तक छिपा कर रखा था।
वाराणसी के रहने वाले नवीन कुमार सिंह सेना में जूनियर कमीशंड ऑफिसर हैं। उनकी पोस्टिंग पश्चिम बंगाल में है। लखनऊ के पीजीआई इलाके की यमुनापुरम कॉलोनी में उनका घर है। यहां उनकी पत्नी साधना (40 साल) अपने 16 साल के बेटे और 10 साल की बेटी के साथ रहती थीं।

बेटे ने मंगलवार रात अपने पिता नवीन को वीडियो कॉल कर बताया कि उसने मां की हत्या कर दी है। उसने शव को पिता को भी दिखाया। इस मामले में जो शुरुआती मामला सामने आया है, उसमें गुस्से में बेटे ने अपनी मां को पबजी नहीं खेलने देने पर गोली मारकर हत्या कर दी। तीन दिन तक उसने अपनी मां के शव को घर में ही छिपा कर रखा। दूसरे दिन यानी बीते रविवार को बहन को घर में बंद कर दोस्त के घर चला गया। रात में एक दोस्त को साथ लाया और ऑनलाइन ऑर्डर कर खाना मंगवाया। रात के खाने के बाद लैपटॉप पर मूवी भी देखी।

UP : पबजी हत्याकांड में पत्नी को गंवाने वाले सैन्य अफसर का दर्द, रोते हुए पिता ने कहा- मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जिंदगी भर सलाखों के पीछे रहे

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

- Advertisement -UP : पबजी हत्याकांड में पत्नी को गंवाने वाले सैन्य अफसर का दर्द, रोते हुए पिता ने कहा- मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जिंदगी भर सलाखों के पीछे रहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -UP : पबजी हत्याकांड में पत्नी को गंवाने वाले सैन्य अफसर का दर्द, रोते हुए पिता ने कहा- मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जिंदगी भर सलाखों के पीछे रहे
Latest News

टारगेट किलिंग के शिकार कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा की गारंटी दें पीएम: राहुल गांधी

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर...

क्रय केंद्र पर ड्यूटी के दौरान चौकीदार की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, खेत में मिला शव

मेरठ। परीक्षितगढ़ के सोना गांव स्थित गन्ना क्रय केंद्र पर ड्यूटी के दौरान एक चौकीदार की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. ...

मुजफ्फरनगर में आगामी 7 फरवरी को जिलाधिकारी कार्यालय पर रालोद करेगा विशाल धरना प्रदर्शन

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में आगामी 7 फरवरी को जिलाधिकारी कार्यालय पर रालोद विशाल धरना प्रदर्शन करेगा। जनपद में रालोद के जिम्मेदार नेताओ ने पार्टी कार्यालय...

लक्ष्य से 34% अधिक एनएसवी के साथ जिला पहली बार “ए” श्रेणी में पहुंचा।

गाज़ियाबाद। परिवार नियोजन के मामले में हमारा जिला पहली बार “डी” से “ए” श्रेणी में आया है। परिवार नियोजन के प्रति लोगों...

मुजफ्फरनगर में सीएमओ ने समीक्षा बैठक कर कुष्ठ रोग से निजात दिलाने का लिया निर्देश

मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को रेडक्रास भवन में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया. बैठक को संबोधित करते...
- Advertisement -UP : पबजी हत्याकांड में पत्नी को गंवाने वाले सैन्य अफसर का दर्द, रोते हुए पिता ने कहा- मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जिंदगी भर सलाखों के पीछे रहे

More Articles Like This

- Advertisement -UP : पबजी हत्याकांड में पत्नी को गंवाने वाले सैन्य अफसर का दर्द, रोते हुए पिता ने कहा- मैं चाहता हूं कि मेरा बेटा जिंदगी भर सलाखों के पीछे रहे