मेरठ मंडल में जहां कोरोना से रिकवरी का रेट बढ़ा है तो वहीं मौत की संख्या अब भी बढ़ती जा रही है। मार्च से अब तक ढाई सौ लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि सरकार के पोर्टल के हिसाब से मौत की संख्या ढाई सौ से अधिक हो चुकी है।

इसी पोर्टल की बात करें तो अब तक मेरठ में अब तक 100 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग के अनुसार मेरठ जिले में अब तक 86 लोगों की मौत हुई है। एक जून से अनलॉक में दो सौ से अधिक लोगों की मौत हुई है, जो आश्चर्यजनक है। हालांकि कोरोना संक्रमित की कुल संख्या के हिसाब से मौत का प्रतिशत 1.85 आ रहा है।

मेरठ मंडल में गत दिवस तक कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 13 हजार 508 हो गई है। उनमें से ढाई सौ लोगों की इलाज के दौरान मौत हो गई। सबसे अधिक संक्रमित गौतमबुद्धनगर में 4532 है तो मौत सबसे अधिक मेरठ में 86 लोगों की हुई है। वहीं गाजियाबाद जिला मंडल में संक्रमण को लेकर दूसरे नंबर पर है। वहां अब तक 4399 संक्रमित केस हो चुके हैं। वहीं 65 लोगों की मौत हो चुकी है।

संक्रमण के मामले में मेरठ अब तक तीसरे नंबर पर है। मेरठ में 1838 केस पॉजिटिव आ चुके हैं। बुलन्दशहर जिला संक्रमण के मामले में अब चौथे स्थान पर है। वहां गत शाम तक 31 लोगों की मौत हो चुकी है। हापुड़ में 18 तो बागपत में 10 लोगों की मौत हुई है। हालांकि मेरठ मेडिकल कालेज के चिकित्सकों और विशेषज्ञों का कहना है कि मौत का कारण गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों का देर से अस्पताल आना है। रिकवरी के लिए कम से कम 48 घंटे का समय चाहिए।


— Sponsor —

Leave a Reply