Thursday, February 9, 2023
No menu items!

किशोर के साथ कुकर्म कर रहा था जज: मां ने दायर किया मुकदमा, कहा- डेढ़ माह से कर रहा था शारीरिक शोषण, जोधपुर हाईकोर्ट ने किया सस्पेंड

Must Read
The Sabera Desk
The Sabera Deskhttps://www.thesabera.com
Verified writer at TheSabera
किशोर के साथ कुकर्म कर रहा था जज: मां ने दायर किया मुकदमा, कहा- डेढ़ माह से कर रहा था शारीरिक शोषण, जोधपुर हाईकोर्ट ने किया सस्पेंड

भरतपुर के मथुरा गेट थाने में रविवार को एक महिला ने अपने नाबालिग बेटे से कुकर्म के मामले में विशेष न्यायाधीश और उसके दो कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। बच्चे की उम्र 14 साल है। उधर, जोधपुर हाईकोर्ट ने देर शाम आरोपी मजिस्ट्रेट जितेंद्र गुलिया को निलंबित कर दिया। इस संबंध में राजस्थान सिविल सेवा 1958 के नियम 13 के तहत तत्काल प्रभाव से आदेश जारी किया गया है।Read Also:-लखनऊ, वाराणसी सहित उत्तर प्रदेश के 46 रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की धमकी, खुफिया विभाग ने अलर्ट जारी किया

मेरठ शहर में शादी, सगाई और अन्य आयोजनों में फैंसी पंडाल, फूलों की स्टेज, गद्दे, बिस्तर, क्रॉकरी व अन्य सामान के लिए संपर्क करें
गुप्ता टेंट हाउस एंड वेडिंग प्लानर : 82184346947397978781

रविवार को बच्चे को उसकी मां के साथ लेकर मथुरा गेट थाने पहुंचे और मजिस्ट्रेट के खिलाफ मामला दर्ज कराया। महिला का कहना है कि मजिस्ट्रेट डेढ़ महीने से बच्चे को डरा धमकाकर उसके साथ कुकर्म कर रहा था. यह पूरा मामला दो दिन पहले सामने आया था। इसके बाद उन्होंने पुलिस के पास जाने का फैसला किया।

टेनिस खिलाड़ी है पीड़ित बच्चा, वहीं बढ़ी पहचान
मथुरा गेट थाना क्षेत्र की रहने वाली एक महिला ने बताया कि उसका 14 साल का बच्चा शहर के कंपनी बाग स्थित डिस्ट्रिक्ट क्लब में टेनिस खेलने जाता है। भरतपुर के कई अधिकारी और भ्रष्टाचार निरोधक अदालत के विशेष न्यायाधीश जितेंद्र गुलिया भी क्लब का दौरा करते थे। वह पहले बच्चे से परिचित हुआ और फिर उसे अपने घर ले जाने लगा।

खाने-पीने की चीजों में नशीला पदार्थ मिलाकर किया कुकर्म
एक दिन मजिस्ट्रेट जितेंद्र गुलिया बच्चे को अपने घर ले गए और उसके कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिला दिया। जब बच्चा बेहोश हो गया, तो उन्होंने उसके साथ कुकर्म किया। इतना ही नहीं मजिस्ट्रेट ने बच्चे के साथ अश्लील वीडियो भी बनाया। जब बच्चे को होश आया तो उन्होंने उसका अश्लील वीडियो दोस्तों को दिखाकर बदनाम करने की धमकी दी। साथ ही कहा कि मैं तुम्हारे बड़े भाई को जेल भेजूंगा और तुम्हारी मां के साथ गलत काम भी करूंगा.

बच्चे की मां को कैसे पता चला?
महिला ने बताया कि उसका बच्चा पिछले डेढ़ महीने से होने चुप चुप सा रहे लगा था। 28 अक्टूबर को मजिस्ट्रेट जितेंद्र गुलिया बच्चे को छोड़ने उनके घर पहुंचे. बच्चे की मां घर की बालकनी में खड़ी थी। घर पहुंचकर मजिस्ट्रेट ने बच्चे को किस किया और घर के बाहर छोड़ दिया। यह सब बच्चे की मां ने देखा, जिस पर मां ने बच्चे से सख्ती से पूछताछ की। तब बच्चे ने अपनी मां से कहा कि ये बहुत खतरनाक लोग हैं। यह भाई को कभी भी जेल भेज सकता है। हम सबको मार सकते हैं। उनके इशारे पर पुलिस कार्रवाई करती है। इतना कहकर बच्चा रोने लगा।

Shudh bharat

बच्चे ने मां को बताया सबकी घिनौनी हरकत
बच्चे की मां ने उससे दोबारा पूछा तो उसने बताया कि मजिस्ट्रेट जितेंद्र गुलिया उसे शराब पिलाता था. जूस में कुछ नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाता था। फिर वे अपने कपड़े उतार देते हैं और मेरे साथ गलत काम करते हैं। यह सब करने से मना करने पर वे धमकी देते हैं। बच्चे ने बताया कि मजिस्ट्रेट के साथ रहने वाले दो लोगों अंशुल सोनी और राहुल कटारा ने भी उसके साथ गलत काम किया है.

बच्चे के घर पहुंचकर दी धमकी
बच्चे की मां ने बताया कि जब उन्होंने बच्चे को खेलने के लिए नहीं भेजा तो 29 तारीख को अंशुल सोनी, राहुल कटारा और एसीबी सीओ परमेश्वर लाल यादव अपने साथ कुछ पुलिसकर्मी लेकर आए। घर पहुंचे अधिकारियों ने महिला को धमकी दी कि बच्चे को जज के पास भेज दो, नहीं तो सभी को जेल में सड़ा देंगे। महिला ने बच्चे को भेजने से मना किया तो सभी ने उसके साथ गाली-गलौज की। इस पर आसपास के लोग जमा हो गए। इस पर सभी लोग महिला के घर से निकल गए। देर रात मजिस्ट्रेट ने महिला को किया तो और उसने उन्हें बताया कि बच्चे ने उसे सब कुछ बता दिया है।

news shorts

माफी मांगने घर आए मजिस्ट्रेट का बनाया वीडियो
मजिस्ट्रेट ने राहुल कटारा को 30 तारीख को बच्चे के घर भेज दिया। राहुल कटारा ने माफी मांगते हुए कहा कि भविष्य में ऐसी गलती नहीं होगी। कुछ देर बाद अंशुल सोनी भी बच्चे के घर पहुंच गया। उन्होंने बच्चे की मां और बच्चे से माफी भी मांगी। इसके बाद दोपहर में मजिस्ट्रेट गुलिया बच्चे के घर पहुंचे। उन्होंने बच्चे से माफी भी मांगी और आगे कुछ भी करने से मना कर दिया। इस दौरान बच्चे के परिजनों ने मजिस्ट्रेट का माफी मांगते हुए एक वीडियो बनाया, जिसे उन्होंने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। महिला ने बताया कि शाम को एसीबी सीओ परमेश्वर लाल यादव उसके घर पहुंचे और माफी मांगने के बहाने उसके परिजनों को रंगदारी के मामले में फंसाने की धमकी दी।

पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज
मथुरा गेट थाना प्रभारी रामनाथ गुर्जर ने बताया कि मथुरा गेट थाना क्षेत्र की एक महिला ने अपने बच्चे के साथ कुकर्म का मामला दर्ज कराया है। महिला का कहना है कि उसके बच्चे के साथ सामूहिक कुकर्म किया गया है। बच्चे की कम उम्र होने के कारण पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है, जिसकी जांच सीओ सिटी सतीश वर्मा कर रहे हैं. महिला ने मजिस्ट्रेट जितेंद्र गुलिया और उसके दो साथियों पर कुकर्म का आरोप लगाया है।

advt.

देश दुनिया के साथ ही अपने शहर की ताजा खबरें अब पाएं अपने WHATSAPP पर, क्लिक करें। Khabreelal के Facebookपेज से जुड़ें, Twitter पर फॉलो करें। इसके साथ ही आप खबरीलाल को Google News पर भी फॉलो कर अपडेट प्राप्त कर सकते है। हमारे Telegram चैनल को ज्वाइन कर भी आप खबरें अपने मोबाइल में प्राप्त कर सकते है।

- Advertisement -किशोर के साथ कुकर्म कर रहा था जज: मां ने दायर किया मुकदमा, कहा- डेढ़ माह से कर रहा था शारीरिक शोषण, जोधपुर हाईकोर्ट ने किया सस्पेंड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -किशोर के साथ कुकर्म कर रहा था जज: मां ने दायर किया मुकदमा, कहा- डेढ़ माह से कर रहा था शारीरिक शोषण, जोधपुर हाईकोर्ट ने किया सस्पेंड
Latest News

हिमाचल में 3 सगे भाई-बहन समेत 4 जिंदा जले

शिमला। हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में दो झोपड़ियों में आग लग गई। इस आग में चार नाबालिगों समेत तीन सगे भाई-बहन जिंदा जल गए।...

लखीमपुर खीरी में बाइक की आमने-सामने टक्कर, तीन की मौत, दो घायल

लखीमपुर खीरी। थाना धौरहरा क्षेत्र के धाखेरवा धौरहरा मार्ग पर दो मोटरसाइकिलों की टक्कर में तीन लोगों की मौत हो गयी. वहीं...
- Advertisement -किशोर के साथ कुकर्म कर रहा था जज: मां ने दायर किया मुकदमा, कहा- डेढ़ माह से कर रहा था शारीरिक शोषण, जोधपुर हाईकोर्ट ने किया सस्पेंड

More Articles Like This

- Advertisement -किशोर के साथ कुकर्म कर रहा था जज: मां ने दायर किया मुकदमा, कहा- डेढ़ माह से कर रहा था शारीरिक शोषण, जोधपुर हाईकोर्ट ने किया सस्पेंड