Saturday, February 4, 2023
No menu items!

यूपी के इन जिलों में आ रहे हैं कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले, नियंत्रण के लिए योगी सरकार ने की प्लानिंग

Must Read

चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में सीबीआई ने मेरठ में मारा छापा, आरोपी युवक से पूछताछ

मेरठ। लिसाडिगेट थाने का रहने वाला निसार टेक्स्ट के रूप में चाइल्ड पोर्नोग्राफी सामग्री का ऑनलाइन प्रसारण कर...

यातायात सड़क सुरक्षा माह के समापन पर निकाली गई रैली, जमकर उड़ाई गई नियमों की धज्जियां

https://www.youtube.com/watch?v=-UJaURvI1mQ गाजियाबाद। गाजियाबाद संभागीय परिवहन विभाग और यातायात पुलिस के द्वारा यातायात सड़क सुरक्षा माह का समापन किया गया। इस...

जिला बार एसोसिएशन का फैसला, किसी भी अधिवक्ता के निधन पर न रुके काम, दोपहर बाद हो शोक सभा, अगले सप्ताह होगा मतदान

मुजफ्फरनगर। जिला बार एसोसिएशन ने न्याय के कार्य से जुड़े किसी भी अधिवक्ता या व्यक्ति के असामयिक निधन...
Avatar
Deepak Singhhttps://www.apnameerut.com
Deepak Singh is a resident of Meerut and working as a content writer for various agencies. He is proficient in Sports news, Bollywood news, and local city news.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 प्रभावित 11 जिलों आगरा, मेरठ, कानपुर नगर, अलीगढ़, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, बुलन्दशहर, झांसी व बस्ती में टीम भेजी जा रही है। यह ऐसे जनपद हैं, जहां कोरोना संक्रमण के ज्यादा केस सामने आ रहे हैं। वहां पर एक प्रशासनिक अधिकारी-एक चिकित्सक की टीम भेजी जा रही है। यह टीम इन जिलों में कोरोना संक्रमण बढ़ने के सभी कारणों का अध्ययन कर मुख्यमंत्री को पांच दिन में रिपोर्ट देगी।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि टीम के सदस्य संबंधित जिलों में संक्रमण और मृत्यु दर की अधिकता के कारकों का आकलन कर 5 दिन के अंदर रिपोर्ट उपलब्ध कराएं, जिससे योजना बनाकर इन जनपदों में विभिन्न गतिविधियों के संचालन के बारे में निर्देश दिया जा सके। उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि जनपदों में भेजी जा रही टीम कोविड-19 के संक्रमण की चेन तोड़ने, इसके प्रसार पर नियंत्रण के लिए गम्भीरता से प्रयास करे। उन्होंने कहा कि पूरी सावधानी बरतकर कोविड-19 के संक्रमण व मृत्यु दर को नियंत्रित किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कोविड अस्पताल में चिकित्सक द्वारा नियमित राउण्ड लिया जाए। पैरामेडिकल स्टाफ निरन्तर उपस्थित रहें। मरीजों को निश्चित समय से नाश्ता, दोपहर का भोजन, रात का भोजन उपलब्ध कराया जाए। साफ-सफाई की व्यवस्था अच्छी रहे। बेड शीट नियमित बदली जाए। शौचालय साफ रहें। उन्होंने कहा कि वार्ड इंचार्ज द्वारा मरीज के अटेन्डेन्ट को उपचार की स्थिति के सम्बन्ध में नियमित जानकारी दी जाए। उन्होंने कहा कि मरीजों के उपचार में जनपद में उपलब्ध सभी चिकित्सा सुविधाओं का उपयोग किया जाए।

- Advertisement -यूपी के इन जिलों में आ रहे हैं कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले, नियंत्रण के लिए योगी सरकार ने की प्लानिंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -यूपी के इन जिलों में आ रहे हैं कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले, नियंत्रण के लिए योगी सरकार ने की प्लानिंग
Latest News

चाइल्ड पोर्नोग्राफी मामले में सीबीआई ने मेरठ में मारा छापा, आरोपी युवक से पूछताछ

मेरठ। लिसाडिगेट थाने का रहने वाला निसार टेक्स्ट के रूप में चाइल्ड पोर्नोग्राफी सामग्री का ऑनलाइन प्रसारण कर...

यातायात सड़क सुरक्षा माह के समापन पर निकाली गई रैली, जमकर उड़ाई गई नियमों की धज्जियां

https://www.youtube.com/watch?v=-UJaURvI1mQ गाजियाबाद। गाजियाबाद संभागीय परिवहन विभाग और यातायात पुलिस के द्वारा यातायात सड़क सुरक्षा माह का समापन किया गया। इस दौरान कवि नगर रामलीला मैदान...

जिला बार एसोसिएशन का फैसला, किसी भी अधिवक्ता के निधन पर न रुके काम, दोपहर बाद हो शोक सभा, अगले सप्ताह होगा मतदान

मुजफ्फरनगर। जिला बार एसोसिएशन ने न्याय के कार्य से जुड़े किसी भी अधिवक्ता या व्यक्ति के असामयिक निधन पर पूरे दिन काम बंद...

पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक बने सपा के राष्ट्रीय महासचिव, सपाइयों में खुशी की लहर

मुजफ्फरनगर। सांसद और किसान नेता हरेंद्र मलिक को समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया है. इस दौरान समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों...
- Advertisement -यूपी के इन जिलों में आ रहे हैं कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले, नियंत्रण के लिए योगी सरकार ने की प्लानिंग

More Articles Like This

- Advertisement -यूपी के इन जिलों में आ रहे हैं कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले, नियंत्रण के लिए योगी सरकार ने की प्लानिंग