क्रिकेटर की आयु व डोमिसाइल में गड़बड़ी पर दो साल का प्रतिबंध, हुआ ऑनलाइन पंजीकरण

0
235

बीसीसीआइ से मान्यता प्राप्त किसी भी टूर्नामेंट में खेलने वाले क्रिकेटर अब आयु व डोमिसाइल में फर्जीवाड़ा नहीं कर सकेंगे। सत्र 2020-21 के लिए बीसीसीआइ ने स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर जारी कर दिया है। उसी तर्ज पर उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन यानी यूपीसीए ने भी कड़े कदम उठाने का निर्णय लिया है।

सत्र 2020-21 के लिए यूपीसीए के अंतर्गत खिलाड़यिों का ऑनलाइन पंजीकरण पूरा हो चुका है। पंजीकृत खिलाड़यिों में से जिस खिलाड़ी ने भी अपनी आयु व डोमिसाइल में गड़बड़ी कर फर्जी कागजात लगाए होंगे उन्हें यूपीसीए की ओर से दो साल के लिए प्रतिबंधित किया जाएगा। ऐसे खिलाड़ी दो साल तक बीसीसीआइ की किसी भी टूर्नामेंट में यूपीसीए की ओर से प्रतिभाग नहीं कर सकेंगे।

इसीलिए शुरू कराया अंडर-14

बीसीसीआइ की ओर से कोई भी अंडर-14 की क्रिकेट प्रतियोगिता नहीं कराई जाती। लेकिन क्रिकेट में आयु को लेकर फर्जीवाड़ा रोकने के लिए ही यूपीसीए ने पिछले कुछ सालों से अंडर-14 आयु वर्ग के खिलाड़यिों का भी पंजीकरण शुरू कराया है। इसमें पंजीकृत खिलाड़यिों के बीच भी उसी तर्ज पर खिलाड़यिों को चयनित किया जाता है जैसे अंडर-16, अंडर-19 या उससे ऊपर के टूर्नामेंट के लिए। तर्क यह है कि इससे छोटी उम्र में ही अच्छे टैलेंट निकलेंगे और साथ ही अंडर-14 से ही खिलाड़यिों का डाटा यूपीसीए के पास होने से उनमें फर्जीवाड़ा करने की गुंजाइश कम रह्रेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here