सीमित आमदनी में घर चलाना मुश्किल होता जा रहा है। इस वजह से लोग आयकर बचत के तमाम विकल्प तलाश करते हैं और निवेश कर अधिक से अधिक आयकर बचाने की कोशिश करते हैं। आम तौर पर यह निवेश भविष्य की सुविधा के अनुसार किया जाता है। कोरोना काल में भी डाक विभाग की बचत योजनाओं पर लोगों का भरोसा बढ़ा है। मार्च से पहले आयकर बचत के लिए लोग डाक विभाग की तरफ रूख कर निवेश कर रहे हैं। कोरोना काल के इस दौर में वित्तीय वर्ष 2020-21 में अप्रैल से फरवरी तक मेरठ डाक विभाग ने 114016 नये खाते खोले हैं। इसमें 86634 अप्रैल से दिसंबर तक नौ माह में खोले गए खातों की संख्या है, जबकि जनवरी के बाद इसकी संख्या तेजी से बढ़ी। एक जनवरी से 15 फरवरी तक 27382 खाते खोल दिए गए हैं।

Leave a Reply