उत्तर प्रदेश: नई शिक्षा नीति तहत उच्च शिक्षा में नामांकन दर 50 प्रतिशत तक बढ़ाने का लक्ष्य

0
496
उत्तर प्रदेश: नई शिक्षा नीति तहत उच्च शिक्षा में नामांकन दर 50 प्रतिशत तक बढ़ाने का लक्ष्य

नई शिक्षा नीति के तहत राज्य सरकार ने वर्ष 2035 तक उच्च शिक्षा में नामांकन दर 50 प्रतिशत तक बढ़ाने का लक्ष्य रखा है। वर्ष 2019-20 में उत्तर प्रदेश में उच्च शिक्षा की सकल नामांकन दर (जीईआर) मात्र थी। 25.3 प्रतिशत, देश के 27.1 प्रतिशत की तुलना में। यह जीईआर उच्च शिक्षा संस्थानों में 18 से 23 वर्ष के आयु वर्ग के युवाओं के प्रवेश के आधार पर तैयार किया गया है। राज्य सरकार के प्रयासों से इसमें वर्षवार सुधार भी हो रहा है। वर्ष 2016-17 में उच्च शिक्षा में उत्तर प्रदेश का जीईआर 24.9 प्रतिशत था, जबकि देश का 25.2 प्रतिशत था। अब निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उच्च शिक्षा संस्थानों में अतिरिक्त सीटें बढ़ाने, तकनीकी पाठ्यक्रमों में लैंगिक असमानता को दूर करने और असेवित क्षेत्रों में उच्च शिक्षा संस्थानों की स्थापना पर जोर दिया जा रहा है। वर्तमान में तकनीकी पाठ्यक्रमों में लड़कियों का नामांकन मात्र 28.4% है।Read Also:-उत्तर प्रदेश: मंदिर-मस्जिद सहित सभी धर्मस्‍थलों से योगी सरकार ने तेज आवाज में लाउडस्पीकर उतारने का दिया आदेश

वर्तमान में राज्य के उच्च शिक्षण संस्थानों में 52.28 लाख छात्र अध्ययन कर रहे हैं। नामांकन बढ़ाने के लिए सरकार विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने और कौशल विकास और रोजगारपरक शिक्षा पर विशेष ध्यान देने का कार्यक्रम बना रही है। राज्य के विश्वविद्यालयों का निर्माण तीन संभागों आजमगढ़, सहारनपुर और अलीगढ़ में किया जा रहा है। तीनों विश्वविद्यालयों के कार्यालयों ने काम करना शुरू कर दिया है। निकट भविष्य में ऐसे चार सर्किलों में राज्य विश्वविद्यालय खोलने का प्रस्ताव है, जहां अभी तक कोई राज्य विश्वविद्यालय नहीं है। इसमें देवीपाटन, चित्रकूट धाम, विंध्याचल और मुरादाबाद मंडल शामिल हैं। इसके लिए चारों संभागों के जिलों में भी जमीन की तलाश शुरू हो गई है। प्रदेश के असेवित क्षेत्रों में 75 नये शासकीय महाविद्यालयों की स्थापना का कार्य भी चल रहा है। इनमें से आठ का काम पूरा हो चुका है।

उत्तर प्रदेश में उच्च शिक्षा विभाग के संस्थान

  • राज्य विश्वविद्यालय-20
  • निजी विश्वविद्यालय-30
  • डीम्ड यूनिवर्सिटी-01
  • गवर्नमेंट कॉलेज-172
  • सहायता प्राप्त कॉलेज-331
  • सेल्फ फाइनेंसिंग कॉलेज-7272
  • पढ़ने वाले छात्रों की संख्या – 52.28 लाख

उच्च जीईआर (GER) वाले राज्य

  • सिक्किम – 76 प्रतिशत
  • तमिलनाडु – 51%
  • केरल – 39%
  • तेलंगाना – 36%
  • आंध्र प्रदेश – 35%
  • महाराष्ट्र – 32.6 प्रतिशत
  • कर्नाटक – 32%

सबसे अधिक कॉलेजों वाले राज्य

  • उत्तर प्रदेश-7788
  • महाराष्ट्र-4494
  • कर्नाटक-4047
whatsapp gif

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here