नगर पालिका के रिकार्ड में दर्ज कुओं को दोबारा से अस्तित्व में लाने का काम पालिका की ओर से कराया जा रहा है। फिलहाल दो कुओं के जीर्णोद्धार और सुंदरीकरण के लिए डेढ़-डेढ़ लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं। वहीं पालिका परिसर में स्थित कुएं के जीर्णोद्धार के साथ साढे़ सात लाख रुपये की लागत से औषधीय पार्क बनाए जाने की भी योजना है।नगर और देहात क्षेत्र में एक तरफ जहां तालाब, ग्राम पंचायत और पशु चारागाह की भूमि पर अवैध कब्जों की भरमार हैं। वहीं दूसरी तरफ कुओं का अस्तित्व भी धीरे-धीरे खत्म होता जा रहा है। नगर पालिका के रिकार्ड में दर्जनभर से ज्यादा कुएं दर्ज हैं। वर्तमान में जिन कुओं की भूमि पर कब्जा नहीं हुआ है, पालिका ने उनका अस्तित्व बचाने की कवायद शुरू कर दी है।

Leave a Reply