Friday, February 3, 2023
No menu items!

रोजगार मेला: पढ़े-लिखों को मजदूरी में लगाया, प्रतिभागियों ने काम करने से किया इंकार

Must Read

टारगेट किलिंग के शिकार कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा की गारंटी दें पीएम: राहुल गांधी

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर...

क्रय केंद्र पर ड्यूटी के दौरान चौकीदार की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, खेत में मिला शव

मेरठ। परीक्षितगढ़ के सोना गांव स्थित गन्ना क्रय केंद्र पर ड्यूटी के दौरान एक चौकीदार की संदिग्ध परिस्थितियों...

मुजफ्फरनगर में आगामी 7 फरवरी को जिलाधिकारी कार्यालय पर रालोद करेगा विशाल धरना प्रदर्शन

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में आगामी 7 फरवरी को जिलाधिकारी कार्यालय पर रालोद विशाल धरना प्रदर्शन करेगा। जनपद में रालोद के...
Avatar
Deepak Singhhttps://www.apnameerut.com
Deepak Singh is a resident of Meerut and working as a content writer for various agencies. He is proficient in Sports news, Bollywood news, and local city news.

मेरठ जिला प्रशासन ने प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए जिले की तीनों तहसीलों में रोजगार मेले का आयोजन किया। जिला प्रशासन का दावा है कि कुल 385 लोगों को रोजगार दिया गया।

हालांकि बुधवार को जिन प्रतिभागियों को सीडीओ ईशा दुहन ने ऑफर लेटर दिया था उन्होंने गुरुवार को मजदूरी का कार्य देखते हुए काम करने से इंकार कर दिया। इनमें से दो प्रतिभागी तो साइंस स्ट्रीम से 12वीं के साथ ही आईआईटी पास हैं।

दो दिन तक चले इस रोजगार मेले में सेवायोजन कार्यालय, जिला उद्योग केंद्र की सहायता से कंपनियों को बुलाया गया। एलआईसी एजेंट, जोमेटो आदि कंपनियों ने साक्षात्कार लिए।

इस मेले में प्रवासी श्रमिकों के अलावा अन्य लोगों ने भी भाग लिया। विभागों की तरफ से मेले में आने वाले प्रवासी श्रमिकों का डाटा भी अलग से उपलब्ध नही कराया गया।

रोजगार मेले में आए सभी लोगों को प्रशासन ने प्रवासी श्रमिक की श्रेणी में डाल दिया। जिले में आए एक हजार से अधिक प्रवासी श्रमिको को मनरेगा और रोजगार मेले से रोजगार मुहैया कराना था।

सेवायोजन कार्यालय के अनुसार राहत आयुक्त के पोर्टल पर प्रवासी श्रमिकों की सूची अपलोड कर दी गई थी, लेकिन इस सूची में काफी संख्या में प्रवासी श्रमिक  छूट गए थे। यह बात रोजगार मेले से एक दिन पहले हुई बैठक में  उठी थी। जिसमे ग्राम विकास अधिकारी ने अपने इलाके के प्रवासी श्रमिकों को सची में न शामिल होने की बात कही थी।

- Advertisement -रोजगार मेला: पढ़े-लिखों को मजदूरी में लगाया, प्रतिभागियों ने काम करने से किया इंकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -रोजगार मेला: पढ़े-लिखों को मजदूरी में लगाया, प्रतिभागियों ने काम करने से किया इंकार
Latest News

टारगेट किलिंग के शिकार कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा की गारंटी दें पीएम: राहुल गांधी

नयी दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर...

क्रय केंद्र पर ड्यूटी के दौरान चौकीदार की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, खेत में मिला शव

मेरठ। परीक्षितगढ़ के सोना गांव स्थित गन्ना क्रय केंद्र पर ड्यूटी के दौरान एक चौकीदार की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. ...

मुजफ्फरनगर में आगामी 7 फरवरी को जिलाधिकारी कार्यालय पर रालोद करेगा विशाल धरना प्रदर्शन

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में आगामी 7 फरवरी को जिलाधिकारी कार्यालय पर रालोद विशाल धरना प्रदर्शन करेगा। जनपद में रालोद के जिम्मेदार नेताओ ने पार्टी कार्यालय...

लक्ष्य से 34% अधिक एनएसवी के साथ जिला पहली बार “ए” श्रेणी में पहुंचा।

गाज़ियाबाद। परिवार नियोजन के मामले में हमारा जिला पहली बार “डी” से “ए” श्रेणी में आया है। परिवार नियोजन के प्रति लोगों...

मुजफ्फरनगर में सीएमओ ने समीक्षा बैठक कर कुष्ठ रोग से निजात दिलाने का लिया निर्देश

मुजफ्फरनगर। राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को रेडक्रास भवन में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया. बैठक को संबोधित करते...
- Advertisement -रोजगार मेला: पढ़े-लिखों को मजदूरी में लगाया, प्रतिभागियों ने काम करने से किया इंकार

More Articles Like This

- Advertisement -रोजगार मेला: पढ़े-लिखों को मजदूरी में लगाया, प्रतिभागियों ने काम करने से किया इंकार