Home Breaking News Video-बहुत दुःखद : रेलवे प्लेटफार्म पर खड़े सिपाही को आया चक्कर, चलती ट्रेन के नीचे आने से हो गई मौत, सीसीटीवी ( CCTV) में कैद हुई ये ह्रदयविदारक दर्दनाक घटना

Video-बहुत दुःखद : रेलवे प्लेटफार्म पर खड़े सिपाही को आया चक्कर, चलती ट्रेन के नीचे आने से हो गई मौत, सीसीटीवी ( CCTV) में कैद हुई ये ह्रदयविदारक दर्दनाक घटना

0
Video-बहुत दुःखद : रेलवे प्लेटफार्म पर खड़े सिपाही को आया चक्कर, चलती ट्रेन के नीचे आने से हो गई मौत, सीसीटीवी ( CCTV) में कैद हुई ये ह्रदयविदारक दर्दनाक घटना

आगरा के राजामंडी रेलवे स्टेशन पर शनिवार रात दर्दनाक हादसा हो गया। प्लेटफॉर्म पर ड्यूटी कर रहे जीआरपी के सिपाही को अचानक चक्कर आने के कारण से मालगाड़ी की चपेट में आ गए। चलती ट्रेन की चपेट में आने से सिपाही की मौके पर ही मौत हो गई। घटना प्लेटफार्म पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

जीआरपी में सिपाही रिंगल कुमार (34) गांव जालपुर, थाना नागल सूती (बिजनौर) का रहने वाला था। शनिवार की रात रिंगल की ड्यूटी स्टेशन पर थी। दिल्ली-आगरा इंटरसिटी ट्रेन रात साढ़े नौ बजे प्लेटफॉर्म पर पहुंची। सुबह 9.31 बजे एक इंटरसिटी ट्रैन के जाने के बाद स्टेशन से एक मालगाड़ी तेज़ स्पीड से गुजर रही थी। ट्रेन से कुछ दूर प्लेटफॉर्म पर रिंगल कुमार खड़े थे। अचानक रिंगेल को चक्कर आया और वह गोल गोल घूमते हुए मालगाड़ी की तरफ जाने लगा। और कुछ ही देर में वो प्लेटफार्म से गुजर रही मालगाड़ी के नीचे आ गए। देखते ही देखते मालगाड़ी के 11 डिब्बे उसके ऊपर से गुजर गए। सिपाही की दर्दनाक मौत की पूरी घटना 10 सेकेंड में सीसीटीवी में कैद हो गई।

जब तक रेल कर्मचारी वहां पहुंचे तब तक उसकी मौत हो चुकी थी
कांस्टेबल रिंगल कुमार के ट्रेन के नीचे गिरने की घटना को गेट पर खड़े टीटीई ने देखा। वह तुरंत वहां पहुंचने के लिए दौड़ा। लेकिन तब तक रिंगल कुमार पूरी तरह से ट्रेन के बीच में फंस गया था। टीटीई ने शोर मचाया तो यात्रियों की भीड़ भी जमा हो गई। ट्रेन गुजरने के बाद रिंगल को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

दो छोटे बच्चे हैं, 8 महीने पहले हुई थी पोस्टिंग
रिंगल कुमार के दो छोटे बच्चे हैं। बड़ी बेटी पांच साल की और छोटी बेटी महज एक माह की है। पत्नी का नाम चारु है। जीआरपी में कांस्टेबल की पोस्टिंग अगस्त, 2021 में हुई थी। वह 2011 में उत्तर प्रदेश पुलिस में शामिल हुआ था। जीआरपी ने उसके परिवार को दुर्घटना की सूचना दी। पोस्टमार्टम के बाद रविवार दोपहर जीआरपी लाइन पर राजकीय सम्मान के साथ उन्हें अंतिम सलामी दी गई। इसके बाद परिजन शव को लेकर बिजनौर के लिए रवाना हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here